विज्ञान संचार

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

विज्ञान संचार (Science communication) का सामान्य अर्थ संचार-माध्यमों के द्वारा गैर-वैज्ञानिक समाज को विज्ञान के विविध पहलुओं एवं विषयों के बारे में सूचना देना है। कभी-कभी यह काम व्यावसायिक वैज्ञानिकों द्वारा भी किया जाता है। (तब इसे 'विज्ञान का लोकीकरण' कहा जाता है।)। विज्ञान संचार अपने-आप में एक पेशेवर क्षेत्र बन चुका है।

हिन्दी एवं भारतीय भाषाओं में विज्ञान सम्बन्धी लेखन का इतिहास[संपादित करें]

हिन्दी तथा अन्य भारतीय भाषाओं में पिछले डेढ़ सौ वर्षों से विज्ञान सम्बन्धी लेखन धीमी गति से किन्तु सतत जारी है।

  • १८७३ -- त्रिकोणमिति की रूपरेखा -- लक्ष्मीशंकर मिश्र
  • १९४२ -- भारतीय विज्ञन परिषद, इलाहाबाद ने विज्ञान परिषद प्रयाग के साथ मिलकर दो भागों में 'अंग्रेजी-हिन्दी वैज्ञानिक कोश' का प्रकाशन किया।
  • १९४९ -- रासायनिक तत्त्व विश्लेषण -- गोरक्ष प्रसाद श्रीवास्तव (हिन्दी प्रकाशन मण्डल, काशी हिन्दू विश्वविद्यालय)
  • १९५४ -- भौतिक रसायन की रूपरेखा -- डॉ रामचरण मेहरोत्रा (हिन्दी साहित्य सम्मेलन, प्रयाग)
  • १९५५ -- प्रकाश विज्ञान -- डॉ निहाल करण सेठी
  • १९६० -- चुम्बकत्व और विद्युत -- डॉ निहाल करण सेठी (हिन्दुस्तानी एकेडमी, इलाहाबाद)
  • १९६८ -- वैज्ञानिक शब्दावली : इतिहास और सिद्धान्त -- ओम प्रकाश शर्मा
  • १९६८ -- हिन्दी विश्वकोश, दसवाँ खण्ड (नागरी प्रचारिणी सभा)

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]