बैंक के नोट

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
चित्र:Китайское медное клише для печати банкнот. 12 или 13 век.jpg
बारहवीं शती में चीन में नोट छापने का तांबे की प्लेट तथा उसके द्वारा छपी नोट
चित्र:Сталинские 100 рублей 1947 г. Аверс.jpg
सन् १९४७ में १०० रूबल का नोट

तकनीकी रूप से बैंक के नोट या केवल नोट एक बैंक द्वारा की गयी घोषणा है। इसमें बैंक घोषणा करता है कि मांगे जाने पर, बैंक उस नोट के धारक को उस नोट के मूल्य के बराबर धनराशि देने का वचन देता है। इसका उपयोग धन (money) के रूप में होता है। सिक्के और बैंकनोट आधुनिक युग में धन के नकदी (कैश) रूप हैं जो लेकर चलने, सुरक्षित रखने, व्यवहार आदि में अत्यन्त सुविधाजनक हैं।

किसी देश के सामाजिक-आर्थिक दर्पण में रूप में मुद्रा उसकी सांस्कृतिक धरोहर का एक आंतरिक संधटक होती है। भारत सिक्का जारी करनेवाला विश्व का सबसे प्राचीनतम देश है और इतिहास में दर्ज कई प्रकार के मौद्रिक प्रयोगों की भूमि रहा है।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]