रिलायन्स इण्डस्ट्रीज

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
रिलायंस इंडस्ट्रीज़
प्रकार सार्वजनिक
व्यापार करती है BSE: 500325, NSERELIANCE, एलएसई: RIGD
बीएसई सेंसेक्स संघटक
सीएनएक्स निफ्टी संघटक
उद्योग संगुटिका
र्ववर्ती रिलायंस कमर्शियल कॉर्पोरेशन
स्थापना 1966
संस्थापक धीरूभाई अंबानी
मुख्यालय मुंबई, महाराष्ट्र, भारत
क्षेत्र विश्वभर में
प्रमुख व्यक्ति मुकेश अम्बानी
(अध्यक्ष एवं एमडी)
उत्पाद कच्चा तेल, प्राकृतिक गैस, पेट्रोकेमिकल्स, पेट्रोलियम, पॉलिएस्टर, कपड़ा, खुदरा, टेलीकॉम
राजस्व Green Arrow Up Darker.svg US$ 73.10 बिलियन (2013)[1]
प्रचालन आय Green Arrow Up Darker.svg US$ 07.14 बिलियन (2013)[1]
प्रबंधन आधीन परिसंपत्तियां Green Arrow Up Darker.svg US$ 03.86 बिलियन (2013)[1]
कुल संपत्ति Green Arrow Up Darker.svg US$ 58.67 बिलियन (2013)[1]
कुल इक्विटी Green Arrow Up Darker.svg US$ 31.66 बिलियन (2013)[1]
कर्मचारी 23,519 (2013)[1]
वेबसाइट RIL.com

रिलायंस इंडस्ट्रीज़ लिमिटेड {अंग्रेज़ी: Reliance Industries Limited) एक भारतीय संगुटिका नियंत्रक कंपनी है, जिसका मुख्यालय मुंबई, महाराष्ट्र में स्थित है। यह कंपनी पांच प्रमुख क्षेत्रों में कार्यरत है: पेट्रोलियम अन्वेषण और उत्पादन, पेट्रोलियम शोधन और विपणन, पेट्रोकेमिकल्स, खुदरा तथा दूरसंचार[2][3]

आरआईएल बाजार पूंजीकरण के आधार पर भारत की दूसरी सबसे बड़ी सार्वजनिक रूप कारोबार करने वाली कंपनी है एवं राजस्व के मामले में यह इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन के बाद भारत की दूसरी सबसे बड़ी कंपनी है।[4] 2013 के रूप में, यह कंपनी फॉर्च्यून ग्लोबल 500 सूची के अनुसार दुनिया की सबसे बड़ी कंपनियों में 99वें स्थान पर है। [5] आरआईएल भारत के कुल निर्यात में लगभग 14% का योगदान देती है। [6]

इतिहास[संपादित करें]

रिलायंस की स्थापना 1966 में भारतीय उद्योगपति धीरूभाई अंबानी द्वारा की गयी थी. अंबानी एक ऐसे मार्ग दर्शक रहे जिन्होंने भारतीय शेयर बाज़ार को वितीय लिखित जैसी पूर्ण परिवर्तनीय डिबेन्चर से परिचित कराया. अंबानी उन पहले उद्यमियों में से एक थे जिन्होंने खुदरा निवेशकों को शेयर बाज़ार की ओर आकर्षित किया. आलोचकों का आरोप है कि बाज़ार पूंजीकरण के सम्बन्ध में रिलायंस इंडस्ट्रीज़ की उन्नति को सर्वोच्च स्थान पर लाने का श्रेय बड़े पयमाने पर धीरुभाई की चालाकी से काम निकलवाने की क्षमता को जाता है जिससे वह नियंत्रित अर्थव्यवस्था को अपने लाभ के लिए इस्तेमाल करते थे.

