हिमालय पर्वतारोहण संस्थान

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
दार्जीलिंग स्थित हिमालय पर्वतारोहण संस्थान

हिमालय पर्वतारोहण संस्थान की स्थापना ४ नवंबर, १९५४ में भारत में पर्वतारोहण को क्रीड़ा के रूप में बढ़ावा देने हेतु की गई थी। यह तेनसिंह नोर्के और एडमंड हिलेरी क्ली १९८३ में माउंट एवरेस्ट पर चढ़ाई के उत्साह का परिणाम था। भारत के प्रथम प्रधानमंत्री श्री जवाहरलाल नेहरू के प्रयास से इसे दार्जीलिंग क्षेत्र में लगभग २१०० मीटर (६९०० फीट) की ऊंचाई पर बनाया गया। तेनज़िंग नोर्के इसके प्रथम अध्यक्ष बने।

इसके वर्तमान अध्यक्ष कर्नल जे एस ढिल्लों हैं।[1]

संदर्भ[संपादित करें]

बाहरी सूत्र[संपादित करें]