रशीद उद-दीन हमदानी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
ईरान में रशीद उद-दीन हमदानी की मूर्ती

रशीद उद-दीन (फ़ारसी: رشیدالدین طبیب, अंग्रेज़ी: Rashīd al-Dīn Tabīb; जन्म: १२४७; मृत्यु: १३१८), जिन्हें रशीद उद-दीन फ़ज़्ल-उल्लाह​ हमदानी (फ़ारसी: رشیدالدین فضل‌الله همدانی, अंग्रेज़ी: Rashīd al-Dīn Fadhl-allāh Hamadānī) भी कहते हैं, एक मध्यकालीन ईरानी चिकित्सक, गणितज्ञ और लेखक थे। उन्होंने इस्लामी इतिहास पर 'जामी अल-तवारीख़' (यानि 'इतिहासों का जमावड़ा') नामक एक बहुत विस्तृत ग्रन्थ लिखा था। इसे विशेषकर १३वीं और १४वीं शताब्दियों के इल्ख़ानी साम्राज्य के इतिहास का एक आधिकारिक दस्तावेज़ माना जाता है। इसमें मंगोलिया और चीन से लेकर स्तेपी क्षेत्र, मध्य यूरेशिया, अरबी प्रायद्वीप और यूरोप तक का विवरण दिया गया था। वे यहूदी-धर्मी थे लेकिन जीवन में आगे चलकर उन्होंने इस्लाम में धर्म-परिवर्तन कर लिया।[1][2]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. A Persian Odyssey, Rami Yelda, pp. 69, AuthorHouse, ISBN 978-1-4772-0291-3, ... the influential minister and historian, Rashid ad-Din Hamadani, a native son and a Jew who had converted to Islam ...
  2. Encyclopedia of Historians and Historical Writers, Kelly Boyd, pp. 982, Taylor & Francis, 1999, ISBN 978-1-884964-33-6, ... In 1300, on the order of Ghazan Khan, Rashid al-Din began the compilation of his universal history, Jami al-tawarikh (The Collection of Chronicles) ...