यद्यपि कंपनी का मूल व्यवसाय तेल से संबंधित व्यापार है, लेकिन हाल के वर्षों में कंपनी ने विविध व्यापारों में अपने हाथ आज़माएं हैं. संस्थापक के दोनों बेटों मुकेश अंबानीऔर अनिल अंबानी के बीच गहरे मतभेद होने की वजह से 2006 में समूह को दोनों के बीच विभाजित कर दिया गया. सितम्बर 2008 में, रिलायंस इंडस्ट्रीज़ अकेली ऐसी भारतीय कंपनी थी जिसे फोर्ब्स की "दुनिया की 100 सबसे सम्मानित कंपनियों" की सूची में शामिल किया गया था.[7]

स्टॉक[संपादित करें]

कंपनी वेबसाइट के अनुसार "भारत में हर 4 में से 1 निवेशक रिलायंस शेयरधारक है". रिलायंस के पास 3 लाख से अधिक शेयरधारक हैं, जिससे यह दुनिया के सबसे विशाल स्टॉक आयोजको में से एक है. जनवरी 2006 में अपने विभाजन के बाद, रिलायंस इंडस्ट्रीज़ लिमिटेड का विकसित होना जारी है. भारतीय शेयर बाजार में रिलायंस कंपनिया श्रेष्ट पदार्शितो में से हैं.

उत्पाद[संपादित करें]

रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के उत्पाद की श्रेणी पैट्रोलियम उत्पादों से पेट्रोरसायन, कपड़े (ब्रांड नाम विमल के तहत) तक है, रिलायंस रिटेल ने फ्रेश फूड्स मार्केट में रिलायंस फ्रेश के नाम से प्रवेश किया है और डिलाईट रिलायंस रिटेल के नाम से एक नॉन-वेज चैन शुरू की है और संरचना ऊर्जा कुशल बनाने के लिए नोवा केमिकल्ज़ ने आशय पत्र पर हस्ताक्षर किया है.

कंपनी का प्राथमिक व्यापार पेट्रोलियम शोधन और पेट्रो रसायन है. यह 33 मिलियन टन की रिफाइनरी गुजरात के भारतीय राज्य के जामनगर में चल रही है. रिलायंस ने दिसम्बर 2008 में शुरू की अपनी 29 मिलियन की दूसरी रिफाइनरी का काम भी पूरा किया जो इसी साईट पर है. कंपनी तेल और गैस की खोज और उत्पादन के काम में भी शामिल है. 2002 में, इसे भारत के कृष्णा गोदावरी बेसिन के पूर्वी तट पर एक प्रमुख खोज का पता चला. इस खोज से गैस उत्पादन 2 अप्रैल 2009 को शुरू किया गया. 2009-2010 के तिमाही के अंत तक, केजी डी6 (D6) से गैस उत्पादन 60 एमएमएससीएमडी को पार कर गया.

कारोबार[संपादित करें]

प्रमुख सहायक और सहयोगी कंपनियां[संपादित करें]

31 मार्च 2013 के सन्दर्भ में कंपनी की 123 सहायक कंपनियां तथा 10 सहयोगी कंपनियां हैं। [6]

