मनोबल

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

मनोबल या 'हौसला' (Morale या esprit de corps) का अर्थ है - किसी समूह के सदस्यों की उस संगठन या उसके लक्ष्य के प्रति आस्था की दृढता।

मनोबल सीधे कार्य–निष्पादन को प्रभावित करता है। व्यक्ति चाहे स्वतन्त्र रूप से कार्य करे या संगठन में रहकर सामूहिक प्रयास करे, मनोबल एक निर्णायक भूमिका निभानेवाला तत्व सिद्ध होता है। मनोबल व्यक्ति की आंतरिक मानसिक शक्ति तथा आत्मविश्वास का पर्याय है। मनोबल का शब्दकोषीय अर्थ है – 'किसी विशिष्ट समय में व्यक्ति या समूह द्वारा प्रदर्शित आत्मविश्वास, उत्साह तथा दृढ़ता इत्यादि की मात्रा।'

परिचय[संपादित करें]

एम.एस. वाइटल्स के अनुसार, मनोबल, संतुष्टि की अभिवृत्ति, निरन्तरता की इच्छा है, जो किसी विशिष्ट समूह या संगठन के लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए दृढ़ इच्छा एवं सहमति का प्रतीक है।

मोरिस विटलेस के अनुसार, मनोबल, मनुष्यों में शारीरिक एवं भावात्मक रूप से वह स्वस्थ स्थिति है, जो व्यक्ति को उसके कार्य सम्पन्न करने में ऊर्जा, उत्साह एवं आत्मानुशासन की स्थिति प्रदान करती है।

कीथ डेविस के शब्दों में, व्यक्तियों एवं समूह का उनके संगठन के श्रेष्ठतम हित में क्षमतानुरूप स्वैच्छिक योगदान एवं उनके कार्य पर्यावरण के प्रति अभिवृत्तियाँ, मनोबल की प्रतीक है।

इस प्रकार कहा जा सकता है कि मनोबल के निम्नांकित लक्षण एवं विशेषताएँ होती हैं –

  • 1. मनोबल, व्यक्ति या उसकेसमूह में कार्यरत व्यक्तियों के आन्तरिक बल तथा आत्मविश्वास का परिचायक है।
  • 2. मनोबल एक अदृश्य शक्ति या अभिवृत्ति से तात्पर्य किसी विशिष्ट दिशा में सोचनेया विशिष्ट प्रकार का व्यवहार करने से है।
  • 3. सामान्यत: मनोबल सामूहिक होता है अथवा सामूहिक अभिवृत्ति का परिचय देता है।
  • 4. मनोबल उच्च या निम्न हो सकता है। जहाँ उच्च मनोबल से युक्त व्यक्ति कठिन कार्य सहजता से कर दिखाता है, वहीं निम्न मनोबल धारक व्यक्ति को छोटेकार्य भी पहाड़ जैसे दिखाई देते हैं।
  • 5. मनोबल, मानसिक तत्वों या क्षमताओं जैसेउत्साह, अनुशासन, आशा, साहस तथा विश्वास ख्याति का प्रतीक है।
  • 6. किसी सामूहिक (कई बार व्यक्तिगत भी) उद्देश्य की प्राप्ति के लिए किसी व्यक्ति या समूह को दृढ़तापूर्वक और निरन्तर कार्य की इच्छा भी मनोबल है।
  • 7. मनोबल में निम्नांकित आधारभूत बातें सम्मिलित होती हैं –
  • (क) सहयोग तथा एकजुटता की भावना
  • (ख) स्पष्ट लक्ष्य या उद्देश्य (जिसे प्राप्त करना है)
  • (ग) लक्ष्य प्राप्ति की सफलता की अपेक्षा
  • (घ) प्रत्येक व्यक्ति यह महसूस करे कि उद्देश्य प्राप्ति में उसका कार्य या भूमिका महत्वपूर्ण है
  • (ङ) सहयोगी तथा प्रेरणात्मक नेतृत्व

मनोबल के अंग या तत्वों को स्पष्ट करते हुए लेटन एवं सिलिण्डर ने यह व्याख्या प्रस्तुत की है –

  • (१) मनोबल क्या है? – मनोबल मानव मस्तिष्क की एक अभिवृत्ति, कार्य की प्रवृत्ति है, अच्छाई की एक स्थिति है तथा एक भावनात्मक दबाव है।
  • (२) मनोबल क्या करता है? – मनोबल, उत्पादन, लागत, से वा निष्पादन, सहयोग, उत्साह, अनुशासन, कार्यकुशलता तथा सफलता संबंधी तत्वों को दिशा प्रदान करता है।
  • (३) मनोबल कहीं उपलब्ध रहता है? – यह व्यक्ति या सहयोगियों के मानसिक चिन्तन, भावनाओं तथा सामूहिक प्र तिक्रियाओं में निवास करता है।
  • (४) मनोबल किसको प्रभावित करता है? – यह निकटतम सहयोगियों, अधिकारियों, समाज तथा सम्बद्ध व्यक्तियों को प्रभावित करता है।
  • (५) मनोबल क्या प्रभावित करता है? – मनोबल कार्य के प्रति अभिरूचि, संगठन के सर्वोंत्तम हित में सहयोग तथा व्यक्तिगत लाभ की दृष्टि से सहयोग इत्यादि को प्रभावित करता है।

लेटन तथा सिलिण्डर के शब्दों में, मनोबल, एक भावनात्मक मानसिक स्थिति है, जो कार्य करनेकी इच्छा से व्यक्तिगत एवं संगठनात्मक उद्देश्य प्रभावित होते हैं।