संरक्षण स्थिति

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
संरक्षण स्थिति
विलुप्त होने का जोखिम
विलुप्त

विलुप्त
जंगल से विलुप्त

संकटग्रस्त

गंभीर रूप से विलुप्तप्राय
विलुप्तप्राय
असुरक्षित

कम जोखिम

संरक्षण पर निर्भर
संकटासन्न
खतरे से बाहर

यह भी देखें

प्रकृति संरक्षण हेतु अंतरराष्ट्रीय संघ
IUCN लाल सूची

विलुप्त विलुप्त जंगल से विलुप्त गंभीर रूप से विलुप्तप्राय विलुप्तप्राय प्रजातियां असुरक्षित प्रजातियां संकटासन्न संकटग्रस्त प्रजातियां खतरे से बाहर खतरे से बाहरIUCN संरक्षण स्थितियां

किसी प्रजाति की संरक्षण स्थिति इस संभावना की द्योतक है कि वह प्रजाति वर्तमान में या निकट भविष्य में विलोपन से बची रहेगी। किसी प्रजाति के संरक्षण स्थिति के आकलन के लिए कई कारकों को ध्यान में रखा जाता है: न केवल के उस प्रजाति के शेष सदस्यों की संख्या, अपितु उसकी जनसंख्या में एक खास अवधि के दौरान समग्र वृद्धि या कमी, प्रजनन सफलता की दर, ज्ञात जोखिम आदि।

वैश्विक प्रणाली[संपादित करें]

संकटग्रस्त प्रजातियों की IUCN लाल सूची, एक सबसे बेहतर विश्वव्यापी संरक्षण स्थिति संबंधी सूचीयन और रैंकिंग प्रणाली है। इस प्रणाली में संकटग्रस्त प्रजातियों को तीन श्रेणियों में बांटा गया है: गंभीर रूप से विलुप्तप्राय (CR), विलुप्तप्राय (EN) और असुरक्षित (VU)। इसके साथ ही 1500 ई. से अब तक विलुप्त हो चुके और जंगल में विलुप्त हो चुके जीव भी सूचीबद्ध है। कम जोखिम वाले जीव भी श्रेणियों में विभाजित हैं। विलुप्तप्राय जीवों और वनस्पति के अंतर्राष्ट्रीय व्यापार का अंतर्राष्ट्रीय समझौता इस बात को सुनिश्चित करता है कि जंगली जानवरों और पौधों के नमूनों का व्यापार इन जीवों और वनस्पतियों के अस्तित्व को खतरे में ना डाल दे।

राष्ट्रीय प्रणाली[संपादित करें]