हेनरी (इकाई)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

हेनरी (चिन्ह: H) प्रेरकत्व की SI इकाई है. इसे अमरीकी वैज्ञानिक जोसफ हेनरी (1797-1878) के नाम पर रखा है. इन्होंने विद्युतचुम्बकीय प्रेरकत्व की खोज की थी, तभी जब इसी की खोज माइकल फैराडे (1791-1867) ने इंगलैंड में की थी. निर्वात की चुम्बकीय पारगम्यता है 4π×10−7 H/m (हेनरी प्रति मीटर).

परिभाषा[संपादित करें]

यदि किसी परिपथ में, विद्युत धारा के परिवर्तन की दर एक एम्पीयर प्रति सैकिण्ड है और परिणामित इलेक्ट्रोमोटिव बल एक वोल्ट है; तब परिपथ का प्रेरकत्व एक हेनरी होगा.

H = \dfrac{\mbox{m}^2 \cdot \mbox{kg}}{\mbox{s}^{2} \cdot \mbox{A}^2} = \dfrac{\mbox{Wb}}{\mbox{A}} = \dfrac{\mbox{V} \cdot \mbox{s}}{\mbox{A}} = \dfrac{\mbox{J/C} \cdot \mbox{s}}{\mbox{C/s}} = \dfrac{\mbox{J} \cdot \mbox{s}^2}{\mbox{C}^2} = \dfrac{\mbox{m}^2 \cdot \mbox{kg}}{\mbox{C}^2}

units A = amp V = volt C = coulomb J = Joule Wb = weber

SI गुणक[संपादित करें]

SI गुणकः हेनरी (H)
उपगुणक गुणक
मान चिह्न नाम मान चिह्न नाम
10–1 H dH डेसीहेनरी 101 H daH डेकाहेनरी
10–2 H cH सेंटीहेनरी 102 H hH हैक्टोहेनरी
10–3 H mH मिलिहेनरी 103 H kH किलोहेनरी
10–6 H µH माइक्रोहेनरी 106 H MH मैगाहेनरी
10–9 H nH नैनोहेनरी 109 H GH गीगाहेनरी
10–12 H pH पीकोहेनरी 1012 H TH टैराहेनरी
10–15 H fH फैम्टोहेनरी 1015 H PH पेटाहेनरी
10–18 H aH अट्टोहेनरी 1018 H EH एक्जा़हेनरी
10–21 H zH जै़प्टोहेनरी 1021 H ZH जी़टाहेनरी
10–24 H yH योक्टोहेनरी 1024 H YH योट्टाहेनरी


यह SI इकाई जोसफ़ हेनरी के नाम पर बनी है। उन सभी SI इकाइयों की भांति ही, जिनका नाम किसी व्यक्ति-विशेष के नाम से निकला है, इसके चिन्ह का पहला अक्षर बडेक्ष अक्षरों में होगा (H)। जब एक SI इकाई को अंग्रेजी में बताया जाता है, इसे सर्वदा छोटे अक्षरों (हेनरी) में आरम्भ किया जाना चाहिये, सिवाय जहां कोई शब्द बडेक्ष अक्षरों में होना चाहिये, जैसे कि वाक्यारम्भ में या शीर्षक में। डिग्री सेल्सियस "degree Celsius" में इस नियम का पालन होता है, जहाँ "d" छोटे अक्षरों में लिखा है।

देखें[संपादित करें]