मूलभूत प्रमेय

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

गणित के किसी क्षेत्र में उस प्रमेय को मूलभूत प्रमेय कहा जाता है जिस पर उस क्षेत्र की अधिकांश चीजें आाधारित होतीं हैं। यह जरूरी नहीं है कि जिसे मूलभूत प्रमेय कहा जाता है वह बहुत ज्यादा प्रयोग में आता हो या उसको सिद्ध करना अधिक/कम कठिन हो। उदाहरण के लिये कैलकुलस का मूलभूत प्रमेय अवकलन एवं समाकलन में सम्बन्ध बताता है जबकि दोनो अलग-अलग शाखाएं हैं और दोनो का परस्पर सम्बन्ध स्वत:स्पष्ट नहीं है।

मूलभूत प्रमेयिकाएँ (Fundamental lemmas)[संपादित करें]

गणितीय विषयों के मूलभूत प्रमेय[संपादित करें]

गणितेतर मूलभूत प्रमेय (Non-mathematical fundamental theorems)[संपादित करें]

बहुत से ऐसे भी प्रमेय हैं जो मुख्यत: मोटा-मोटी गणना (rule of thumb) करने में मदद करते हैं किन्तु वे गणित से सीधे सम्बन्धित नहीं हैं।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]