स्वर्ण जयंती

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

स्वर्ण जयंती का प्रयोग पचासवीं जयंती अथवा पचासवीं वर्षगाँठ के लिये किया जाता है । उदाहरण के लिये यदि भारत देश 15 अगस्त 1947 को स्वतन्त्र हुआ तो 15 अगस्त 1997 को स्वतंत्रता प्राप्ति की स्वर्ण जयंती होगी । ध्यान देने की बात ये भी है कि इसी उदाहरण मे 15 अगस्त 1997 भारत का इक्यावनवां स्वतंत्रता दिवस होगा । चूंकि जयंती घटना के एक साल बाद से प्रारम्भ होती है इसलिये ये घटना की वास्तविक सँख्या से एक कम चलती है । अंग्रेजी भाषा मे इसके लिये गोल्डेन जुबली (en:Golden Jubilee) शब्द का प्रयोग होता है ।

स्वर्ण जयंती वर्ष[संपादित करें]

घटना की उञ्चासवीं वर्षगाँठ के दिन से लेकर स्वर्ण जयंती तक चलने वाले एक वर्ष को स्वर्ण जयंती वर्ष कहा जाता है । अधिकतर समूह या संगठन जो किसी घटना का स्वर्ण जयंती वर्ष मना रहे होते हैं, वो इस पूरे वर्ष कोई न कोई आयोजन अथवा समारोह करते रहते हैं जो कि अंत मे स्वर्ण जयंती के दिन सम्पन्न होते हैं ।

ये भी देखें[संपादित करें]