महामस्तकाभिषेक

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
महामस्तकाभिषेक
महामस्तकाभिषेक
महामस्तकाभिषेक-२००६ के दौरान गोमतेश्वर मूर्ति का निकट दृश्य
अनुयायी जैन धर्म
प्रकार १३ वर्ष बाद
उद्देश्य गोमतेश्वर बाहुबली
समान पर्व महावीर जयंती

महामस्तकाभिषेक, जैन धर्म का एक उत्सव होता है जो १२ वर्ष के अन्तराल पर दक्षिण भारत के कर्नाटक राज्य के श्रवणबेलगोला शहर में आयोजित किया जाता है। यहाँ पर भगवान (सन्त) गोमतेश्वर बाहुबली की १८ मी. उँची एकाश्म मूर्ति स्थापित है। अगला महामस्तकाभिषेक २०१८ ई. में होगा।[1] यह अभिषेक जल, इक्षुरस, दुध, चावल का आटा, लाल चंदन, हल्दी, अष्टगंध, चंदन चुरा, चार कलश, केसर वृष्टि, आरती, सुगंधित कलश, महाशांतिधारा एवं महाअर्घ्य के साथ भगवान नेमिनाथ को समर्पित किया जाता है।[2]


संदर्भ[संपादित करें]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

जैन धर्म बाहुबली

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]


चित्र दीर्घा[संपादित करें]