बेन-हर (1959 की फ़िल्म)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
Ben-Hur
215px
film poster by Reynold Brown
निर्देशक William Wyler
निर्माता Sam Zimbalist
लेखक Novel:
Lew Wallace
Screenplay:
Karl Tunberg
Uncredited:
Gore Vidal
Christopher Fry
अभिनेता Charlton Heston
Jack Hawkins
Haya Harareet
Stephen Boyd
Hugh Griffith
संगीतकार Miklós Rózsa
छायाकार Robert L. Surtees
संपादक John D. Dunning
Ralph E. Winters
वितरक Metro-Goldwyn-Mayer
प्रदर्शन तिथि(याँ) नवम्बर 18, 1959 (1959-11-18)
कार्यावधि 212 minutes
देश United States
भाषा English
लागत $15 million
कुल कारोबार $90,000,000

बेन-हर (या बेनहर ) विलियम वायलर द्वारा निर्देशित एक महाकाव्यात्मक फिल्म है और 1980 में लिखे ल्यू वैलेस के उपन्यास का तीसरा फिल्मी रूपांतरण है.Ben-Hur: A Tale of the Christ इसका प्रीमियर 18 नवम्बर 1959 को न्यूयॉर्क के लो के स्टेट थिएटर में किया गया. फिल्म ने सर्वश्रेष्ठ फिल्म के साथ ही 11 अकादमी अवार्ड जीत कर एक प्रतिमान कायम किया, एक उपलब्धि जिसकी बराबरी केवल टाइटेनिक के द्वारा की गयी थी.The Lord of the Rings: The Return of the King 44 साल तक यह अंतिम फिल्म बनी रही जिसने सर्वश्रेष्ठ अभिनेता और सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता दोनों के लिए ऑस्कर जीता, जिसके बाद मिस्टिक रिवर को वही पुरस्कार मिला.

प्लॉट (कथानक)[संपादित करें]

फिल्म की प्रस्तावना में ईसा मसीह के पारंपरिक बाल्य काल की कहानी को दर्शाया गया है.

26 ई. में, राजकुमार यहूदा बेन हर (चार्ल्टन हेस्टन) यरूशलेम में एक अमीर व्यापारी है. उसके बचपन का दोस्त मेसाला (स्टीफन बॉयड), जो अब एक सैन्य ट्रिब्यून है, रोमन चौकी में नए कमांडिंग ऑफिसर के रूप में आता है. बेन हर और मेसाला सालों बाद दुबारा मिलकर बहुत खुश हैं, लेकिन राजनीति उन्हें अलग कर देती है, मेसाला रोम के गौरव और उसकी शाही शक्ति में विश्वास करता है, जबकि बेन ने स्वयं को अपने विश्वास और यहूदी लोगों के लिए समर्पित कर दिया है. मेसाला बेन हर से उन यहूदियों का नाम जानना चाहता है जो रोमन सरकार की आलोचना करते हैं, बेन हर विद्रोह के खिलाफ अपने देशवासियों को परामर्श देता है लेकिन उनके नाम बताने से इनकार कर देता है, और दोनों क्रोध में अलग हो जाते हैं.

बेन हर, उसकी माँ मरियम (मर्था स्कॉट) और बहन तिर्जा (कैथी ओ'डोनेल) अपने वफादार दास सिमोनाइड्स (सैम जैफे) और उसकी बेटी एस्तेर (हया हरारीत) का स्वागत करते हैं, जो परिवार की सहमति से तय किए गए विवाह की तैयारी कर रही है. बेन हर एस्तेर को शादी के उपहार के रूप में स्वतंत्र कर देता है, और दोनों यह महसूस करते हैं कि वे एक दूसरे के प्रति आकर्षित हैं.

यहूदियों के नए गवर्नर वैलेरिअस ग्रेटसके लिए हो रहे परेड के दौरान बेन हर के घर की छत से खपरैल टूट कर गिरती है और गवर्नर का घोड़ा चौंक जाता है और ग्रेटस को दूर, मार डालने के करीब, फेंक देता है. हालांकि मेसाला जानता है कि यह एक दुर्घटना थी, फिर भी वह बेन हर को गैलीज (पोत बंदी) की सजा देता है और उसकी मां और बहन को हिरासत में ले लेता है और एक ज्ञात दोस्त और प्रमुख नागरिक के परिवार को दंडित कर के बाकी यहूदी जनता को अशांत कर देता है. बेन हर लौटने और बदला लेने की कसम खाता है. समुद्री यात्रा के दौरान, जब उनका दास समूह नाजरथ पहुंचता है तो, बेन हर को पानी देने से मना कर दिया जाता है. कर देता है. बेन हर निराशा में टूट जाता है, लेकिन यीशु नाम का एक स्थानीय बढ़ई उसे पानी देता है और जीने की उसकी इच्छा को जगाता है.

