मृदुला सिन्हा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

मृदुला सिन्हा (अंग्रेजी: Mridula Sinha, जन्म: 27 नवम्बर 1942[1] , ग्राम छपरा[2], जिला मुजफ्फरपुर बिहार) वर्तमान मेँ गोवा के राज्यपाल पद पर है जो एक सुविख्यात हिन्दी लेखिका के साथ-साथ भारतीय जनता पार्टी की केन्द्रीय कार्यसमिति की सदस्य भी हैं। आजकल वे पाँचवा स्तम्भ के नाम से एक सामाजिक पत्रिका निकालती हैं।

श्रीमती सिन्हा अटल बिहारी वाजपेयी के प्रधानमन्त्रित्व-काल में केन्द्रीय समाज कल्याण बोर्ड की अध्यक्ष.[3] भी रह चुकी हैं। उनकी पुस्तक एक थी रानी ऐसी भी की पृष्ठभूमि पर आधारित राजमाता विजया राजे सिन्धिया को लेकर एक फिल्म[4]भी बनी थी।

संक्षिप्त जीवनी[संपादित करें]

मृदुला सिन्हा का जन्म श्रीमती अनुपा देवी व बाबू छबीले सिंह के यहाँ 27 नवम्बर 1942 को हिन्दू पंचांग के अनुसार राम-विवाह के शुभ दिन बिहार राज्य में मुजफ्फरपुर जिले के छपरा गाँव में हुआ था। मनोविज्ञान में एम०ए० करने के बाद उन्होंने बी०एड० किया और मुजफ्फरपुर के एक कालेज में लेक्चरार हो गयीं। कुछ समय तक मोतीहारी के एक विद्यालय में प्रिंसिपल भी रहीं किन्तु अचानक उनका मन वहाँ भी न लगा और नौकरी को सदा के लिये अलविदा कहके उन्होंने हिन्दी साहित्य की सेवा के लिये स्वयं को समर्पित कर दिया। उनके पति डॉ॰ रामकृपाल सिन्हा, जो विवाह के वक्त किसी कालेज में अंग्रेजी के प्रवक्ता हुआ करते थे, जब बिहार सरकार में मन्त्री हो गये तो मृदुला जी ने भी साहित्य के साथ-साथ राजनीति की सेवा भी शुरू कर दी। आज तक यह सिलसिला लगातार जारी है।

मृदुला जी आजकल अपने पति व बच्चों के साथ नई दिल्ली[5] में रहती हैं और राजनीति के साथ-साथ पाँचवा स्तम्भ के नाम से एक साहित्यिक व सामाजिक पत्रिका का सम्पादन भी करती हैं। उनकी कहानियों, उपन्यासों और लेखों के विषय अधिकतर सामाजिक, मनोवैज्ञानिक, स्त्रियाँ, बच्चे और ग्रामीण-जन ही होते हैं।

प्रकाशित कृतियाँ[संपादित करें]

  • राजपथ से लोकपथ पर (जीवनी)
  • नई देवयानी (उपन्यास)
  • ज्यों मेंहदी को रंग (उपन्यास)
  • घरवास (उपन्यास)
  • यायावरी आँखों से (लेखों का संग्रह)
  • देखन में छोटे लगें (कहानी संग्रह)
  • सीता पुनि बोलीं (उपन्यास)
  • बिहार की लोककथायें -एक (कहानी संग्रह)
  • बिहार की लोककथायें -दो (कहानी संग्रह)
  • ढाई बीघा जमीन (कहानी संग्रह)
  • मात्र देह नहीं है औरत (स्त्री-विमर्श)
  • विकास का विश्‍वास (लेखों का संग्रह)
  • साक्षात्‍कार(कहानी संग्रह)


अंग्रेजी में अनूदित कृतियाँ[संपादित करें]

  • Flames of Desire[6]

पुरस्कार व सम्मान[संपादित करें]

मृदुला जी को उत्तर प्रदेश हिन्दी संस्थान से साहित्य भूषण सम्मान व दीनदयाल उपाध्याय पुरस्कार के अतिरिक्त अन्य भी[7] कई सम्मान-पुरस्कार प्राप्त हो चुके हैं।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. हिन्दी साहित्यकार सन्दर्भ कोश पृष्ठ ३०१
  2. सूर्या (स्मारिका -६) पृष्ठ १८
  3. "Governing Body, Social action through integrated work". SATHI. 2008-11-19. http://sathi-network.org/msinha.html. अभिगमन तिथि: 2008-11-19. 
  4. "Under production films". Bollywood Hungama. 2008-11-19. http://www.bollywoodhungama.com/trade/production_news/20081018.html. अभिगमन तिथि: 2008-11-19. 
  5. http://www.dharmyatra.org/nyasimandal.html
  6. प्रकाशक: M.D. Publications Pvt. Ltd. New Delhi 1997
  7. सूर्या (स्मारिका -६) सम्पादक: डॉ॰ रामशरण गौड़ पृष्ठ १८

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]