माइकलसन मोर्ले प्रयोग

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
माइकलसन मोर्ले का व्यतिकरणमापी यन्त्र।

माइकलसन मोर्ले प्रयोग (अंग्रेज़ी: Michelson–Morley experiment), क्लीवलैंड, ओहियो, संयुक्त राज्य अमेरिका में स्थित केश वेस्टर्न रिजर्व विश्वविद्यालय के वैज्ञानिकों अल्बर्ट मिशेलसन और एडवर्ड मोर्ले द्वारा १८८७ में किया गया प्रयोग है। कई बार इसे माइकलसन मोर्ले व्यतिकरणमापी भी कहा जाता है। इस प्रयोग का मुख्य उद्देश्य ईथर माध्यम की खोज था।