तीन साल तक पोत बंदी के बाद बेन-हर को कौंसल क्विंटस एरिअस (जैक हॉकिन्स) के ध्वज-पोत का दायित्व दिया गया और मकदुनियाई समुद्री डाकूओं के बेड़े को तबाह करने का काम सौंपा गया. कमांडर ने गुलाम के आत्म-अनुशासन और संकल्प को पहचान लिया और उसे तलवारबाज और सारथी के रूप में प्रशिक्षित करने का मौका दिया, लेकिन बेन-हर ने इनकार कर दिया, यह कहते हुए कि भगवान उसकी सहायता करेगा.

जब ऐरिअस युद्ध की तैयारी करता है, वह मल्लाहों को जंजीरों में बांधने का आदेश देता है, लेकिन बेन हर को आजाद छोड़ देता है. ऐरिअस की पोत टक्कर खाती है और डूब जाती है, लेकिन बेन हर मल्लाहों को जंजीरों से मुक्त करता है, भागता है और ऐरिअस की जान बचाता है, चूंकि ऐरिअस को विश्वास हो चुका है कि युद्ध में वह हार गया है, वह उसे आत्महत्या करने से रोकता है. ऐरिअस रोमन नौसेना की जीत का श्रेय हासिल करता है और आभार में वह बेन हर को अपने पुत्र के रूप में स्वीकार करते हुए, टाइबेरिअस जुलियस सीजर ऑगस्टस (जार्ज रेल्फ) से बेन-हर के खिलाफ सभी आरोपों को वापस लेने के लिए याचिका दायर करता है. धन के और स्वतंत्रता पाकर बेन हर रोमन तौर-तरीके सीखता है और इस तरह एक चैंपियन सारथी बन जाता है, लेकिन अपने परिवार और गृहभूमि उसे याद आते रहते हैं.

यहूदिया की ओर लौटते समय, बेन-हर बाल्तासार (फिनले क्युरी) और उसके मेजबान, अरब शेख इल्दरिम (हग ग्रिफ्फिथ) से मिलता है, जिसके पास चार सफेद अरबी घोड़े हैं. इल्दरिम अपने "बच्चों" से उसे मिलाता है और उनसे इल्दरिम के क्वाड्रिगा को आने वाली दौड़ में नए यहूदी गवर्नर पोंटियस पिलेट (फैंक थ्रिंग) के सामने दौड़ाने के लिए कहता है. बेन-हर इनकार करता है, लेकिन सुनता है कि चैंपियन सारथी मेसाला मुकाबला करेगा; जैसा कि इल्दरिम बताता है, "इस क्षेत्र में कोई कानून नहीं है. बहुत लोग मार दिए जाते हैं."

बेन-हर को पता चलता है कि एस्तेर का पारिवारिक सहमति से होने वाला विवाह अभी भी नही हुआ है और वह अब भी उसे प्यार करती है. वह मेसाला से मिलता है और अपनी मां और बहन को मुक्त करने की मांग करता है लेकिन रोमनों को पता चलता है कि तीर्जा और मरियम को कुष्ठ रोग हो गया है और वे उन्हें शहर से निष्कासित कर देते हैं. वे एस्तेर को बेन-हर से उनकी हालत छुपाने का अनुरोध करते हैं, अतएव वह उससे कहती है कि उसकी मां और बहन जेल में ही मर चुकी हैं.

बेन-हर दौड़ में भाग लेता है. मेसाला पहिए की नाह पर पत्ती लगाया हुआ "ग्रीक रथ" चलाता है, जिसे अन्य प्रतियोगियों को धज्जियां उड़ाने के लिए डिजाइन किया गया है. इस हिंसक और भीषण दौड़ में, मेसाला बेन-हर के रथ को नष्ट करने की कोशिश करता है, लेकिन वह अपना ही रथ नष्ट कर बैठता है; मेसाला कुचल कर लगभग मार दिया जाता है, जबकि बेन-हर दौड़ जीत जाता है. मरने से पहले, मेसाला बेन-हर से कहता है कि दौड़ अभी खत्म नहीं हुई है; तुम अपनी मां और बहन को कोढ़ियों की घाटी में पा सकते हो, यदि तुम उन्हें पहचान सको तो.

फिल्म का उपशीर्षक है "अ टेल ऑफ द क्राइस्ट", यही समय है जब ईसा मसीह दुबारा प्रकट होते हैं. एस्तेर पर्वत पर हो रहे धर्मोपदेश से प्रभावित होती है. वह बेन-हर को इसके बारे में बताती है, लेकिन उसे शान्त नहीं कर पाती क्योंकि मेसाला के कारण नहीं-रोमन शासन के कारण- उसका परिवार दुर्भाग्य की ओर चला जाता है, इसलिए बेन-हर अपनी विरासत और नागरिकता दोनों को खारिज कर देता है, और साम्राज्य के खिलाफ हिंसा की योजना बनाता है. यह जानकर कि तीर्जा मर रही है, बेन-हर और एस्तेर उसे यीशु मसीह का दर्शन कराने ले जाते हैं, लेकिन वे उनके नजदीक नहीं ले जा पाते, ईसा मसीह के भाग्य के लिए पिलेट के अपनी जिम्मेदारियों से पीछे हट जाने के साथ ही उनकी सुनवाई शुरू हो चुकी है. उनके पहले के मिलन के आधार पर यीशु मसीह को पहचानकर बेन-हर उनके बलिदान स्थल तक की पैदल यात्रा के दौरान उन्हें पानी देने की कोशिश करता है, लेकिन रक्षक उन्हें दूर खींच ले जाते हैं.

