अजीत अंजुम

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
अजीत अंजुम
Journalist Ajit Anjum.jpg
स्टूडियो में अजीत अंजुम
जन्म 7 अप्रैल 1969 (1969-04-07) (आयु 51)
बेगूसराय, बिहार, भारत
शिक्षा बिहार विश्वविद्यालय, मुजफ्फरपुर
व्यवसाय न्यूज एंकर, लेखक एवं संपादक
जीवनसाथी गीताश्री, साहित्यकार और रामनाथ गोयनका पुरस्कार से सम्मानित पत्रकार
पुरस्कार रामनाथ गोयनका पुरस्कार, 2010

अजीत अंजुम वरिष्ठ पत्रकार एवं लेखक हैं। अजीत अंजुम न्यूज़ 24 और इंडिया टीवी समाचार चैनलों के प्रबंध संपादक का दायित्व संभाल चुके हैं।[1]पत्रकारिता के क्षेत्र में उनके महत्वपूर्ण योगदान को लेकर उन्हें रामनाथ गोयनका पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है। [2]

जीवन परिचय[संपादित करें]

अजीत अंजुम का जन्म 7 अप्रैल 1969 को बिहार के बेगूसराय जिले में हुआ था। प्रारम्भिक शिक्षा बेगूसराय और दरभंगा में हासिल करने के पश्चात इन्होंने बिहार विश्वविद्यालय से संबद्ध लंगट सिंह महाविद्यालय, मुजफ्फरपुर से ग्रेजुएशन किया। अजीत अंजुम के पिता रामसागर प्रसाद सिंह बिहार न्यायिक सेवा से संबद्ध थे और पटना के जिला एवं सत्र न्यायाधीश के पद से सेवानिवृत्त हुए।[3]अजीत ने पत्रकारिता की शुरुआत मुजफ्फरपुर में अध्ययन के दौरान ही कर दी थी। पाटलिपुत्र टाइम्स के लिए मुफस्सिल संवाददाता के रुप में लेख लिखते हुए इन्होंने अपना नाम 'अजीत कुमार' से बदलकर अजीत अंजुम कर लिया। पटना में फ्रीलांसिग करते हुए अजीत ने मुंबई और दिल्ली से प्रकाशित होने वाले धर्मयुग, साप्ताहिक हिंदुस्तान, दिनमान और रविवार में लिखते हुए अपनी कलम को धार दी। अजीत सन् 1989 में पत्रकारिता में नई जमीन की तलाश में दिल्ली आ गए और लंबे संघर्ष के पश्चात 'अमर उजाला' में डेस्क पर इनको नियुक्ति मिल गई। बाद में 'चौथी दुनिया' में काम करते हुए अजीत के लेख जनसत्ता में भी छपने लगे।[4]

1994 में अजीत अंजुम प्रिंट मीडिया को अलविदा कहकर अनुराधा प्रसाद की कंपनी 'बीएजी फिल्म्स' से जुड़ गए जहां उन्हें राजीव शुक्ला के चर्चित टॉक शो 'रूबरू' के निर्देशन की जिम्मेदारी मिली। उन्होंने अपने करियर का सबसे लंबा वक्त 'बीएजी फिल्म्स' में ही बिताया। इस दौरान उन्होंने दर्जनों शो प्रोड्यूस किए। एक साल के लिए अजीत अंजुम बतौर सीनियर प्रोड्यूसर 'आजतक' में रहे लेकिन फिर 'बीएजी फिल्म्स' वापस लौट आए। साल 2007 में अजीत अंजुम के निर्देशन में ही 'न्यूज़ 24' समाचार चैनल शुरू हुआ।[5]अजीत लंबे समय तक न्यूज 24 के प्रबंध संपादक रहे जिसके बाद उन्होंने 'इंडिया टीवी' को अपनी सेवाएं दी।[6] मुज़फ़्फ़रपुर में स्नातक के दौरान, अजीत अंजुम ने लिखने और पढ़ने में रुचि लेना शुरू किया, उस समय उनका नाम अजीत कुमार था लेकिन यह नाम बहुत ही सामान्य था इसी कारण उन्होंने अपना नाम अजीत कुमार से बदलकर अजीत अंजुम रख लिया।

