समाधिराज सूत्र

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

समाधिराज सूत्र महायान बौद्धों के माध्यमक सम्प्रदाय का अत्यन्त महत्वपूर्ण ग्रन्थ है। इसकी रचना २सरी शताब्दी में हुई थी। इसका पूरा नाम 'सर्वधर्मस्वभाव समताविपंचित समाधिराज सूत्र' है। इसे 'चन्द्रप्रदीप समाधिसूत्र' भी कहते हैं। ४५० ई में इसका चीनी भाषा में अनुवाद हुआ।

इस ग्रंथ के मुख्य पात्र गौतम बुद्ध और चन्द्रप्रभ गृधकूट हैं। इसमें विभिन्न प्रकार की समाधियों का वर्णन है।

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]