युगाण्डा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
युगांडा गणराज्य
Jamhuri ya Uganda
ध्वज कुल चिह्न
राष्ट्रवाक्य: "भगवान और मेरे देश के लिए"
राष्ट्रगान: ओ युगांडा, सुंदरता का देश
राजधानी
और सबसे बडा़ नगर
कंपाला
राजभाषा(एँ) अंग्रेजी,
Vernacular languages Luganda, Luo, Runyankore, Ateso, Lusoga
वासीनाम युगांडा
सरकार लोकतांत्रिक गणराज्य
 -  राष्ट्रपति योवेरी मुसेवेनी
 -  उप राष्ट्रपति गिल्बर्ट बुकेन्या बालीबालेसा
 -  प्रधानमंत्री अपोलो सीबाम्बी
स्वतंत्रता युनाइटेड किंगडम से
 -  गणराज्य 9 अक्टूबर 1962 
क्षेत्रफल
 -  कुल 236,040 वर्ग किलोमीटर (81वां)
91,136 वर्ग मील
 -  जल (%) 15.39
जनसंख्या
 -  2009 प्राक्कलन 32,369,558 (37वां)
 -  2002 जनगणना 24,227,297
सकल घरेलू उत्पाद (पीपीपी) 2008 प्राक्कलन
 -  कुल $36.745 बिलियन
 -  प्रति व्यक्ति $1,146
सकल घरेलू उत्पाद (सांकेतिक) 2008 प्राक्कलन
 -  कुल $14.565 billion[1]
 -  प्रति व्यक्ति $454
गिनी (1998) 43
मध्यम
मानव विकास सूचकांक (2013) Straight Line Steady.svg 0.484[2]
निम्न · 164वाँ
मुद्रा युगांडाई शिलिंग (UGX)
समय मण्डल पूर्वी अफ्रीकी समय (यू॰टी॰सी॰+3)
 -  ग्रीष्मकालीन (दि॰ब॰स॰) आकलन नहीं (यू॰टी॰सी॰+3)
यातायात चालन दिशा left
दूरभाष कूट +2561
इंटरनेट टीएलडी .ug

1 006 केन्या और तंजानिया.से

युगांडा गणराज्य पूर्वी अफ्रीका में स्थित एक लैंडलाक देश है। इसकी सीमा पूर्व में केन्या, उत्तर में सूडान, पश्चिम में कांगो लोकतान्त्रिक गणराज्य, दक्षिण पश्चिम में रवांडा और दक्षिण में तंजानिया से मिलती है। देश के दक्षिणी हिस्से में विक्टोरिया झील का एक बड़ा भाग शामिल है, जिससे केन्या और तंजानिया से सीमा निर्धारित होती है। युगांडा नाम बुगांडा राजशाही से लिया गया है, जिसमें देश का दक्षिणी ह्स्सिा, राजधानी कंपाला को शामिल कर, आता था। देश की एक तिहाई जनसंख्या अंतरराष्ट्रीय गरीबी रेखा (2 डालर प्रतिदिन) से नीचे जीवनयापन करती है।

परिचय[संपादित करें]

यूगांडा पूर्वी मध्य-अफ्रीका का एक विषुवत्‌रेखीय देश है, जो पूर्णत: अंतर्वर्ती (लैंडलॉक्ड) है। इसके उत्तर में सूडान, पशिचम में काँगो (लिओपोल्डविल) पूर्व में केन्या, दक्षिण-पश्चिम में रूआंडा, एवं दक्षिण में टैंगैन्यीका देश तथा विक्टोरिया झील स्थित है। इसका कुल क्षेत्रफल ९३,९८१ वर्ग मील है, जिसका १३,६८९ वर्ग मील भाग जलग्रस्त एवं दलदली है।

प्राकृतिक स्वरूप[संपादित करें]

देश का अधिकांश भूभाग पठारी है, जो समुद्रतल से लगभग ४,००० फुट ऊँचा है। पश्चिमी सीमा पर रूबंजोरी पर्वत स्थित है, जिसका उच्चतम शिखर समुद्रतल से १६,७९१ फुट ऊँचा है, जककि पूर्वी सीमा पर स्थित ऐलगन पर्वत की अधिकतम ऊँचाई १४,१७८ फुट है। देश के मध्य में क्योगा एवं दक्षिण में विक्टोरिया झीलें स्थित हैं।

जलवायु[संपादित करें]

समुद्रतल से अधिक उँचाई पर स्थित इस देश का ताप अन्य विषुवत्रेखीय प्रदेशों की तुलना में न्यून है। औसत वार्षिक ताप उत्तर में १५° सें० एवं दक्षिण में २२° सें० है। वार्षिक तापांतर साधारण हैं। औसत वार्षिक वर्षा की मात्रा उत्तर में ३५ इंच एवं दक्षिण में ५९ इंच तक है।

प्राकृतिक वनस्पति एवं जीवजंतु[संपादित करें]

पश्चिम के उच्च प्रदेश में लंबी घास तथा वनों की प्रचुरता है। उत्तर के शुष्कतर क्षेत्र में छोटी घास ही अधिक मिलती है। देश के दक्षिणी भाग में प्राकृतिक वनस्पति साफ करके भूमि को कृषियोग्य बना लिया गया है, हिसमें केले की उपज मुख्य है। कहीं कहीं हाथी घास उगती है, जिसकी ऊँचाई १० फुट तक हो जाती है।

पशुओं में हाथी, दरियाई घोड़ा, भैंसा, बंदर इत्यादि अधिक हैं। कुछ भागों में शेर, जिराफ तथा गैंड़े भी मिलते हैं।

कृषि[संपादित करें]

कृषि में कपास, कहवा, गन्ना तंबाकू तथा चाय की उपज महत्वपूर्ण है। अन्य फसलों में केला, मक्का और बाजरा उल्लेखनीय हैं।

उद्योग[संपादित करें]

खनिज ताँबा उत्खनन तथा कपास एवं कहवा संबंधी उद्योग प्रमुख हैं। अन्य उद्योग धंधों के अंतर्गत वस्त्रनिर्माण, सीमेंट, मदिरा, चीनी, लकड़ी चीरने तथा साबुन निर्माण का काम होता है।

  1. सन्दर्भ त्रुटि: <ref> का गलत प्रयोग; imf2 नाम के संदर्भ में जानकारी नहीं है।
  2. "2014 Human Development Report Summary". United Nations Development Programme. 2014. pp. 21-25. http://hdr.undp.org/sites/default/files/hdr14-summary-en.pdf. अभिगमन तिथि: 27 जुलाई 2014.