बेन-हर उनको सूली पर चढ़ाने की घटना का साक्षी बनता है. मरियम और तिर्जा का रोग एक चमत्कार से दूर हो जाता है, उसी प्रकार बेन-हर का हृदय और आत्मा भी सही हो जाते है. वह एस्तेर से कहता है, चूंकि क्रॉस पर यीशु मसीह की क्षमा करने वाली बात सुन चुका है, कि,"उनकी आवाज मेरे हाथों से मेरी तलवार को छीन रही है" फिल्म बलिदान स्थल के खाली क्रॉस और एक धर्मगुरू और उनके शिष्यों की भीड़ के बीच खत्म होती है.

कलाकार[संपादित करें]

  • बेन हर, उर्फ क्विंटस ऐरिअस द यंगर के रूप में चार्लटॉन हेस्टन
  • मेसाला के रूप में स्टीफन बॉयड
  • मिरियम के रूप में मार्था स्कॉट
  • तीर्जा बट-हर के रूप में कैथी ओ'डोनेल
  • एस्तेर बट-सिमोनाइड्स के रूप में हया हररीत
  • सिमोनाइड्स के रूप में सैम जेफ
  • क्वींटस ऐरिअस के रूप में जैक हॉकिन्स
  • ड्रुसस के रूप में टेरेंस लॉंगडॉन
  • शेख इल्दरिम के रूप में ह्यूग ग्रिफ़िथ
  • पोंटियस पिलेट के रूप में फ्रैंक थ्रिंग
  • यीशु के रूप में क्लाउड हीटर( अनक्रेडिटेड)
  • फ्लेविआ के रूप में मैरिना बर्टी
  • मैरी के रूप में जोश ग्रेसी(अनक्रेडिटेड)
  • जोसेफ के रूप में लॉरेंस पाइन (अनक्रेडिटेड)
  • गैसपर के रूप में रिचर्ड हेल (अनक्रेडिटेड)
  • मेलचिअर के रूप में रेगिनाल्ड लाल सिंह
  • नाविक के रूप में माइकेल डुगन (अनक्रेडिटेड)
  • बाल्थासर/व्याख्याकार के रूप में फिनले क्युरी

संगीत[संपादित करें]

  • शोफर काल्स (बेतलेहेम का स्टार गायब हो जाता है)-पुरूष
  • लव थीम - एमजीएम स्टूडियो और ऑर्केस्ट्रा
  • फ्रेटलिटि नृत्य- भारतीय, एमजीएम स्टूडियो और आर्केस्ट्रा
  • ऐरिअस की पार्टी - एजीएम स्टूडियो और ऑर्केस्ट्रा
  • हेलेल्युजा (समापन) - एमजीएम स्टूडियो और आर्केस्ट्रा कोरस

फिल्म की स्वरलिपि की रचना और संचालन मिक्लोज़ रोज़ा द्वारा की गई, जिन्होंने एमजीएम के अधिकतर महाकाव्यों की स्वर लिपि तैयार की है. रोज़ा ने फिल्म में अपने काम के लिए तीसरा अकादमी पुरस्कार जीता. इसका साउण्डट्रैक अबतक लिखी गई मोशन पिक्चर स्वरलिपियों में सबसे लोकप्रिय है, और इसे एएफआइ के 100 इयर्स ऑफ फिल्म स्कोर्स में भी दर्ज किया गया है.

निर्माण (प्रोडक्शन)[संपादित करें]

वित्तपोषण[संपादित करें]

340 एकड़ (1.4 km²) में फैले 300 से अधिक सेटों की जरूरत के साथ बेन-हर का निर्माण बहुत खर्चीला था. $15 मिलियन का प्रोडक्शन इसे दिवालियेपन से बचाने के लिए एमजीएम द्वारा खेला गया एक जुआ था, लेकिन यह जुआ खेलना वसूल हो गया, जब पूरे विश्व में इसने कुल $90 मिलियन की कमाई की.

अभिमुखता अनुपात[संपादित करें]

चित्र:Ben-Hur chariot race.jpg
रथ दौड़ का दृश्य, अत्यंत विस्तृत अभिमुखता अनुपात का इस्तेमाल की व्याख्या (2.76:1)

फिल्म को एक प्रक्रिया में फिल्माया गया जिसे "एमजीएम कैमरा 65" के रूप में जाना जाता है, 65 एमएम निगेटिव स्टॉक, जिससे 2.76:1 के अभिमुखता अनुपात युक्त 70 एमएम एनामॉर्फिक प्रिंट तैयार किए गए, अब तक का सबसे चौड़ा प्रिंट, जिसकी चौड़ाई ऊंचाई से लगभग तीन गुना अधिक थी. एक एनामॉर्फिक लेंस जो एक 1.25X संपीड़न का उत्पादन करता था, का उपयोग एक 65 एमएम निगेटिव (जिसका सामान्य अभिमुखता अनुपात 2.20:1 था) के साथ किया गया ताकि इस बहुत चौड़े अभिमुखता अनुपात का उत्पादन किया जा सके. इसने छह चैनल ऑडियो के अलावा शानदार पैनारोमिक शॉट्स लेना संभव बना दिया. व्यवहार में, तथापि "65 कैमरा" प्रिंट अधिकतर स्क्रीन पर 2.5:1 के अभिमुखता अनुपात में दिखाया गया, इसलिए थियेटरों को नए, चौड़े स्क्रीन के संस्थापन या पहले से संस्थापित स्क्रीन की पूरी ऊंचाई से कम के उपयोग की जरूरत नहीं पड़ी.

