अंगमी जपू फिजो

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

अंगमी जपो 1904 से 1990 तक नागालैंड राष्ट्रवाद के नेता थे।उन्होंने नागालैंड की आम जनता से देश और राज्य के प्रति चल रहे सैन्य कार्यवाही को सैन्य विद्रोह का नाम दिया और इसे समाप्त खत्म करने में खासी पहल की था। शुरुआत के चरणों में इन्होंने शांति स्थापित करने के लिए अलग-अलग असामीय, गैरो, ख़ासी, लुशाई, मिकिरस,अबॉर्श,इत्यादि से मिले।

वे पूर्वी पाकिस्तान चले गए थे जो अब बांग्लादेश बन चुका है। वहाँ से दिसंबर 1956 के लगभग लंदन चले गए थे।नागालैंड नॅशनल कॉउन्सिल का वे वहाँ से भी आंदोलन को चलाते रहे। उनका निधन 1990 को लंदन में ही हो गया। उनके 11 बच्चे थे।