वली

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
मुहम्मद अली पाशा, जो उसमानी साम्राज्य के दौरान मिस्र के वली थे

वाली या वली (अरबी: والي) एक उपाधि है जो अरब ख़िलाफ़त और उसमानी साम्राज्य द्वारा किसी प्रशासनिक विभाग के अध्यक्ष के लिए प्रयोग की जाती थी। यह आज भी बहुत सी अरब-भाषी देशों में इस्तेमाल होती है। जिस प्रांत या ज़िले को वाली चलाये उसे 'विलायाह' या 'विलायत' कहा जाता है।[1]

हिन्दी में प्रयोग[संपादित करें]

यह अरबी का शब्द हिन्दी में भी पाया जाता है। जिस व्यक्ति का कोई सगा-सम्बन्धी न हो उसके बारे में कहा जाता है कि उसका 'न वली न वारिस है'। उसी तरह अगर किसी व्यक्ति का किसी मामले से कोई लेना-देना नहीं तो कहा जाता है कि उसका उस मामले से 'कोई वली-वास्ता नहीं' (यानि यह उसकी निगरानी से बाहर है)।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. The last Wali of Swat: an autobiography, Miangul Jahanzeb, Fredrik Barth, Columbia University Press, 1985, ISBN 978-0-231-06162-9, ... Wali means "Ruler", nothing else. In Turkey, Governors were called Vali or Wali, and the province was called Vilayat ...