  • रिलायंस रिटेल खुदरा व्यापार क्षेत्र में रिलायंस इंडस्ट्रीज की सहायक कंपनी है। मार्च 2013 में, भारत में रिलायंस की 1466 खुदरा दुकानें थी। [8]यह भारत की सबसे बड़ी खुदरा व्यापार कंपनी है। [9] इसके अंतर्गत रिलायंस फ्रेश, रिलायंस फुटप्रिंट, रिलायंस टाइम आउट, रिलायंस डिजिटल, रिलायंस वेलनेस, रिलायंस ट्रेंड्स, रिलायंस ऑटोज़ोन, रिलायंस सुपर, रिलायंस मार्ट, रिलायंस आईस्टोर, रिलायंस होम किचन, रिलायंस मार्केट (कैश एन कैरी) एवं रिलायंस ज्वेलरी जैसे कई ब्रांड आते हैं। वित्तीय वर्ष 2012-13 के लिए वार्षिक राजस्व भारतीय रुपया  108 बिलियन (US$2.22 बिलियन) था। [6][10]
  • रिलायंस लाइफ स्इन्सेज़ चिकित्सा, संयंत्र एवं औद्योगिक जैवप्रौद्योगिकी के क्षेत्र में काम करती है। इसपर साधारण तथा जैव औषधि, नैदानिक ​​अनुसंधान सेवाओं, पुनर्योजी चिकित्सा, आणविक चिकित्सा, नवल चिकित्सा विज्ञान, जैव ईंधन, पादप जैव प्रौद्योगिकी, और चिकित्सा व्यापार उद्योग के जैव प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में रिलायंस इंडस्ट्रीज के उत्पादों के विनिर्माण, ब्रांडिंग एवं विपणन का जिम्मा है। [11][12]
  • रिलायंस इंस्टिट्यूट ऑफ़ लाइफ स्इन्सेज़, (आर॰आई॰एल॰एस) धीरूभाई अंबानी फाउंडेशन द्वारा स्थापित एक संस्था है जो कि जीव विज्ञान एवं संबंधित तकनीकों के विभिन्न क्षेत्रों में उच्च शिक्षा प्रदान करती है। [13][14][15]
  • रिलायंस लोजिस्टिक्स परिवहन, वितरण, भंडारण, रसद, और आपूर्ति श्रृंखला से संबंधित उत्पादों की बिक्री करने वाली एक एकल खिड़की कंपनी है। [16][17][18]
  • रिलायंस क्लीनिकल रिसर्च सर्विसेज, (आर॰सी॰आर॰एस॰) एक अनुबंध अनुसंधान संगठन और रिलायंस लाइफ साइंसेज के पूर्ण स्वामित्व में आने वाली एक सहायक कंपनी है, जो कि नैदानिक ​​अनुसंधान सेवा उद्योग में विशेषज्ञ है। इसके ग्राहकों में मुख्य रूप से दवा, जैव प्रौद्योगिकी और चिकित्सा उपकरण कम्पनियाँ शामिल हैं। [19]
  • रिलायंस सोलर, सौर ऊर्जा क्षेत्र में रिलायंस की सहायक, मुख्य रूप से दूरदराज एवं ग्रामीण क्षेत्रों के लिए खुदरा सौर ऊर्जा प्रणालियों के उत्पादन के लिए स्थापित की गयी थी। यह सौर लालटेन, गृह प्रकाश व्यवस्था, सड़क प्रकाश व्यवस्था, जल शोधन प्रणाली, प्रशीतन प्रणाली एवं सौर एयर कंडीशनर जैसे उत्पादों का निर्माण करती है।[20]
  • रेलीकोर्ड, रिलायंस लाइफ साइंसेज के स्वामित्व में गर्भनाल रक्त बैंकिंग सेवा प्रदान करती है। इसकी स्थापना वर्ष 2002 में हुई थी। [21]
  • रिलायंस जियो इंफोकॉम (आर॰जे॰आई॰एल) एक ब्रॉडबैंड सेवा प्रदाता है जिसने भारत पूरे में 4जी के परिचालन लिए लाइसेंस हासिल किया है। इसका पूर्व नाम इंफोटेल ब्रॉडबैंड था। [22]
  • रिलायंस इंडस्ट्रीज़ इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड (आर॰आई॰आई॰एल) आरआईएल की एक सहयोगी कंपनी है, जिसका मुख्य उद्देश्य पेट्रोलियम उत्पादों के परिवहन के लिए देश पार पाइपलाइनों का निर्माण एवं संचालन है।[23]

तेल और गैस की खोज[संपादित करें]

2002 में, रिलायंस को विशाखापत्तनम के निकट आंध्र प्रदेश के तट पर कृष्णा गोदावरी बेसिन में प्राकृतिक गैस मिली.[24] यह 2002-2003 वित्तीय वर्ष में दुनिया में प्राकृतिक गैस की सबसे बड़ी खोज थी.[25] 2 अप्रैल 2009 को रिलायंस इंडस्ट्रीज़ (आरआईएल) ने कृष्णा गोदावरी (के जी (KG)) बेसिन में अपने D-6 ब्लॉक से प्राकृतिक गैस का उत्पादन शुरू कर दिया.[26]

गैस रिज़र्व आकार में 7 ट्रिलियन घन फीट है. कच्चे तेल के 1.2 बिलियन (165 मिलियन टन) बैरल के बराबर, मगर केवल 5 ट्रिलियन घन फीट ही निकाला जा सकता है.[27]

8 अक्तूबर 2008 को समझौते का एक ज्ञापन-पत्र, जिस पर लिखा था कि आर आई एल (RIL) अनिल अंबानी को $2.34 प्रति मिलियन ब्रिटिश उष्ण इकाई पर प्राकृतिक गैस उपलब्ध करवाएगा, जारी करने के लिए अनिल अंबानी की रिलायंस नैचुरल रिसोर्सेज़ रिलायंस इंडस्ट्रीज़ को बंबई हाई कोर्ट में ले गई.[28]

पर्यावरण संबंधित रिकॉर्ड[संपादित करें]

