हरीसिंह बुरडक

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

हरीसिंह बुरडक (1884-1966) राजस्थान प्रदेश के सीकर जिले में पलथाना गांव के स्वतंत्रता सेनानी थे। आप बुरडक गोत्र जाट परिवार में पैदा हुए। आपने सीकर जिले में किसानों को जागिरदारों के शोषण से मुक्त कराने के लिये आंदोलन किये और कई बार जेल गये। आपने 1934 में खुडी गांव में तथा 1935 में कूदन गांव में किसान आंदोलन में अगुवाई की। किसान आंदोलन में अगुवाई के कारण सीकर के राव राजा ने जिला बदर किया तथा 14 महिने के लिय देवगढ़ की जेल में बंद रखा। आप प्रजा मंडल सीकर तथा जाट-पंचायत सीकर के सक्रीय महत्व पूर्ण नेता थे।