सलाखें (1975 फ़िल्म)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
सलाखें
चित्र:सलाखें.jpg
सलाखें का पोस्टर
निर्देशक ए सलाम
निर्माता परवेश सी महरा
अभिनेता शशि कपूर,
सुलक्षणा पंडित,
गोगा कपूर,
ए के हंगल,
महमूद,
अमरीश पुरी,
अंजना मुमताज़,
रमेश देव,
पिंचू कपूर,
मैक मोहन,
मूलचंद,
शिवराज,
सुधीर,
संगीतकार रविन्द्र जैन
वितरक शेमारू विडियो प्रा. लि.
प्रदर्शन तिथि(याँ) 1975
देश भारत
भाषा हिन्दी

सलाखें 1975 में बनी हिन्दी भाषा की फिल्म है ।

संक्षेप[संपादित करें]

राजू (शशि कपूर) और गुड्डी (सुलक्षणा पंडित) बचपन के पडोसी है और उनमें गहरी दोस्ती है| डकैती के एक सिलसिले में राजू के पिता को गिरफ्तार करने आये पुलिस के साथ हुई एक लड़ाई में दोनों बिछड़ जाते है| बड़ी होकर गुड्डी एक रंगमंच कलाकार बनती है तो वहाँ राजू एक जुआँरी व चोर बनता है| कई साल बाद, राजू (चंदर कहलाता है) व गुड्डी (सीमा कहलाती है) मिलते है और उनमे प्यार होता है| दोनों बचपन की दोस्ती से अंजान है| सीमा किसी पूजा के सिलसिले में अपने गाँव जाती तो चंदर भी अपने काम से वहीँ जाता है| क्या दोनों बचपन की दोस्ती को पहचान पाते है?

चरित्र[संपादित करें]

मुख्य कलाकार[संपादित करें]

दल[संपादित करें]

संगीत[संपादित करें]

गीत गायक गीतकार समय
"चल चल कहीं अकेले में" सुलक्षणा पंडित देव कोहली 1:44
"चल चल कहीं अकेले में" सुलक्षणा पंडित, हेमलता देव कोहली 6:39
"मज़े उड़ालो जवानी रहे न रहे" आशा भोसले हसरत जयपुरी 5:56
"मेरे देखके लंबे बाल" आशा भोसले हसरत जयपुरी 5:47
"सीमा सीमा सीमा" किशोर कुमार, आशा भोसले रविन्द्र जैन 5:51

रोचक तथ्य[संपादित करें]

परिणाम[संपादित करें]

बौक्स ऑफिस[संपादित करें]

समीक्षाएँ[संपादित करें]

नामांकन और पुरस्कार[संपादित करें]

उल्लेख[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]