कास्टिंग और अभिनय[संपादित करें]

चार्ल्टन हेस्टन के पहले कई अन्य अभिनेताओं को बेन-हर की भूमिका की पेशकश की गई. बर्ट लैंकास्टर ने दावा किया कि उसने बेन-हर की भूमिका को करने से इसलिए मना कर दिया क्योंकि उसे " कहानी में हिंसक नैतिकता पसंद नहीं आई."[कृपया उद्धरण जोड़ें] पॉल न्यूमैन ने यह कह कर ठुकरा दिया कि अंगरखा पहनने पर पैर दिखाई पड़ेंगे, और उनके पैर इस लायक नहीं हैं.1/} रॉक हडसन और लेजली नीलसन को भी भूमिका की पेशकश की गई थी.[कृपया उद्धरण जोड़ें]

सम्मान से, और ल्यु वैलेस की वर्णित वरीयता के आधार पर यीशु का चेहरा बहुत कम दिखाया गया है. वह भूमिका ओपेरा गायक क्लाउड हीटर के द्वारा निभाई गई जिसे अपनी इकलौती फिल्मी भूमिका निभाने का कोई श्रेय प्राप्त नहीं हुआ.

1995 की एक डॉक्युमेंट्री द सेलुलॉयड क्लोसेट के लिए एक साक्षात्कार में, पटकथा लेखक गोर विडाल बल पूर्वक कहते हैं कि उन्होंने वायलर पर यह दबाव डाला कि वह स्टीफेन वायड को मेसाला और बेन हर के बीच एक अप्रत्यक्ष समलैंगिक संवाद बनाने के लिए निर्देशित करे. विडाल कहते हैं कि वे बेन-हर का अपने सहकर्मी यहुदियों के नाम एक रोमन अधिकारी को बताने से इनकार करने को लेकर मेसाला की चरम प्रतिक्रिया की व्याख्या में मदद करना चाहते थे, और उन्होंने वायलर को सुझाव दिया कि मेसाला और बेन-हर बचपन से ही समलैंगिक प्रेमी रहे थे, लेकिन बेन-हर की बाद में रूचि खत्म हो गई, इस तरह मेसाला की प्रतिहिंसात्मकता को उसकी अस्वीकृति के अनुभव से प्रेरित बताया जाता. चूंकि हॉलीवुड का प्रोडक्शन कोड इसकी इजाजत नहीं देता, इस विचार को अभिनेताओं द्वारा ध्वनित किया जाना था, और विडाल ने वायलर को सुझाव दिया कि वे स्टीफेन वायड को उसी तरह से भूमिका निभाने का निर्देश दें, लेकिन हेस्टन को यह न बताएं. विडाल का दावा है कि वायलर ने उनकी सलाह मानी और उसका परिणाम फिल्म में देखा जा सकता है.

पोत का दृश्य[संपादित करें]

जिसमें बेन-हर को गुलाम बना कर रखा गया था उस नाव का मूल डिजाइन इतना भारी था कि वह तैर नहीं सकता था. इसलिए दृश्य को एक स्टूडियो में फिल्माया जाना था, लेकिन एक और समस्या रह जाती थी : कैमरा अंदर फिट नहीं हो पाता था, इसलिए नाव को आधा काटा गया और उसे जरूरत के हिसाब से बड़ा और छोटा किया गया. अगली समस्या यह थी कि पतवार बहुत लंबे थे, इसलिए उन्हें भी काटा गया, हालांकि, इस वजह से वे नकली लगते थे, क्योंकि पतवार खेने में बहुत आसान थे, इसलिए उनके छोरों पर भार लगाए गए.

फिल्मांकन के दौरान निदेशक वायलर ने देखा कि एक अतिरिक्त कलाकार का हाथ नहीं है. उनके पास नकली खून भरा हुआ आदमी का एक नकली हाथ था, और उससे उभरी हुई नकली हड्डी दिख रही थी, यह सब दृश्य को वास्तविक रूप देने के लिए किया गया था, जब पोत टकराया था. वायलर ने एक और अतिरिक्त कलाकार का उपयोग किया जिसका पैर गायब था.

