समाजवादी पार्टी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
समाजवादी पार्टी
Flag of Samajwadi Party.jpg
दल अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव
महासचिव किरनमोय नन्दा
नेता लोकसभा मुलायम सिंह यादव
नेता राज्यसभा राम गोपाल यादव
गठन ४ अक्टूबर १९९२
मुख्यालय 18 कोपरनिकस लेन, नई दिल्ली
लोकसभा मे सीटों की संख्या
5 / 545
राज्यसभा मे सीटों की संख्या
9 / 245
राज्य विधानसभा में सीटों की संख्या
224 / 403
(उत्तर प्रदेश विधानसभा)
विचारधारा सामाजिक लोकलुभावनवाद
जालस्थल Official Website
भारत की राजनीति
राजनैतिक दल
चुनाव


समाजवादी पार्टी भारत का एक राजनीतिक दल है। यह भारतीय राज्य उत्तर प्रदेश में आधारित है। यह ४ अक्टूबर १९९२ को स्थापित किया गया था। समाजवादी पार्टी के मुलायम सिंह यादव, उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और देश के पूर्व रक्षा मंत्री रह चुके है।

मतदाता रिकॉर्ड[संपादित करें]

समाजवादी पार्टी मुख्य रूप से उत्तर प्रदेश में आधारित है। इसके समर्थन में बड़े पैमाने पर ओबीसी (अन्य पिछड़े जातियों), विशेष रूप से मुलायम सिंह यादव की अपनी यादव जाति और मुसलमानों पर आधारित है। समाजवादी पार्टी ने लोकसभा और देश के अन्य राज्यो के विधानसभा चुनाव लड़ चुका है। हालांकि इसकी सफलता मुख्य रूप से उत्तर प्रदेश में ही है। २००३ में मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी को ७ सीटें प्राप्त हुई। यह राज्य में तीसरी सबसे बड़ी पार्टी थी। १५वीं लोकसभा में, इसकि वर्तमान में २२ सदस्य है, यह लोकसभा में तीसरी सबसे बड़ी पार्टी है। २००५ में कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री बंगारप्पा समाजवादी पार्टी में शामिल होने के लिए भाजपा से इस्तीफा दे दिया। वह सफलतापूर्वक समाजवादी के टिकट पर अपने लोकसभा सीट, शिमोगा, से विजयी हुए। 2007 के उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों में सपा को केवल ९६ सीटें लीमी, जबकि २००२ मे १४६ सीटें जीती थी। नतीजतन, मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव अपने प्रतिद्वंद्वी मायावती, बसपा (जो २०७ सीटों के बहुमत जीता) नेता, मुख्यमंत्री के रूप में में शपथ ग्रहण के साथ ही इस्तीफा देना पडा। २०१२ के उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों में सपा को २२४ सीटै मिली।

राज्य और राष्ट्रीय राजनीति में स्थिति[संपादित करें]

समाजवादी पार्टी संसद मे तिसरी सबसे बड़ी पार्टी के रूप में एक राष्ट्रीय स्तर पर कांग्रेस और भाजपा के बीच एक समान दूरी बनाए रखने की कोशिश करता है। लेकिन बसपा जो मुख्यतः दलित और पिछड़ी जाति के वोट पर केंद्रित है, उत्तर प्रदेश मे एक राजनीतिक शक्ति के रूप में उभरा है। तीसरी सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी होने के लिए समाजवादी पार्टी की कोशिश जारी है।

क्रांति रथ यात्रा और साइकिल रैली[संपादित करें]

मायावती सरकार द्वारा अनधिकृत भूमि अधिग्रहण की रक्षा के लिये समाजवादी पार्टी के राज्य अध्यक्ष श्री अखिलेश यादव ने मार्च मे ३ दिनों तक नोएडा से आगरा के बिच साइकिल यात्रा की। युवा संसद और समाजवादी पार्टी उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष श्री अखिलेश यादव ने २०१२ में आगामी चुनाव के मन में रखते हुए लखनऊ से १२ से सितंबर २०११ के बीच "समाजवादी क्रांति रथ यात्रा"शुरू कर दिया। पहला चरण लखनऊ से कानपुर तथा दूसरे चरण के लिए बुंदेलखंड क्षेत्र में भीड़ खींचने के लिये बुंदेलखंड क्रांति रथ यात्रा का कार्यक्रम है।

राज्य और राष्ट्रीय चुनाव परिणाम[संपादित करें]

आम चुनाव, २००९ में समाजवादी पार्टी २३ सीटों के साथ तीसरी सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी थी। जबकि भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस ने २०६ सीटें और भारतीय जनता पार्टी ११६ सीटें जीती। सपा के पश्चिम बंगाल में एक विधायक, महाराष्ट्र में २ मे २२४ सीटेँ मिलि। समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष श्री अखिलेश यादव विधान मंडल दल के नेता चुने गये तथा उन्हांने 1५ मार्च २०१२ केा उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री पद की शपथ ग्रहण की

बाहरी लिंक[संपादित करें]