हञ्जा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

साँचा:ज्ञानसन्दूक कोरियाई नाम

हञ्जा, चीनी वर्णों के लिए प्रयुक्त होने वाला कोरियाई शब्द है। यह उन शब्दों के लिए प्रयुक्त होता है जो चीनी वर्णों से लिए गए हैं और जो कोरियाई उच्चारण के साथ बोले जाते है। हञ्जा मल या हञ्जा-इओ वे शब्द हैं जो हञ्जा के साथ लिखे जाते हैं। हन्मुन का अर्थ शास्त्रीय चीनी लेखन से है, लेकिन हञ्जा को कभी-कभार हन्मुन के लिए भी प्रयुक्त किया जाता है। हञ्जा में बहुत परिवर्तन नहीं आया है इसलिए बहुत से चीनी वर्ण वैसे ही हैं जैसे की पारम्परिक चीनी वर्ण। केवल कुछ ही हञ्जा वर्ण कोरिया के लिए अनुपम हैं।

हालांकि दशक १४४० में, ध्वनि पर आधारित कोरियाई वर्णमाला का आविष्कार, राजा सेजोंग महान ने किया था। सर्वप्रथम इसका बहुत उपयोग नहीं हुआ। तथापि, प्रारम्भिक १९वीं और २०वीं सदी के दौरान इसका उपयोग हञ्जा से अद्जिक था, और यह अब कोरिया की आधिकारिक भाषा है।

पर तब तक, लगभग हर कोई हञ्जा लिखना और पढ़ना जानता था, इसलिए अधिकान्श प्राचीन कोरियाई पुस्तकें हञ्जा में लिखी हुई हैं। जो विद्यार्थी कोरियाई इतिहास का अध्यन करते हैं वे ह्ञ्जा भी सीखते हैं ताकि एतिहासिक दस्तावेज़ों को पढ़ा जा सके। कोरिया में आज भी बच्चे हञ्जा सीखते हैं, और बहुत से कोरियाई शब्दों की जड़े हञ्जा में ही हैं।