पोत दृश्य में ऐरिअस का लागातार आदेश, "युद्ध गति, हॉरटेटर... हमले की गति ... टकराने की गति! शामिल थे." शब्द हॉरटेटर का अब इस्तेमाल नहीं होता है, और यह उल्लेखनीय रूप से अधिकतर शब्दकोशों में अनुपस्थित है. यह एक लैटिन शब्द था, जहाज के संबंध में जिसका मतलब " नाव खेने वाले का प्रमुख" था, या "वह जो नाव खेने वाले को आदेश देता है"[1], और शायद इसका मूल लैटिन क्रिया हॉरटर (दबाव डालना, प्रोत्साहित करना) में है. आदेश " टकराने की गति, हॉरटेटर!" जिसे व्यापक तौर पर याद किया जाता है, नकल की जाती है, कभी नहीं हुआ.

पोत दृश्य पूरी तरह काल्पनिक है, क्योंकि रोमन नौसेना अपने शुरूआती आधुनिक समकालीनों के विपरीत बंदियों को पोत गुलामों के रूप में नहीं लगाते थे.

रथ दौड़[संपादित करें]

बेन-हर में रथ दौड़ का निर्देशन एण्ड्र्यु मॉर्टन के द्वारा किया गया, वे एक हॉलीवुड निर्देशक थे जो अन्य लोगों की फिल्मों में प्राय: सेकेण्ड युनिट डायरेक्टर के रूप में अपनी भूमिका निभाते थे. यहां तक कि मौजूदा मानकों के द्वारा भी इसे अब तक फिल्माए गए शानदार एक्शन दृश्यों में रखा जाता है.[कौन?] रोम के बाहर सिनेसिटा स्टुडियो में कम्प्युटर-निर्मित प्रभावों के बहुत पहले फिल्माए गए इस दृश्य को, अब तक के बने सबसे बड़े फिल्म सेट, लगभग 18 एकड़ (73,000 वर्ग मि.) पर 15,000 गौड़ अभिनेताओं का उपयोग करते हुए, पूरा करने में तीन महीने से ज्यादा समय लगा.[कृपया उद्धरण जोड़ें] अठारह रथ बनाए गए, आधे अभ्यास के लिए इस्तेमाल किये गए. दौड़ को फिल्माने में पांच हफ्ते लगे. दौरे की बसें हर घंटे सेट का दौरा करती थीं.

सर्कस, स्पाइना के बीच के अनुभाग सर्कसों की ज्ञात सुविधा के अनुरूप ही थे, हालांकि इसके आकार को फिल्म निर्माण की सहायता करने के लिए अतिरंजित किया जा सकता है. गोल्डेन डॉल्फिन लैप काउंटर रोम के सर्कस, मैक्सिमस की मुखाकृति थी.

रथ चलाना सीखने में चार्ल्टन हेस्टन को चार सप्ताह लगे. उसे स्टंट दलों के द्वारा सिखाया गया, जिन्होंने सारे कलाकारों को सिखाने की पेशकश की थी, लेकिन हेस्टन और बॉयड ही ऐसे थे जो पेशकश पर खरे उतरे ( बॉयड को देर से चुनाव के कारण दो हफ्ते में ही सीखना था). रथ दौड़ की शुरुआत में, हेस्टन ने लगाम को हिला कर रख दिया और कुछ भी नहीं हुआ; सितारों के नाम वाले चार घोड़े, एल्डेबरन, एल्टेअर, एंटारेज और रिंगेंल स्थ्रिर बने रहे. अंत में बने हुए सेट के रास्ते के शीर्ष पर किसी ने चिल्लाया, "गिड्डी अप!" घोड़ों ने कार्रवाई में गर्जना की, और हेस्टन उछलकर लहराते हुए रथ के पीछे जा गिरा.[कृपया उद्धरण जोड़ें]

दृश्य को अधिक प्रभावशाली और वास्तविक रूप देने के लिए दौड़ की मुख्य बिंदुओं पर तीन कठपुतले रखे गए, जिससे लगे कि रथ के साथ तीन लोग दौड़ रहे हैं. सबसे उल्लेखनीय है स्टीफन बॉयड का मेसाला के लिए खड़ा पुतला था, जो घोड़ों के बीच अटक जाता है और खुरों के द्वारा कुचल दिया जाता है. चलचित्र के इतिहास में यह तब तक का सबसे भयानक, घातक चोटों वाला दृश्य था, जिसने दर्शकों को हैरान कर दिया.[कृपया उद्धरण जोड़ें]

रथ दृश्य को लेकर अनेक शहरी दंतकाथाएं हैं, जिनमें से एक यह है कि फिल्मांकन के दौरान एक स्टंटमैन की मौत हो गई थी. एक स्टंटमैन नोशर पॉवेल अपनी आत्मकथा में यह दावा करता है, " तीसरे सप्ताह में एक स्टंटमैन की मौत हो गई, और यह ठीक मेरे सामने घटित हुआ. आपने भी इसे देखा है, क्योंकि कैमरे घूम रहे थे और यह दृश्य फिल्म में है".[2] पावेल के दावे का समर्थन करने वाला कोई सबूत नहीं है और यह निर्देशक विलियम वायलर द्वारा दृढ़तापूर्वक खारिज किया गया है, जो बताते हैं कि उस मशहूर दृश्य में न तो कोई घोड़ा घायल हुआ और ना ही आदमी. फिल्म के स्टंट निर्देशक, याकीमा कैनट ने कहा कि फिल्मांकन के दौरान कोई गंभीर चोट या मौत की घटना नहीं हुई.[3]

एक और शहरी दंतकथा में उल्लेख है कि एक लाल फेरारी रथ दौड़ के दौरान देखी जा सकती है, लेकिन एक किताब मूवी मिस्टेक्स का दावा है कि यह झूठ है.[4] (डीवीडी कमेंट्री ट्रैक में हेस्टन, एक तीसरे शहरी दंतकथा की बात कहते हैं कि वे कलाई घड़ी पहने हुए थे, जो सही नहीं है. वे बताते हैं कि उन्होंने कोहनी तक चमड़ा पहन रखा था.

