वातावरण

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

वातावरण हमारे चारों ओर की दशाओं को कहते हैं। हमारे चारों ओर की हवा, वस्तुएं और हमारा समाज जिसमें हम रहते हैं वातावरण का अभिन्न अंग हैं। ये हमारे जीवन के ढंग को पारिभाषित करने में अपनी अहम भूमिका निभाता है।

यह संस्कृत के वात (वायु) तथा आवरण से मिलकर बना है जिसका शाब्दिक अर्थ है वायु का घेरा

समानार्थी शब्द[संपादित करें]