श्रवण तारा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
श्रवण और सूरज के आकारों की तुलना - सूरज पीला वाला गोला है
तेज़ घूर्णन से श्रवण ध्रुवों पर पिचक गया है

श्रवण या ऐल्टेयर, जिसका बायर नाम "अल्फ़ा अक्विला" (α Aquila या α Aql) है, गरुड़ तारामंडल का सब से रोशन तारा है। यह पृथ्वी से दिखने वाले सब से रोशन तारों में से बारहवाँ सब से रोशन तारा है। यह एक A श्रेणी का मुख्य अनुक्रम तारा है। श्रवण बहुत तेज़ी से घूर्णन करता है (यानि अपने अक्ष पर घूमता है) - इसकी मध्य रेखा पर इसके घूर्णन की रफ़्तार 286 किलोमीटर प्रति सैकिंड है, जिस वजह से इसका गोल अकार ध्रुवों पर पिचक गया है।[1] श्रवण पृथ्वी से लगभग 16.8 प्रकाश वर्ष की दूरी पर हैं।

अन्य भाषाओँ में[संपादित करें]

श्रवण को अंग्रेज़ी में "ऐल्टेयर" (Altair) कहते है। यह नाम अरबी भाषा के "النسر الطائر" ("अन-नस्र अन-ताईर") वाक्यांश से लिया गया है जिसका मतलब है "उड़ती हुई चील"।

विवरण[संपादित करें]

श्रवण का व्यास (डायमीटर) सूरज के व्यास का 1.63 - 2.03 गुना है (यानि इसपर थोड़ा मतभेद है) और इसका द्रव्यमान (मास) सौर द्रव्यमान का 1.79 गुना है। इसकी चमक (यानि निरपेक्ष कान्तिमान) सूरज से 10.6 गुना है।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Resolving the Effects of Rotation in Altair with Long-Baseline Interferometry, D. M. Peterson et al., The Astrophysical Journal 636, #2 (January 2006), pp. 1087–1097, doi:10.1086/497981; see Table 2 for stellar parameters.