अंतराआण्विक बल

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

यह पदार्थ के कणों (अणु, परमाणु अथवा आयन) के मध्य कार्यरत आकर्षण बल है जो उन्हें समीप रखने में सहायक होता है।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]