स्क्रिप्टिंग भाषा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

ऐसी प्रोग्रामन भाषा को स्क्रिप्टिंग भाषा (Scripting language) कहते हैं जिसका प्रयोग करके किसी दूसरे साफ्टवेयर अनुप्रयोग (जैसे फायरफाक्स) पर नियंत्रण किया जा सके और स्क्रिप्ट के सहारे उस अनुप्रयोग से अधिक काम लिया जा सके। जावास्क्रिप्ट, पर्ल, पाइथन, रूबी, पीएचपी आदि कुछ प्रमुख स्क्रिप्टिंग भाषाएं हैं।

उदाहरण के लिये फायरफाक्स एक ब्राउजर है जो सी / सी++ में लिखा हुआ है। इसके उपर जावास्क्रिप्ट में कुछेक पंक्तियों का प्रोग्राम लिखकर बड़े-बड़े काम कराये जाते हैं।

प्रमुख विशेषताएँ[संपादित करें]

स्क्रिप्टिंग भाषाएँ कई मामले में भिन्न हैं। उनकी प्रमुख विशेषताएँ इस प्रकार हैं:

  • ये प्राय: कम्पाइल नहीं की जातीं बल्कि इन्टरप्रीट की जातीं हैं।
  • इनमें ऐसी विशेषताएं या फीचर होते हैं जिससे प्रोग्रामर की उत्पादकता की वृद्धि होती है। मुख्य रूप से इनमें स्वत: स्मृति प्रबन्धन (automatic memory management) की व्यवस्था होती है तथा शक्तिशाली आपरेशन (बड़े-बड़े काम) करने की सुविधा प्रदान की जाती है (न कि लाइब्रेरी पर अश्रित रहा जाता है)।
  • इनमें टाइपिंग के नियम सख्त नहीं होते।
  • प्राय: ये किसी अधिक बड़े साफ्तवेयर अप्लिकेशन के भाग के रूप में प्रयोग के लिये डिजाइन की जातीं हैं।
  • प्राय: ये सीखने में आसान होती हैं और उतनी ही आसानी से प्रयोग की जा सकती हैं।

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]