सत्याग्रह सदन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
गाँधी हाउस
सत्याग्रह सदन
स्थापित 1 जनवरी 2007 (2007-01-01)
स्थान 15 पाइन रोड, ओर्चार्ड्स, जोहान्सबर्ग
प्रकार जोहान्सबर्ग की ऐतिहासिक विरासत
क्यूरेटर लॉरेन सेगल
वेबसाइट satyagrahahouse.com

सत्याग्रह सदन, या सत्याग्रह हाउस, जिसे आमतौर पर गांधी हाउस के रूप में जाना जाता है, जोहान्सबर्ग में स्थित संग्रहालय और अतिथि गृह है। घर महात्मा गांधी का था: उन का यह 1908 से 1909 के बीच निवास स्थान व कार्यस्थल था।[1] यह जोहान्सबर्ग की ऐतिहासिक विरासत के हिस्से के रूप में पंजीकृत है। सत्याग्रह का अर्थ सच्चाई का आग्रह करना होता है। घर गांधी और खुद के लिए वास्तुकार हर्मन कैलनबाक द्वारा डिज़ाइन किया गया था।

इतिहास[संपादित करें]

गाँधी ने 1893 से 1914 के बीच अपने जीवन के 21 वर्ष दक्षिण अफ़्रीका में व्यतीत किए थे, हालांकि इस अवधि में वे भारत और यूनाइटेड किंगडम का दौरा भी किया करते थे।[2] ऐसा माना जाता है कि गाँधी को नस्लीय भेदभाव के बारे में सबसे पहले वहाँ ज्ञान हुआ, जब उन्हें पिटरमैरिट्ज़बर्ग रेलवे स्टेशन से केवल गोरों के लिए आरक्षित डिब्बे से यात्रा करने के कारण गिरफ्तार कर लिया था।[3]

सन्दर्भ[संपादित करें]