हालांकि, दौड़ में सबसे यादगार क्षण की याद एक घातक दुर्घटना से आती है. जब यहूदा का रथ एक और रथ पर कूदता है जो अपने रास्ते में दुर्घटनाग्रस्त हो जाता, तो एक सारथी अपने रथ से लगभग गिरता हुआ दिखता है और किसी तरह लटके हुए दौड़ को जारी रखने के लिए दुबारा रथ पर सवार हो जाता है. वास्तव में, जब इस कूद की योजना बनाई गई थी, चरित्र का हवा में उछलना योजना में शामिल नहीं था, और स्टंट निर्देशक याकीमा कैनट का बेटा स्टंटमैन कैनट भाग्य से एक छोटी-सी ठोढ़ी की चोट खाकर ही बच गया. बहरहाल, जब निर्देशक वायलर ने कैनट के छलांग के लंबे शॉट के साथ अपने रथ के पीछे से चढ़ रहे हेस्टन के क्लोज-अप को इंटरकट किया, तो परिणाम में एक यादगार दृश्य सामने आया.[5]

उपन्यास और फिल्म के बीच अंतर[संपादित करें]

मूल उपन्यास और फिल्म के बीच कई अंतर हैं. फिल्म के कथानक को अधिक शीघ्र नाटकीय बनाने के लिए परिवर्तन किए गए.

  • उपन्यास में मेसाला गंभीर रूप से घायल होता है, न कि घातक रूप से. फिल्म में, मेसाला बेन-हर के रथ को तोड़ने के प्रयास में खुद ही दुर्घटना का शिकार हो जाता है, और दुर्घटना के कारण हुए घावों की वजह से वह मर जाता है. पुस्तक में, बदला लेने के लिए मसाला बेन-हर की हत्या करने की योजना बनाता है जो धराशायी हो जाता है. यह उपन्यास के अंत में पता चलता है कि इराज ने (जो मेसाला की स्वामिनी है और 1959 की फिल्म में प्रकट नहीं होती) रथ दौड़ के पांच साल के बाद गुस्से में मेसाला की हत्या कर दी थी.
  • फिल्म में रथ दौड़ यरूशलेम में होता है जबकि उपन्यास में यह दौड़ एनिटोक में होता है.
  • उपन्यास में, यीशु मसीह के सूली पर चढ़ने के बाद की बजाय पहले ही बेन-हर ईसाई धर्म में धर्मान्तरित हो जाता है, और वह कड़वाहट प्रकट नहीं करता है, जैसा कि विलियम वायलर की फिल्म में दिखाया गया है. इसी तरह, बेन-हर की माँ और बहन का रोग निवारण पुस्तक में पहले ही होता है, यीशु मसीह की मृत्यु के तुरंत बाद नहीं.
  • उपन्यास में, क्विंटस ऐरिअस के चरित्र को बेन-हर के पिता का परिचित बताया गया है, लेकिन फिल्म में ऐरिअस और हर के परिवारों के बीच कोई पूर्व संबंध नहीं दिखता. उपन्यास में, ऐरिअस मर जाता है और बेन हूर के घर वापसी के पहले ही अपनी संपति और पदवी बेन-हर को सौंप देता है. 1959 की फिल्म में ऐरिअस की मौत का कोई उल्लेख नहीं, तो संभव है कि फिल्म के अंत में भी वह जीवित है.
  • बेन-हर के परिवार की माइसेनम, इटली में रहनवारी के साथ उपन्यास रथ दौड़ के 30 वर्षों के बाद खत्म होता है. 0}एनिटोक में रहते हुए बेन-हर को पता चलता है कि शेख इल्दरिम ( जो उपन्यास के फिल्मी संस्करण में कहीं भी मरता नहीं है) उसके लिए ढेर सारा रूपया विरासत में छोड़ गया है. लगभग इसी समय उसे सम्राट नीरो द्वारा किए जा रहे रोम के इसाईयों के उत्पीड़न का पता चलता है, बेन-हर सैन कैलिक्स्टो के कैटाकौंब को स्थापित करने में मदद करता है ताकि ईसाई समुदाय आज़ादी से एक जगह पूजा कर सके. बहरहाल फिल्म यीशु मसीह के सूली पर चढ़ने और बेन-हर की मां और बहन के रोग मुक्त हो जाने के तुरंत बाद खत्म हो जाती है.

