बिश्नोई

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
बिश्नोई मन्दिर मुक्तिधाम मुकाम नोखा, बिकानेर, राजस्थान

बिश्नोई धर्म[संपादित करें]

बिश्नोई धर्म |बिश्नोई दो शब्दों से मिलकर बना हुआ है -बीस +नो यानि जो उनतीस नियमो का पालन करता है |गुरु जम्भेश्वर भगवान् को बिश्नोई धर्म का संस्थापक माना जाता है | २९ नियम निम्न है :- १.तिस दिन सूतक २.पञ्च दिन का रज्सवला ३.सुबह स्नान करना ४.शील,संतोष ,सूचि रखना ५.प्राते:,शाम संध्या करना ६.साँझ आरती विष्णु गुण गाना ७.प्राते:कल हवन करना ८.पानी छान कर पीना व वाणी शुद बोलना ९.इंधन बीनकर व दूध छानकर पीना १०.क्षमा सहनशीलता रखे ११.दया-नम्र भाव से रहे १२.चोरी नहीं करनी १३.निंदा नहीं करनी १४.झूठ नहीं बोलना १५.वाद विवाद नहीं करना १६.अमावस्या का व्रत रखना १७.भजन विष्णु का करना ] १८.प्राणी मात्र पर दया रखना १९.हरे वृक्ष नहीं काटना २०.अजर को जरना २१.अपने हाथ से रसोई पकाना २२.थाट अमर रखना २३.बैल को बंधिया न करना २४.अमल नहीं खाना २५.तम्बाको नहीं खाना व पीना २६.भांग नहीं पीना २७.मदपान नहीं करना २८.मांस नहीं खाना २९नीले वस्त्र नहीं धारण करना