राम चन्द्र काक

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

राम चन्द्र काक (१८९३-१९८३) कश्मीरी राजनयिक और विद्वान थे। १९४५ से १९४७ तक वह कश्मीर के प्रधान मन्त्री रहे। शेख अब्दुल्ला ने इन्हें कश्मीर से देश निकाला निर्वासित कर दिया।

उन्होंने कश्मीर के विभिन्न क्षेत्रों में अनेक पुरातात्विक स्थलों का अन्वेषण एवं उत्खनन किया।

ग्रथ[संपादित करें]