भारतीय हॉकी टीम

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

भारतीय हॉकी टीम भारत की राष्ट्रीय मैदानी हॉकी टीम है। यह अंतर्राष्ट्रीय हॉकी महासंघ की पहली गैर यूरोपीय टीम है।

भारत-मलेशिया हॉकी मैच, दिल्ली, ५ अक्टूबर २०१०

1928 में, टीम ने अपना पहला ओलंपिक स्वर्ण पदक जीता और 1956 तक ओलंपिक में भारतीय पुरुष टीम नाबाद रही, लगातार छह स्वर्ण पदक जीते। भारतीय हॉकी टीम ने अबतक आठ ओलंपिक स्वर्ण पदक जीते है, जो सभी राष्ट्रीय टीमों से अधिक है।

स्थापना[संपादित करें]

इतिहास[संपादित करें]

ओलंपिक[संपादित करें]

भारतीय हॉकी टीम ने आठ ओलंपिक स्वर्ण पदक जीते है

एशियाई खेल[संपादित करें]

एशियाई खेलों में भारतीय टीम ने तीन बार स्वर्ण पदक जीता है । पहला स्वर्ण पदक 1966 के बैंकाक (थाईलैंड) एशियाड में भारत ने पाकिस्तान को 1-0 से हरा कर जीता था । दूसरा स्वर्ण पदक 1998 में बैंकाक में हुए एशियाई खेलों में नराज पिल्ले की अगुवाई में स्वर्ण जीता था । [1] तीसरा स्वर्ण पदक एशियाई खेल 2014 में पाकिस्तान को पेनल्टी शूट आउट में हराकर जीता । इसके साथ ही टीम ने रियो ओलंपिक 2016 के लिये क्वालीफाई कर लिया । [1]

कोच[संपादित करें]

वर्त्तमान में ऑस्ट्रेलिया के टेरी वॉल्श भारतीय पुरूष हॉकी टीम के कोच हैं। इसके पहले रोलैंट ओल्टमैंस हॉकी टीम के कार्यकारी कोच नियुक्त थे।[2]वी भास्करन को राष्ट्रीय टीम का एक बार फिर कोच नियुक्त किया है। वे चीफ कोच टैरी वॉल्श के सहयोगी के रूप में काम करेंगे। इससे पहले भास्करन को 2007 में भी भारतीय टीम का कोच बनाया गया था, लेकिन टीम के खराब प्रदर्शन के चलते उन्हें पद से हटा दिया गया था।[3]

सन्दर्भ[संपादित करें]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

भारतीय महिला हॉकी टीम