बॉक्स ऑफिस पर प्रदर्शन[संपादित करें]

बेन-हर ने बॉक्स ऑफिस पर $ 17300000 का व्यवसाय किया.[6] यह 1959 की सबसे ज्यादा पैसे कमाने वाली फिल्म थी.[7]

पुरस्कार और सम्मान[संपादित करें]

इस फिल्म ने अभूतपूर्व 11 अकादमी पुरस्कार जीता, जिस संख्या की बराबरी केवल 1998 में टाइटेनिक द्वारा और 2004 में द लॉर्ड ऑफ द रिंग्स : द रिटर्न ऑफ द किंग द्वारा की गई.

  • सर्वश्रेष्ठ मोशन पिक्चर;
  • सर्वश्रेष्ठ निर्देशक के लिए विलियम वायलर;
  • सर्वश्रेष्ठ अग्रणी अभिनेता के लिए चार्ल्टन हेस्टन;
  • सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता के लिए ह्यूग ग्रिफ़िथ;
  • सर्वश्रेष्ठ सेट सजावट, रंग के लिए इडवर्ड सी. कारफैंगो, विलियम ए. डर्निंग और ह्युग हंट;
  • सर्वश्रेष्ठ छायांकन, रंग;
  • सर्वश्रेष्ठ कॉस्टयूम डिजाइन, रंग;
  • सर्वश्रेष्ठ विशेष प्रभाव;
  • सर्वोत्तम फिल्म संपादन के लिए जॉन डी. डनिंग और राल्फ ई. विंटर्स;
  • नाटकीय या हास्य पिक्चर की स्कोरिंग, सर्वश्रेष्ठ संगीत; और
  • सर्वश्रेष्ठ ध्वनि.

इसके अलावा, फिल्म को सर्वश्रेष्ठ रूपांतरित पटकथा ह्तु अकादमी अवार्ड के लिए नामित किया गया.

इस फिल्म ने चार गोल्डन ग्लोब पुरस्कार भी जीते: सर्वश्रेष्ठ मोशन पिक्चर, नाटक,सर्वश्रेष्ठ मोशन पिक्चर निर्देशक, स्टीफेन बॉयड को मोशन पिक्चर में सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता, और रथ दौड़ के दृश्यों को निर्देशित करने के लिए एण्ड्र्यु मार्टन को एक विशेष पुरस्कार. इस फिल्म ने सर्वश्रेष्ठ फिल्म के लिए BAFTA पुरस्कार, सर्वश्रेष्ठ पिक्चर के लिए न्यूयॉर्क फिल्म क्रिटिक्स सर्किल पुरस्कार और मोशन पिक्चर में उत्कृष्ट निर्देशन उपलब्धि के लिए डीजीए पुरस्कार जीता.

अमेरिकी फिल्म संस्थान की मान्यता

  • 2001 AFI के 100 वर्ष ...100 फिल्म #72
  • 2001 AFI के 100 वर्ष ...100 रोमांच #49
  • 2005 AFI के 100 वर्षों की फ़िल्म स्वर-लिपि #21
  • 2001 AFI के 100 वर्ष ...100 चियर्स #56
  • 2007 AFI के 100 वर्ष ...100 फिल्म (10वीं वर्षगांठ संस्करण) #100
  • 2008 AFI के 10 शीर्ष 10 #2 महाकाव्यात्मक फिल्म

बेन-हर अंपायर पत्रिका के 2008 के 500 महान फिल्मों की सूची में भी प्रकट हुई और उसे 491वां स्थान प्राप्त हुआ.[8]

कांग्रेस के पुस्तकालय ने 2004 में बेन-हर को संरक्षण के लिए नेशनल फिल्म रजिस्ट्री में जोड़ा.

पहला प्रसारण[संपादित करें]

फिल्म का पहला प्रसारण 14 फरवरी, 1971 में रविवार को किया गया.[9] फिल्म को, सीबीएस पर एक प्राइम टाइम नेटवर्क टेलिविजन स्पेशल के रूप में फुल-स्क्रीन पैन और स्कैन फॉर्मेट में दिखाया गया. फिल्म की लंबाई के कारण, 60 मिनट के साथ शुरू होने वाले शाम के सभी रेगुलर सीबीएस लाइनप को उस एक रात के लिए काट दिया गया, सीबीएस के इतिहास के कुछ समयों में ही यह हुआ जब एक फिल्म स्पेशल के लिए 60 मिनटों के कार्यक्रम रोक दिए गए हों. विज्ञापनों की वजह से फिल्म पांच-घंटे तक चली, जिसे 7 बजे शाम से लेकर 12 बजे मध्य रात्रि, ई.एस.टी. के बीच दिखाया गया.

डीवीडी रिलीज[संपादित करें]

बेन-हर तीन अवसरों पर डीवीडी के लिए जारी की गई. पहली बार 13 मार्च, 2001 में एक वन-डिस्क वाइडस्क्रीन रिलीज के रूप में, दूसरी वार 13 सितंबर, 2005 को एक फोर-डिस्क सेट के रूप में, और तीसरी वार वार्नर ब्रॉस डिलक्स सिरीज के भाग के रूप में.