रिलायंस इंडस्ट्रीज़ दुनिया की सबसे बड़ी पोलिस्टर निर्माता है और इसी के परिणामस्वरुप यह दुनिया की सबसे बड़ी पोलिस्टर वेस्ट उत्पादको में से एक है. इस बड़ी मात्रा के वेस्ट के उत्पादन से निपटने के उद्दश्य से उन्हें इस वेस्ट को रिस्य्कल करने का रास्ता निकालना पड़ा. वे सबसे बड़ा पोलिस्टर पुनरावर्तन केंद्र चलाते है जिसमे पोलिस्टर वेस्ट भराई और भरी जाने वाली सामग्री के रूप में काम में लाया जाता है. उन्होंने इस प्रक्रिया का प्रयोग एक मज़बूत पुनरावर्तन प्रक्रिया के विकास के लिए किया जिससे उन्हें टीम एक्सीलेंस कम्पीटीशन में पुर्रस्कृत किया गया.[29]

रिलायंस इंडस्ट्रीज़ ने 2006 में नई दिल्ली में पर्यावरण के प्रति जागरूकता पर एक सम्मलेन का समर्थन किया. इस सम्मलेन का आयोजन एशिया पेसिफिक जूरिस्ट असोसिअशन द्वारा किया गया जिसमे पर्यावरण एवं वन मंत्रालय भारत सरकार और महाराष्ट्र प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की भागीदार थे. इस सम्मलेन का उद्देश्य क्षेत्र में पर्यावरण सरंक्षण के लिए नए विचारों और विभिन्न पहलुओं को उत्पन्न करने में मदद करना था. महाराष्ट्र प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने प्रदूषण नियंत्रण मानकों का पालन करने वाली विभिन्न कम्पनियो को सक्रिय भाग लेने और प्रायोजक के रूप में समर्थन करने के लिए आमंत्रण दिया. यह सम्मलेन क्षेत्र के पर्यावरण को बढ़ावा देने के सम्बन्ध में बहुत प्रभावी साबित हुई.[30]

पुरस्कार एवं मान्यता[संपादित करें]

  • 1994 से 1997 तक, कंपनी ने पेट्रोकेमिकल क्षेत्र में राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण पुरस्कार जीता। [31]
  • कंपनी को इंडस्ट्री वीक पत्रिका द्वारा वर्ष 2000 के लिए दुनिया की 100 सबसे कामयाब कंपनियों में से एक के रूप में चयनित किया गया। [31][32]
  • 2009 में, बोस्टन कंसल्टिंग ग्रुप (बीसीजी) ने दशक भर में निवेशकों को सबसे अधिक मुनाफ़े देने वाली 25 शीर्ष कंपनियों की सूची में रिलायंस इंडस्ट्रीज को दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी 'स्थायी मूल्य निर्माता' के रूप में नामित किया। [33]
  • 2011 में आरआईएल को कॉर्पोरेट संपोषणीयता के क्षेत्र में योगदान के लिए राष्ट्रीय गोल्डन पीकॉक अवार्ड से सम्मानित किया गया। [34]
  • मार्च 2012 में आरआईएल को अमेरिकी रसायन विज्ञान परिषद द्वारा ' रेस्पोंसिबल केयर कंपनी ' के रूप में प्रमाणित किया गया। [35]
  • 2012 में आई॰सी॰आई॰एस द्वारा तैयार की गयी शीर्ष 100 रसायन कंपनियों की सूची में आरआईएल को बिक्री के आधार पर, दुनिया भर में 25वें स्थान मिला। [36]
  • 2013 में हार्ट एनर्जी के 27वें विश्व रिफाइनिंग एवं ईंधन सम्मेलन में अंतर्राष्ट्रीय रिफाइनर ऑफ़ द ईयर[1] कम्पनी को जामनगर रिफाइनरी के लिए यह पुरस्कार दूसरी बार प्राप्त हुआ है; इससे पहले वर्ष 2005 में पुरस्कार प्राप्त हुआ था।
  • 2013 में ब्रांड फाइनेंस द्वारा किए गए सर्वेक्षण के अनुसार, रिलायंस भारत का दूसरा सबसे मूल्यवान ब्रांड है। [37]
  • ब्रांड ट्रस्ट रिपोर्ट, 2013 में रिलायंस को भारत की 7वीं सबसे विश्वसनीय ब्रांड का स्थान मिला। [38]

प्रबंधकों के लिए पुरस्कार[संपादित करें]

