भारतविद्या

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

भारतीय उपमहाद्वीप की भाषाओं, ग्रन्थों, इतिहास, एवं संस्कृति का अध्ययन भारतविद्या (Indology) कहलाती है। यह एशिया अध्ययन का एक भाग है। इसे भारत-अध्ययन (Indic study) या दक्षिण-एशियायी अध्ययन भी कहा जाता है।

विहंगावलोकन (Overview)[संपादित करें]

भारत विद्या के अन्तर्गत बहुत से क्षेत्र आ जाते हैं जिनकी तकनीकों को दक्षिण एशिया के उपर लागू करते हुए उपयोग किया जाता है। कुछ क्षेत्र इस प्रकार हैं- cultural or social anthropology, cultural studies, historical linguistics, philology, textual criticism, literary history, history, philosophies and the study of the religions of South Asia, such as the Vedic religion, Hinduism, including Shaivism and Vaishnavism (both of which are versions of what is commonly called "Hinduism"), Jainism, Buddhism, Sikhism, folk and tribal religions, etc., besides the indigenous forms of Judaism, Zoroastrianism, Christianity and Islam in South Asia.

इतिहास[संपादित करें]

प्रमुख भारतविद[संपादित करें]

प्रमुख भारतविदों में सम्मिलित है-

जिनकी मृत्यु हो चुकी है 
जो अभी जीवित है-

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

संस्थाएँ