साहित्य अकादमी पुरस्कार

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

सन् 1954 में अपनी स्थापना के समय से ही साहित्य अकादमी प्रतिवर्ष भारत की अपने द्वारा मान्यता प्रदत्त प्रमुख भाषाओं में से प्रत्येक में प्रकाशित सर्वोत्कृष्ट साहित्यिक कृति को पुरस्कार प्रदान करती है। पहली बार ये पुरस्कार सन् 1955 में दिए गए।

पुरस्कार की स्थापना के समय पुरस्कार राशि 5,000/- रुपए थी, जो सन् 1983 में ब़ढा कर 10,000/- रुपए कर दी गई और सन् 1988 में ब़ढा कर इसे 25,000/- रुपए कर दिया गया। सन् 2001 से यह राशि 40,000/- रुपए की गई थी। सन् 2003 से यह राशि 50,000/- रुपए कर दी गई है।

साहित्य अकादमी पुरस्कार 2010[संपादित करें]

वर्ष 2010 में 20 दिसम्बर को साहित्य अकादमी पुरस्कारों की घोषणा की गई। इस बार तीन कहानिकारों, चार उपन्यासकारों 8 कवियों और सात समालोचकों को यह पुरस्कार प्रदान किया गया।

  • उदय प्रकाश (हिंदी) कहानी (मोहनदास)
  • मनोज (डोगरी) कहानी
  • नांजिल नाडन (तमिल) कहानी
  • अरविन्द उजीर (बोडो) कविता
  • अरूण साखरदांडे (कोंकणी) कविता
  • गोपी नारायण प्रधान (नेपाली) कविता
  • वनीता (पंजाबी) कविता
  • मंगत बादल (राजस्थानी) कविता
  • मिथिला प्रसाद त्रिपाठी (संस्कृत) कविता
  • लक्ष्मण दुबे (सिन्धी) कविता
  • शीन काफ निजाम (उर्दू) कविता
  • बानी बसु (बांग्ला) उपन्यास
  • एस्थर डेविड (अंग्रेजी) उपन्यास
  • धीरेन्द्र मेहता (गुजराती) उपन्यास
  • एम. बोरकन्या (मणिपुरी)
  • केशदा महन्त (असमिया) समालोचना
  • बशर बशीर (कश्मीरी) समालोचना
  • रहमत तरिकरे (कन्नड़) समालोचना
  • अशोक रा. केलकर (मराठी) समालोचना

हिंदी साहित्य[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

२०१४ का साहित्य अकादमी पुरस्कार हिंदी साहित्य का सयुंक्त रूप से रमेश चन्द्र शाह एवं मुन्नौवर राना को दिया गया है

  1. "Poets dominate Sahitya Akademi Awards 2013". Sahitya Akademi. 18 December 2013. Retrieved 18 December 2013.