अधर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

अधर के दो अर्थ होते हैं -
(1) होठ और
(2) बीच में लटकना।

उदाहरण[संपादित करें]

  • विद्रुम से अरुण अधर बोलत मुख मधुर मधुर (तुलसीदास)
  • हरित कूल युग मधुर अधर थे (जयशंकर प्रसाद)
  • स्वर्ग से गिरते हुये त्रिशंकु को ऋषि विश्वामित्र ने अधर में ही रोक लिया। यहां अधर का दूसरा अर्थ प्रयुक्त हुआ है।

मूल[संपादित करें]

अधर संस्कृत मूल का शब्द है।

अन्य अर्थ[संपादित करें]

संबंधित शब्द[संपादित करें]

हिंदी में[संपादित करें]

अन्य भारतीय भाषाओं में निकटतम शब्द[संपादित करें]