2001 की रिलीज[संपादित करें]

(कुछ देशों में 2 डिस्क और अमेरिका में 2 तरफा डिस्क रिलीज़ हुई) डिस्क एक और दो : द मूवीज + एक्स्ट्रास

  • उपशीर्षक: अंग्रेजी, स्पेनिश, फ्रेंच
  • ऑडियो ट्रैक्स: अंग्रेजी (डॉल्बी डिजिटल 5.1)
  • शार्ल्टन हेस्टन द्वारा टिप्पणी
  • वृत्तचित्र बेन-हर: द मेकिंग ऑफ़ एन एपिक
  • लेस्ली नीलसन, सिजैरे डैनोवा, और हाया हरारीत सहित अंतिम और लगभग अंतिम कास्ट के लिए नए तरीके के स्क्रीन टेस्ट
  • सेलडम-हर्ड ओवरचर और एंट्र'एक्ट संगीत का संकलन
  • सेट पेर फोटो गैलेरी जो वाइलर, निर्माता सैम ज़िम्बालिस्ट, कैमरामैन रॉबर्ट सुर्टीस, और दूसरों को प्रस्तुत करती है.

2005 रिलीज[संपादित करें]

(4 डिस्क) डिस्क एक और दो : द मूवी

  • मौलिक 65-मिमी फिल्म एलिमेंट्स से नए रीमास्टर्ड और री स्टोर्ड
  • डॉल्बी डिजिटल 5.1 ऑडियो
  • शार्लटन हेस्टन द्वारा सीन स्पेसिफिक कॉमेंट्स के साथ फिल्म हिस्टोरियन टी. जीं हैचर के कॉमेंट्स
  • म्युज़िक-ओनली ट्रैक शोकेसिंग मैक्लोस रोज़सास स्कोर (क्षेत्र में उपलब्ध है, और अन्य क्षेत्र में सिर्फ कवर पे विज्ञापित है)

तीन डिस्क : द 1925 साइलेंट वर्ज़न

  • कम्पोज़र कार्ल डेविस द्वारा स्ट्रियुफोनिक और्क्रेसट्रल के साथ थेम्स टेलिविज़न रीस्टोरेशन

चार डिस्क : फिल्म के बारे में

  • नई वृत्तचित्र: बेन-हर: द एपिक डैट चेंज्ड सिनेमा-वर्तमान फिल्म निर्माता, जैसे रिडली स्कॉट और जॉर्ज ल्यूकस फिल्म के महत्त्व और उसके प्रभाव पर विचार देते हैं.
  • क्रिसटॉफर प्लममर द्वारा आयोजित 1994 वृत्तचित्र: बेन-हर: द मेकिंग ऑफ़ एन एपिक
  • बेन-हर: अ जर्नी थ्रू पिक्चर्स-न्यू ऑडियो विसुअल रीक्रिएशन ऑफ़ द फिल्म विया स्टिल्स, स्टोरीबोर्ड, स्केचेस,म्युज़िक और डायलॉग
  • स्क्रीन टेस्ट
  • विंटेज न्यूज़रील गैलरी
  • 1960 एकादमी पुरस्कार समारोह से मुख्या अंश
  • ट्रेलर गैलरी

पेपरबैक फॉर्म सहित शामिल है

  • निर्माण के बारे में 36 पृष्ठ की पुस्तिका

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. http://books.google.com/books?id=hU8MAAAAYAAJ&pg=PA344&dq=hortator
  2. नोशेर पावेल (2001). नोशेर! : पृष्ठ.254
  3. कैनुट, याकीमा, ड्रेक, ओलिवर. "स्टंट मैन: द ओटोबायोग्राफी ऑफ़ याकीमा कैनुट", अध्याय 1: द रेस टू बीट" (1979)
  4. सैन्दिज़, जॉन (2002, 2005). मूवी मिस्टेक्स टेक 4 : पृष्ठ.5
  5. कैनुट, याकीमा; ड्रेक, ओलिवर. "स्टंट मैन: द ओटोबायोग्राफी ऑफ़ याकीमा कैनुट" (1979) पृष्ठ. 16-19
  6. Steinberg, Cobbett (1980). Film Facts. New York: Facts on File, Inc.. प॰ 23. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 0-87196-313-2. कैलेंडर इयर (अक्टूबर से दिसंबर) में जब एक फिल्म देर से रिलीज़ होती है तो उनकी आय अगले साल के कम्पेनडियम में आती है. (पृष्ठ. 17)
  7. बॉक्स ऑफिस रिपोर्ट - रेवेन्यु डेटा - 1959.
  8. http://www.empireonline.com/500/1.asp
  9. http://www.brainyhistory.com/events/1971/february_14_1971_140094.html

आगे पढ़ें[संपादित करें]

  • "शार्ल्टन हेस्टन: एन इनक्रेडिबल लाइफ: रिवाइज़्ड एडिशन" माइकल बर्नियर, क्रिएटस्पेस, 2009

बाहरी लिंक्स[संपादित करें]

पुरस्कार
पूर्वाधिकारी
The Best Years of Our Lives
Academy Award winner for Best Actor and Best Supporting Actor उत्तराधिकारी
Mystic River