वेदी तारामंडल

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
वेदी तारामंडल

वेदी या ऍअरा (अंग्रेज़ी: Ara) खगोलीय गोले के दक्षिणी भाग में वॄश्चिक और दक्षिण त्रिकोण तारामंडल के बीच स्थित एक तारामंडल है जो अंतर्राष्ट्रीय खगोलीय संघ द्वारा जारी की गई ८८ तारामंडलों की सूची में शामिल है। दूसरी शताब्दी ईसवी में टॉलमी ने जिन ४८ तारामंडलों की सूची बनाई थी यह उनमें भी शामिल था। इसके कुछ मुख्य रोशन तारों को कालपनिक लकीरों से जोड़ने पर एक पूजा की वेदी का चित्र बनता है जिसपर इसका नाम पड़ा है।

तारे[संपादित करें]

वेदी तारामंडल में १७ तारे हैं जिन्हें बायर नाम दिए जा चुके हैं। इनमें से ७ के इर्द-गिर्द ग़ैर-सौरीय ग्रह परिक्रमा करते हुए पाए गए हैं। इस तारामंडल के कुछ मुख्य तारे और अन्य वस्तुएँ इस प्रकार हैं:

  • बेटा ऍअरे (β Arae) - जो पृथ्वी से ६०३ प्रकाश-वर्ष दूर स्थित एक K श्रेणी का चमकीला दानव या महादानव तारा है।
  • गामा ऍअरे (γ Arae) - जो एक दोहरा तारा है। इसका अधिक रोशन तारा पृथ्वी से १,१४० प्रकाश-वर्ष दूर स्थित एक B श्रेणी का माहादनव है। इसका साथी (जो आकाश में इसके समीप लगता है लेकिन वास्तव में शायद नहीं है) एक A श्रेणी का मुख्य अनुक्रम (यानि बौना) तारा है।
  • मू ऍअरे (μ Arae) - जो पृथ्वी से केवल ५० प्रकाश-वर्ष दूर G श्रेणी का मुख्य अनुक्रम तारा है (हमारा सूरज भी इसी श्रेणी का है)। यह तारा खगोलशास्त्रियों के लिए बहुत दिलचस्पी रखता है क्योंकि इसके इर्द-गिर्द ४ ग्रह पाए गए हैं. इनमें से तीन तो बृहस्पति की तरह गैस दानव ग्रह लगते हैं, लेकिन चौथे ग्रह की पृथ्वी और मंगल की तरह एक पथरीला ग्रह होने की सम्भावना है।
  • आकाशगंगा (हमारी गैलेक्सी) का एक हिस्सा आकाश में वेदी तारामंडल के क्षेत्र में नज़र आता है और इसमें बहुत से खुले तारागुच्छ और नीहारिकाएँ स्थित हैं। इसमें ऍनजीसी ६३९७ (NGC 6397) नाम का एक गोल तारागुच्छ भी है जो हमसे ६,५०० प्रकाश वर्ष दूर है: यह हमारे सूरज से अब तक का सब से समीपी ज्ञात गोल तारागुच्छ है।[1]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Dunlop, Storm (2005). Atlas of the Night Sky. Collins. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 0-00-717223-0.