  • जुलाई 2007 में वॉशिंगटन में मुकेश डी. अंबानी को "ग्लोबल विज़न" 2007 के लिए युनाईटिड स्टेट्स ऑफ़ अमेरिका-इंडिया बिज़नेस काउंसिल (यूएसआईबीसी (USIBC)) लीडरशिप अवार्ड प्राप्त हुआ.
  • मुकेश डी. अंबानी को एशिया सोसाइटी, वाशिंगटन, अमरीका, मई 2004 द्वारा एशिया सोसाइटी लीडरशिप अवार्ड प्रदान किया गया.
  • फॉर्च्यून पत्रिका, अगस्त, 2004 द्वारा प्रकाशित एशिया'ज़ पावर 25 लिस्ट ऑफ़ द मोस्ट पावरफुल पीपल इन बिज़नेस में मुकेश डी. अंबानी को 13वां स्थान दिया गया.
  • मुकेश डी. अंबानी इक्नोमिक्स टाइम्स बिज़नेस लीडर ऑफ़ द इयर हैं.
  • 2010 के प्रारंभ में रीडरज़ डाइजेस्ट पत्रिका के भारतीय संस्करण द्वारा किए गए सर्वेक्षण में मुकेश अंबानी को भारत के 74वें सबसे विश्वसनीय व्यक्ति के रूप में क्रमित किया गया.

