लोक नृत्य

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

लोकनृत्य (Folk dance) उन नृत्यों को कहते हैं जिनमें प्राय: निम्नलिखित विशेषताएँ पायी जाती हैं-

  • प्राय: ये नृत्य उन्नीसवीं शताब्दी या उसके पहले के हैं जिन्हे पेटेन्ट नहीं कराया गया है।
  • इन नृत्यों का ढ़ंग पारम्परिक होता है न कि किसी एक व्यक्ति द्वारा नवाचार द्वारा सृजित।
  • इसके नृत्यकार आम आदमी होते हैं, न कि समाज के कुलीन वर्ग।
  • इसको नियन्त्रित करने वाली कोई एक संस्था नहीं होती।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]