लघुराष्ट्र

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

लघुराष्ट्र (अंग्रेजी: Micronation) पांचवी से सातवी दुनिया के देशो को कहते है। आमतौर पर यह उन ही छोटे राष्ट्रों को कहा जाता है जिसे कोई भी खास अंतर-राष्ट्रिय मान्यता नहीं मिली है। अत: यह ताइवान जैसी सत्ता और मान्यता प्राप्त निर्वासित सारकार से अलग है।

इतिहास[संपादित करें]

प्रारंभिक इतिहास और विकास[संपादित करें]

सर्वप्रथम लघुराष्ट्र 19 वी सदी के प्रारंभ में दिखने लगे. सबसे पुराने उदाहरानो में से एक है कोकोस द्वीप था, इस पर क्लुनिस-रोस परिवार राज करता था।

रेदोंदा एसा सबसे पुराना एसा देश जो आधुनिक काल तक जीवित रहने में कामयाब हो गया, यह 1865 में करेबियन में स्तापित हुआ था। परन्तु यह अपने आप को एक प्रभुराष्ट्र में तब्दील करने में यह नाकाम रहा.परन्तु यह आज भी जीवित है और इस की एक अपनी अद्वितीय साहित्य, अपना राजा और शिष्टजन है। फ़िलहाल रेदोंदा के सिंघासन के कम से कम चार दावेदार है।

1960 से 1980 तक का इतिहास[संपादित करें]

सीलैंड दुर्ग

इस काल में कई अच्छे जमीनी लहुराष्ट्र स्थापित हुए. इनमे सीलैंड (Sealand) पहला था। यह आज भी जीवित है और सबसे महान लहुराष्ट्र के रूप में जाना जाता है। यह द्वितीय विश्व युद्ध के एक खली पड़े एक अंग्रेजी समुद्री दुर्ग पर बना. सीलैंड को लहुराष्ट्र दुनिया का अम्रीका भी कहा जाता है। अंग्रेजो ने इस किले पर एक शक्तिशाली एंटी एयरक्राफ्ट बन्दुक भी लगाई थी क्यों की इस किले का मुख्य उदेश्य नाज़ी लुफ्वाफा के हमलावर हवाईजहाजो को और नाज़ी मिसाइल वी 2 को बेदना था। जब सीलैंड स्थापित हुआ था यह अंग्रेजी जल सीमा के भाहर था परन्तु बाद में अंग्रेजी सरकार ने अपनी जल सीमा बड़ाई और अब यह अंग्रेजी जल सीमा के अंतर्गत आता है।

रोज़ द्वीप गणराज्य 1968 में एक 400 वर्ग मीटर के प्लेटफोर्म पर बना था। यह इतेलियाई नगर- रिमी तट से 7 मील (11 किमी) की दुरी पर स्तिथ था। इसने अपनी मोहरे छापी और एस्पिरेंतो को अपनी राष्ट्रिय भाषा का दर्जा दिया. परन्तु इटली की सारकार को शक हुआ की यह बिन टैक्स भरे पर्यटन से पैसा कमाने की एक चाल है। टैक्स नहीं दे पाने पर इटेलियन नौसेना ने इसे नेस्तानातूट कर दिया.

मिनर्वा गणराज्य का 35 डोल्लर का सिक्का

सत्तर के दशक में निवडा एक एक करोड़पति ने मिनर्वा मूंगा चट्टान पर एक द्वीप बनाया. उस ने एक 30,000 नागरिको का मिनर्वा गणराज्य, एक नया देश बनाने के कल्पना की थी, परन्तु द्वीप बन्ने के कुछ ही समय बाद टोंगा ने यहाँ अपनी सेना भेज कर द्वीप पर कब्ज़ा कर दिया.

ओस्ट्रेलिया और न्यूज़ीलैंड का योगदान[संपादित करें]

ज्यादातर आधुनिक लहुराष्ट्र ओस्ट्रेलिया-न्यूज़ीलैंड से है। लहुराष्ट्रवाद यह भुत ही ज्याद सामान्य है। यहाँ पर लहुराष्ट्रवाद एक प्रमुख शोक में से है।

इस इलाके के मुख्य लहुराष्ट्र:-

  1. हट रिवर रियासत- 1970
  2. बुम्बंगा प्रान्त- 1976
  3. स्वतंत्र रेनबो क्रीक राज्य -1980s
  4. अतलानटीयम साम्राज्य- 1981
  5. स्नेक हिल रियासत- 2003
  6. ए1
  7. याब्लोको- 2010

इन्टरनेट का प्रभाव[संपादित करें]

इन्टरनेट ने इसे एक नया जीवन दिया. अब अपना खुद का लहू राष्ट्र बनाना और प्रचार-प्रसार करना बहुत सरल हो गया था। अत: कई नये राष्ट्र उभरे (उदा. तलोसा राज्य). परन्तु ऐसे में से ज्यादातर लहुराष्ट्र कम गंभीर और मजाक भर है।

अन्तराष्ट्रीय कानून[संपादित करें]

मोतेविदो सम्मलेन में यह तय हुआ के निम्लिखित मांगे पूरी हो तो वह वास्तविक में राष्ट्र है:

  • स्थायी आबादी
  • परिभाषित क्षेत्र (Defined Territory)
  • सारकार
  • दुसरे देशो के साथ रिश्ते बनाने की शमता

अगर उपरयुक्त मांगे पुरे होती है तो इसे पूरी करने वाली सत्ता राष्ट्र है भले हिस उसे किसी अन्य राष्ट्र ने मान्यता दी हो या नहीं.