बल्तिस्तान

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
(बलतसतान से अनुप्रेषित)
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

बलतसतान (बुलती ज़बान में' बुलतीओ-ल') एक क़दीम रियासत है जो आज कुल पाकिस्तान के सूबा गलगत ओ- बलतसतान में शामिल है अगरचे इस के कुछ हिस्सा पर भारत ने क़ब्ज़ा क्या हुआ है। बलतसतान की सरहदें चीन और भारत से मिलती हैं। बलतसतान पर 1848ए में कश्मीर के डवग्रह सुख हुक्मरानओ-ं ने क़ब्ज़ा क्या था। अंग्रेज़ओ-ं ने जो कश्मीर डओ-गिरों को बेचा था इस में गलगत ओ- बलतसतान शामिल नहीं था मगर गुलाब राय के साहिबज़ादे रनबीर सिंह बादशाह बने तो इन की अफ़वाज ने गलगत और बलतसतान को फ़तह करके कश्मीर का हिस्सा बिना लिया।[1] इस से पहले ये एक आज़ाद रियासत थी। बररভएভस्ग़ीर की तक़सीम के वक्त बलतसतान के लोगों ने अपनी जंगि आज़ादी लड़ी और1948ए में ख़ुद पाकिस्तान में शामिल हुऐ। अगरचे बलतसतान की आईनी हैसीयत का ताय्युन मसअला कश्मीर के मसअले के हल ना होने की वजह से अभी तक नहीं हुआ और ना ही उन्हें वोट डालने का हक़ हासिल है। लेकिन सितंबर 2009ए में पाकिस्तान के सदर ने बलतसतान ओ- गलगत को ख़ुदमुख़तारी के बल पर दस्तख़त कर दिए जिस के बाद ये इलाका कश्मीर की तरह एक पार्लीमैंट रख सके गा। बलतसतान में दुनिया के तीस से ज़्यादा ऊंचे तरीन पहाड़ वाक़िअ हैं जिन में के।टू शामिल है। बलतसतान का तक़रीबन तमाम इलाका पहाड़ी है जिस की औसत ऊंचाई ग्यारह हज़ार फुट है। लदाख भी क़दीम तारीख़ से बलतसतान का हिस्सा रहा है जो आज कुल भारत, चीन और पाकिस्तान में तक़सीम हो चुका है। गलगत ओ- हिन्ज़ा भी तारीख़ के मुख़तलिफ़ अदवार में बलतसतान से मलहक़ रहे हैं। बलतसतान की ग़ालिब अक्सरीयत शीया मुसलमानों पर मुशतमिल है। स्कर्दू बलतसतान का सब से बड़ा शहर और दारउलख़लाफ़ा है।

बलतसतान की तारीख़[संपादित करें]

बलतसतान का जुगराफिया[संपादित करें]

बलतसतान को छह हिस्सों में तक़सीम क्या जाता है जिन में सकुरदओ-, रौंदओ-, शिगुर, खुरमुंग, गलतरी और खपल्लू शामिल हैं।

बलतसतान के लोग[संपादित करें]

बैरूनी रवाबित[संपादित करें]

हवाला जात[संपादित करें]

  1. बी बी सी उर्दू तारीख़ 10।10।2009