अगस्त्यमुनि, रुद्रप्रयाग

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
अगस्त्यमुनि
Augustmuni
अगस्त्यमुनि is located in उत्तराखंड
अगस्त्यमुनि
अगस्त्यमुनि
उत्तराखण्ड में स्थिति
निर्देशांक: 29°45′58″N 80°20′06″E / 29.766°N 80.335°E / 29.766; 80.335निर्देशांक: 29°45′58″N 80°20′06″E / 29.766°N 80.335°E / 29.766; 80.335
देश भारत
प्रान्तउत्तराखण्ड
ज़िलारुद्रप्रयाग जिला
भाषा
 • प्रचलितहिन्दी, गढ़वाली
समय मण्डलभामस (यूटीसी+5:30)
पिनकोड246421

अगस्त्यमुनि (Augustmuni) भारत के उत्तराखण्ड राज्य के गढ़वाल मण्डल के रुद्रप्रयाग ज़िले में स्थित एक नगर है। यह मन्दाकिनी नदी के किनारे बसा हुआ है। नगर का नाम महर्षि अगस्त्य पर पड़ा है।[1][2][3]

विवरण[संपादित करें]

अगस्त्यमुनि ऋषिकेश-केदारनाथ मार्ग पर स्थित है। रूद्रप्रयाग से अगस्त्यमुनि की दूरी १८ किलोमीटर है। यह समुद्र तल से १००० मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। यह मन्दाकिनी नदी के तट पर स्थित है। यह वहीं स्‍थान है जहां ऋषि अगस्‍त्‍य ने कई वर्षों तक तपस्‍या की थी। महर्षि अगस्त्य के तपोस्थल होने से इसका नाम अगस्त्यमुनि पड़ा। यहाँ महर्षि अगस्त्य का प्राचीन मन्दिर है।

अगस्त्यमुनि में एक बड़ा मैदान है जहाँ वर्तमान में एक स्टेडियम बना है। बैसाखी के अवसर पर यहाँ बहुत ही बड़ा मेला लगता है। यहां दूर-दूर से श्रद्धालु आते हैं और अपने इष्‍ट देवता से प्रार्थना करते हैं। इस स्टेडियम में ही एक हैलीपैड बना है जहाँ पर केदारनाथ जाने वाला पवनहँस नामक हैलीकॉप्टर उतरता है। शहर में तीन बैंक एवं एक सरकारी अस्पताल है।

अगस्त्यमुनि मैदान से प्रसिद्ध हिंदू धार्मिक स्थल केदारनाथ के लिए हेलिकॉप्टर सुविधा उपलब्ध है, इस बीच हम मैदान को खेल मैदान के रूप में भी देख सकते हैं। यह मैदान ऋषि अगस्त्य से जुड़ा हुआ है और शहर और क्षेत्र में सांस्कृतिक गतिविधियों का केंद्र है। एक पहाड़ी स्थान होने के कारण अगस्त्यमुनि में पर्यटकों और तीर्थयात्रियों के लिए कई मनोरंजक भ्रमण स्थल उपलब्ध हैं। कत्यूरी स्थापत्य सहित अगस्त्य ऋषि का मंदिर बनवाया। इस शहर के बाहरी इलाके में "पुराण देवल" और "गंगताल महादेव" जैसे छोटे मंदिर हैं। पुराना देवल मंदिर 2013 के केदारनाथ बाढ़ के दौरान नष्ट हो गया। अगस्त्यमुनि विजयनगर बाजार से जुड़ा हुआ है, विजयनगर भी अगस्त्यमुनि का एक हिस्सा है।

शिक्षण संस्थान[संपादित करें]

अगस्त्यमुनि में शिक्षा और स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध हैं। राज्य सरकार के तहत कई पब्लिक स्कूल चल रहे हैं जैसे गौरी मेमोरियल इंटरमीडिएट कॉलेज, अगस्त्य पब्लिक इंटरमीडिएट कॉलेज, चिल्ड्रन एकेडमी इंटरमीडिएट कॉलेज, रोज माउंट एकेडमी, सरस्वती विद्या मंदिर, सरस्वती शिशु मंदिर, राइजिंग एरा एकेडमी, आदि। केन्द्रीय विद्यालय, अगस्त्यमुनि (केवी) द्वारा संचालित एक केंद्र सरकार है। यहां दशकों से शासकीय इंटर कॉलेज व राजकीय कन्या महाविद्यालय भी चल रहे हैं। इसलिए छात्रों के लिए अच्छी और व्यवहार्य शिक्षा सुविधाएं उपलब्ध हैं। जवाहरनगर क्षेत्र में एक पीजी कॉलेज भी स्थित है जहां जिले भर से छात्र कला, वाणिज्य और विज्ञान में स्नातक और स्नातकोत्तर की पढ़ाई करने आते हैं। एक बीएड फैकल्टी भी मौजूद है।

  • राजकीय इण्टर कॉलेज
  • राजकीय डिग्री कॉलेज
  • राजकीय महिला इण्टर कॉलेज
  • केंद्रीय विद्यालय
  • विद्या मंदिर
  • चिल्ड्रेन अकादमी

मन्दिर एवं धार्मिक स्थान[संपादित करें]

यातायात सुविधा[संपादित करें]

ऋषिकेश से यहाँ के लिये बस सेवा उपलब्ध है। इसके अलावा टैक्सी और जीप भी बुक कराई जा सकती है।

आवासीय सुविधायें[संपादित करें]

यहाँ पर एक फॉरेस्ट रैस्ट हाउस है। इसके अलावा प्राइवेट होटल, लॉज, धर्मशालाएं भी हैं जो सुगमता से मिल जाती हैं।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Start and end points of National Highways". मूल से 22 September 2008 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 23 April 2009.
  2. "Uttarakhand: Land and People," Sharad Singh Negi, MD Publications, 1995
  3. "Development of Uttarakhand: Issues and Perspectives," GS Mehta, APH Publishing, 1999, ISBN 9788176480994