महत्वपूर्ण उपलब्धियां[संपादित करें]

'बीएजी फिल्म्स' के लिए काम करते हुए अजीत अंजुम ने स्टार न्यूज के लिए 'सनसनी ', 'रेड अलर्ट ' और 'पोल खोल ' जैसे शो प्रोड्यूस किए । वर्ष 2010 में बिहार में आई भयावह बाढ़ पर रिपोर्टिंग के लिए अजीत अंजुम को पत्रकारिता के सबसे प्रतिष्ठित रामनाथ गोयनका पुरस्कार से सम्मानित किया गया। अजीत अंजुम ने बिहार में बाढ़ को लेकर न्यूज़ 24 पर 'राहत लेकर चलो बिहार' के नाम से एक मुहिम चलाई। किसी भी मीडिया संस्थान द्वारा चलाई गई यह पहली इस तरह की मुहिम थी। इस अभियान का ही ये नतीजा था कि बाढ़ राहत के दौरान सैकड़ों ट्रक राहत सामग्री बाढ़ पीड़ितों तक पहुंचाई गई।[7] अजीत अंजुम की उपलब्धियों को देखते हुए 'फेम इंडिया' मैगजीन ने साल 2016 के अपने सर्वे में उन्हें बिहार के 50 सबसे प्रभावशाली लोगों की सूची में जगह दी।[8]

पुरस्कार एवं सम्मान[संपादित करें]

बाहरी कड़ियां[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "न्यूज24 से अजीत अंजुम का इस्तीफा, इंडिया टीवी ज्वाइन करेंगे". bhadas4media.com. Archived from the original on 17 फ़रवरी 2019. Retrieved 16 फरवरी 2016. Check date values in: |accessdate=, |archive-date= (help)
  2. "TV9 Bharatvarsh To Launch in March". Archived from the original on 16 फ़रवरी 2019. Retrieved 16 फरवरी 2019. Check date values in: |accessdate=, |archive-date= (help)
  3. "कई बार जिंदगी को बिना प्लान किये छोड़ देना चाहिए". bolozindagi.com. Archived from the original on 17 फ़रवरी 2019. Retrieved 16 फरवरी 2016. Check date values in: |accessdate=, |archive-date= (help)
  4. "दिल्ली में रिपोर्टिंग का जिम्मा मिला और लगा कि जिंदगी का एक सपना साकार हो गया". mediakhabar.com. Archived from the original on 8 जुलाई 2019. Retrieved 16 फरवरी 2016. Check date values in: |accessdate=, |archive-date= (help)
  5. "कई बार जिंदगी को बिना प्लान किये छोड़ देना चाहिए". bolozindagi.com. Archived from the original on 17 फ़रवरी 2019. Retrieved 16 फरवरी 2016. Check date values in: |accessdate=, |archive-date= (help)
  6. "अजीत अंजुम की मेहनत रंग लायी,इंडिया टीवी ने आजतक को धूल चटायी". mediakhabar.com. Archived from the original on 8 जुलाई 2019. Retrieved 16 फरवरी 2016. Check date values in: |accessdate=, |archive-date= (help)
  7. "Ajit Anjum reporting with social responsibility during Bihar". youtube.com. Retrieved 16 फरवरी 2016. Check date values in: |accessdate= (help)
  8. "Hall ofFame". fameindia.co. Archived from the original on 17 फ़रवरी 2019. Retrieved 16 फरवरी 2019. Check date values in: |accessdate=, |archive-date= (help)
  9. "B.A.G. Films & Media Ltd – Ajit Anjum B.A." investing.businessweek.com. Retrieved 15 जून 2012. Check date values in: |accessdate= (help)
  10. "पत्रकार अजीत अंजुम को मिला दुष्यंत स्मृति सम्मान". Archived from the original on 16 फ़रवरी 2019. Retrieved 16 फरवरी 2019. Check date values in: |accessdate=, |archive-date= (help)