वातावरण

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

वातावरण हमारे चारों ओर की दशाओं को कहते हैं । हमारे चारों ओर की हवा, वस्तुएं और हमारा समाज जिसमें हम रहते हैं वातावरण का अभिन्न अंग हैं । ये हमारे जीवन के ढंग को पारिभाषित करने में अपनी अहम भूमिका निभाता है ।

यह संस्कृत के वात (वायु) तथा आवरण से मिलकर बना है जिसका शाब्दिक अर्थ है वायु का घेरा

समानार्थी शब्द[संपादित करें]