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

बाहरी लिंक्स[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Q4 Financial results 2012–13". RIL.com. http://www.ril.com/rportal1/DownloadLibUploads/1366114819012_Q4PR16042013.pdf. 
  2. "Reliance Industries Ltd (RELI.NS)". Reuters. http://www.reuters.com/finance/stocks/companyProfile?symbol=RELI.NS. अभिगमन तिथि: 18 जून 2014. 
  3. "Chairman's Statement at RIL AGM". RIL.com. 6 जून 2013. http://www.ril.com/downloads/pdf/39th_rilagm2013.pdf. अभिगमन तिथि: 18 जून 2014. 
  4. "Global 500". CNN.com. http://money.cnn.com/magazines/fortune/global500/2013/full_list/. अभिगमन तिथि: 18 जून 2014. 
  5. "Fortune Global 500". सीएनएन मनी. http://money.cnn.com/magazines/fortune/global500/2012/snapshots/11090.html. अभिगमन तिथि: 18 जून 2014. 
  6. "Annual Report 2012-13". RIL.com. 8 मई 2013. http://ril.com/rportal1/DownloadLibUploads/1368015904301_AR08052013.pdf. 
  7. द टाइम्ज़ ऑफ़ इंडिया
  8. "Financial Presentation of 2012–13 Q4 Results". RIL.com. 16 अप्रैल 2013. http://www.ril.com/rportal1/DownloadLibUploads/1366124344231_Q4FPR16042013R1.pdf.. अभिगमन तिथि: 18 जून 2014. 
  9. "Ambani tops retailer list, too". बिज़नेस स्टैण्डर्ड. 17 अगस्त 2013. http://www.business-standard.com/article/companies/ambani-becomes-india-s-top-retailer-as-biyani-slips-post-demerger-113081600179_1.html. अभिगमन तिथि: 18 जून 2014. 
  10. "Few RIL retail arms still making losses". Business Standard. 11 मई 2013. http://www.business-standard.com/article/companies/few-ril-retail-arms-still-making-losses-113050900901_1.html. अभिगमन तिथि: 18 जून 2014. 
  11. "About us, Reliance Life Sciences". RelLife.com. http://rellife.com/aboutus.html. अभिगमन तिथि: 18 जून 2014. 
  12. "Changing its DNA". Business Today. 30 सितम्बर 2012. http://businesstoday.intoday.in/story/reliance-life-sciences-future-projects/1/187980.html. अभिगमन तिथि: 18 जून 2014. 
  13. "Welcome to Reliance Institute of Life Sciences". RILS.com. http://www.rils.ac.in/. अभिगमन तिथि: 18 जून 2014. 
  14. "Reliance Institute of Life Sciences". minglebox.com. http://www.minglebox.com/college/Reliance-Institute-of-Life-Sciences-Navi-Mumbai. अभिगमन तिथि: 18 जून 2014. }
  15. "Reliance Institute of Life Sciences, Mumbai". htcampus.com. http://www.htcampus.com/college/reliance-institute-life-sciences/. अभिगमन तिथि: 18 जून 2014. }
  16. "Company Overview of Reliance Logistics Private Limited". BusinessWeek. http://investing.businessweek.com/research/stocks/private/snapshot.asp?privcapId=37472326. अभिगमन तिथि: 18 जून 2014. 
  17. "About us, Reliance Logistics". reliancelogistics.com. http://web.archive.org/web/20101121073034/http://www.reliancelogistics.com/html/aboutus/aboutus.html. अभिगमन तिथि: 18 August 2013. 
  18. "Reliance in deal with CONCOR for logistics venture". 25 सितम्बर 2007. http://www.hindustantimes.com/business-news/CorporateNews/Reliance-in-deal-with-CONCOR-for-logistics-venture/Article1-249539.aspx. अभिगमन तिथि: 18 जून 2014. 
  19. "Clinical Research Services (CRS) group of Reliance Life Sciences". RelLife.com. http://www.rellife.com/rcrs_home.html. अभिगमन तिथि: 18 जून 2014. 
  20. "About us, Reliance Solar". relsolar.com. http://relsolar.com/aboutus.html. अभिगमन तिथि: 18 जून 2014. 
  21. "About us, Relicord". relicord.com. http://www.relicord.com/. अभिगमन तिथि: 18 जून 2014. 
  22. "RIL subsidiary Reliance Jio Infocomm finalises key pacts for roll-out of 4G services". इकनोमिक टाइम्स. 9 मई 2013. http://articles.economictimes.indiatimes.com/2013-05-09/news/39144186_1_internet-connectivity-rjil-value-chain. अभिगमन तिथि: 18 जून 2014. 
  23. "Company History". moneycontrol.com. http://www.moneycontrol.com/company-facts/relianceindustrialinfrastructure/history/RII. अभिगमन तिथि: 18 जून 2014. 
  24. रिलायंस गैस फाइंड पर rediff.com 2002 10 31 लेख
  25. गैस फाइंड पर REL.co.in प्रेस रिलीज़
  26. कृष्णा-गोदावरी गैस फ्लोज़ के चलते भारत के लिए ऊर्जा को बढ़ावा
  27. गैस फाइंड पर रेडिफ 2002 10 31 रेल लेख
  28. कोर्ट केस पर टेलीग्राफ इंडिया 2008 10 07 लेख
  29. रिलायंस इंडस्ट्रीज़ पुरस्कार
  30. ""एन्वायरमेंट-अवेयरनेस-एंफोर्समेंट" नई दिल्ली पर वार्तालाप."
  31. "Company History – Reliance Industries Ltd.". इकनोमिक टाइम्स. http://economictimes.indiatimes.com/reliance-industries-ltd/infocompanyhistory/companyid-13215.cms. अभिगमन तिथि: 26 अगस्त 2013. 
  32. "RIL among world's 100 best-managed cos". Rediff.com. 29 अगस्त 2000. http://www.rediff.com/us/2000/aug/29us.htm. अभिगमन तिथि: 18 जून 2014. 
  33. "RIL named among 25 sustainable value creators globally: BCG". इकनोमिक टाइम्स. 14 अक्टूबर 2009. http://articles.economictimes.indiatimes.com/2009-10-14/news/27645356_1_value-creators-value-creation-gilead-sciences. अभिगमन तिथि: 18 जून 2014. 
  34. "Award for Sustainability(GPAS)". goldenpeacockawards.com. http://www.goldenpeacockawards.com/award-for-sustainability.html. अभिगमन तिथि: 18 जून 2014. 
  35. "Reliance Industries Ltd gets certified as a 'Responsible Care' under American Chemistry Council". Economic Times. 4 मार्च 2012. http://articles.economictimes.indiatimes.com/2012-03-04/news/31121456_1_reliance-industries-petrochemical-business-ril. अभिगमन तिथि: 18 जून 2014. 
  36. "Top 100 Chemical Companies 2012". ICIS.com. 10 सितम्बर 2012. http://www.icis.com/contact/request-free-top-100-chemical-companies-2012/. अभिगमन तिथि: 18 जून 2014. 
  37. "India's top 50 brands". brandirectory.com. http://brandirectory.com/league_tables/table/india-50-2013. अभिगमन तिथि: 18 जून 2014. 
  38. "All India Brand Trust Ranking 2013". trustadvisory.info. http://www.trustadvisory.info/allindia_2013.htm. अभिगमन तिथि: 18 जून 2014. 

साँचा:BSE Sensex