मुनिसुव्रत जी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
मुनिसुव्रत
बीसवें जैन तीर्थंकर
विवरण
परिवार
पिता: सुमित्र
माता: पदमावती
वंश: हरिवन्श
स्थान
जन्म: राजगृही
निर्वाण: सम्मेद शिखर
लक्षण
रंग: काला
चिन्ह: कछुआ
ऊंचाई: २० धनुष (६० मीटर)
आयु: ३०,००० वर्ष
शासक देव
यक्ष: वरुण
यक्षिणी: नरदत्ता

मुनिसुव्रत या सुव्रतनाथ जैन धर्म के २० वें तीर्थंकर माने गए हैं। उनके पिता का नाम सुमित्र और माता का नाम पद्यावती था। उनका जन्म राजगृह (राजगिर) और निर्वाण संमेदशिखर पर हुआ था। कछुवा उनका चिह्न बताया गया है। उनके समय में ९वें चक्रवर्ती महापद्य का जन्म हुआ जो विष्णुकुमार महापद्य के छोटे भाई थे। आगे चलकर विष्णुकुमार मुनि जैनधर्म के महा उद्धारक हुए। मुनि सुव्रतनाथ के समय में ही राम (अथवा पद्य) नाम के ८वें वासुदेव और रावण नाम के ८वें बलदेव, लक्ष्मण नाम के ८वें प्रतिवासुदेव का जन्म हुआ।

बाहरी_कड़ियाँ[संपादित करें]