शानदोंग प्रायद्वीप

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
उत्तर-पूर्वी चीन के नक़्शे में शानदोंग प्रायद्वीप कि स्थिति

शानदोंग प्रायद्वीप (चीनी: 山东半岛, शानदोंग बानदाओ ; अंग्रेज़ी: Shandong Peninsula), जिसे जियाओदोंग प्रायद्वीप (胶东半岛, Jiaodong Peninsula) के नाम से भी जाना जाता है, उत्तर-पूर्वी जनवादी गणतंत्र चीन के शानदोंग प्रान्त का में स्थित एक प्रायद्वीप (पॅनिनसुला) है। यह बोहाई सागर का दक्षिणी तट भी है।

विवरण[संपादित करें]

शानदोंग प्रायद्वीप के मुख्य शहर चिंगदाओ (青岛, Qingdao), यानतई (烟台, Yantai) और वेईहई (威海, Weihai) हैं। यहाँ मैनडेरिन चीनी भाषा की जियाओ-लियाओ नामक उपभाषा बोली जाती है।

सन् १८९८ से १९१४ तक शानदोंग प्रायद्वीप चीन के उन क्षेत्रों में था जो जर्मनी को उपनिवेश (कोलोनी) के रूप में दिए गए थे। प्रथम विश्व युद्ध में जापान ने चिंगदाओ शहर पर क़ब्ज़ा कर लिया, क्योंकि १९०२ में ब्रिटेन के साथ हुए समझौते के अंतर्गत जापान ने अगस्त १९१४ में जर्मनी से युद्ध की घोषणा कर दी थी। जब जर्मनी हार गया और प्रथम विश्व युद्ध ख़त्म हुआ तो चीन में आशा थी की शानदोंग चीन को वापस कर दिया जाएगा लेकिन ३० अप्रैल १९१४ को इसे जापान को दे दिया गया। पता चला कि चीन के प्रधान मंत्री, दुआन चीरुई, ने जापान से मिले एक क़र्ज़े के बदले में ऐसा किया।[1]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. World War I: A Student Encyclopedia, Spencer Tucker, Priscilla Mary Roberts, ABC-CLIO, 2005, ISBN 978-1-85109-879-8