शब्दमणिदर्पण

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

शब्दमणिदर्पण ( कन्नड: ಶಬ್ದಮಣಿದರ್ಪಣ) केसिराज द्वारा सन् १२६० में रचित कन्नड व्याकरण का ग्रंथ है।