बर्फ नृत्य

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
2008 के विश्व चैंपियन बर्फ नर्तकी इसाबेल डेलोबेल और ओलिविएर शोएंफेल्डर एक नृत्य लिफ्ट प्रदर्शन करते हैं। नृत्य लिफ्ट जोड़ी लिफ्टों से कई मायनों में अलग हैं।

बर्फ नृत्य शारीरिक स्केटिंग (बर्फ की सतह पर स्केट पहनकर फिसलना) का एक रूप है, जो बॉलरूम नृत्य की दुनिया से आया है। पहली बार 1952 में वर्ल्ड फिगर स्केटिंग चैंपियनशिप में इसकी प्रतियोगिता हुई, पर 1976 तक यह शीतकालीन ओलिंपिक खेलों में पदकवाला खेल नहीं बन पाया।

युगल स्केटिंग में नर्तक एक पुरुष और एक महिला की भागीदारी वाले जोड़े के तौर पर प्रतिस्पर्धा करते हैं। बर्फ नृत्य युगल स्केटिंग से अलग है, जिसमें लिफ्टों के लिए अलग-अलग जरूरतें होती हैं व एक-दूसरे को पकड़कर होने वाले नृत्य में एक टीम के रूप में घुमाव की जरूरत होती है और इस दौरान फेंकने और उछलने की मनाही होती है। आमतौर पर, जोड़ियां दो भुजाओं की लंबाई से अधिक दूरी तक अलग नहीं होती हैं, जबकि मूलत: जोड़ियों को पूरे कार्यक्रम में एक-दूसरे को पकड़कर नृत्य करना होता था, हालांकि आधुनिक बर्फ नृत्य इस प्रतिबंध को कुछ हद तक उठा लिया गया है।

बर्फ नृत्य और स्केटिंग की दूसरी विधाओं के बीच एक और अंतर प्रदर्शन के दौरान संगीत का उपयोग है; बर्फ नृत्य में नर्तक को हमेशा संगीत के मुताबिक ही स्केट करना होता है, जिसकी एक निश्चित धुन या लय होती है। एकल और युगल स्केटर्स अक्सर गीत और उसके संगीत की एक विशेष शैली के मुताबिक स्केट करते हैं, न कि उसकी लय के अनुसार, जबकि बर्फ नृत्य में इसके लिए गंभीर रूप से दंडित किया जाता है।

कुछ गैर-ISU प्रतियोगिताओं में एकल नर्तक भी प्रतिस्पर्धा कर सकते हैं।

प्रतियोगिता के घटक[संपादित करें]

बर्फ नृत्य प्रतियोगिताओं में दो घटक होते हैं: 'शॉर्ट डांस ("एसडी (SD)") और फ्री डांस ("एफडी (FD)"). मुक्त नृत्य का स्कोरिंग में अधिक महत्व होता है और इसका एक टाईब्रेकर के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। 2009-10 के सीजन के अंत तक प्रतियोगिताओं में एक या एक से अधिक कंपल्सरी डांस (अनिवार्य नृत्य) ("सीडी (CD)"), ओरिजिनल डांस (मूल नृत्य) ("ओडी (OD)") और मुक्त नृत्य शामिल थे।

अनिवार्य नृत्य[संपादित करें]

नैथली पेचैलेट और फैबियन बोर्ज़ैट ने फिनस्टेप अनिवार्य नृत्य प्रदर्शन किया।

अनिवार्य नृत्यों में प्रतियोगिता में नृत्य करने वाली सभी टीमों को समान मानक कदमताल के साथ और एक निर्धारित गति वाले संगीत के मुताबिक प्रदर्शन करना होता है। एक या एक से अधिक अनिवार्य नृत्य बर्फ नृत्य के के पहले चरण की प्रतियोगिताओं के रूप में संपन्न किये जाते थे, लेकिन वे स्केटरों के बीच मनोरंजक या सामाजिक नृत्य का एक रूप में लोकप्रिय है। अधिकांश नृत्यों के लिए पैटर्न रिंक के आधे या पूरे सर्किट को कवर करने वाले होते हैं। इंटरनेशनल स्केटिंग यूनियन (ISU) अनिवार्य नृत्यों के बारे में बतायेगा, जो हर सीजन से पहले संपन्न किये जाएंगे और अनिवार्य नृत्य बाद में विशिष्ट आयोजनों के लिए तैयार किये जायेंगे.

2010 के सीजन के बाद अनिवार्य नृत्य सभी ISU प्रतियोगिताओं में बंद कर दिये गये। 2010 के विश्व फिगर स्केटिंग चैंपियनशिप प्रतियोगिता आखिरी आयोजन था, जिसमें अनिवार्य नृत्य (द गोल्डन वाल्ट्ज) शामिल किया गया और इटली के फेडरिका फेलिया और मासिमो स्काली प्रतियोगिता में प्रदर्शन करने वाली अंतिम टीमें थीं।[1]

मूल नृत्य[संपादित करें]

टेसा वर्च्यु और स्कॉट मोइर ने अपने लोक नृत्य मूल नृत्य के रूप में फ्लैमेंको का प्रदर्शन किया।

मूल नृत्य नृत्य प्रतियोगिताओं के तीन भागों का दूसरा हिस्सा था। मूल नृत्य के लिए हर साल ISU एक ताल या तालों के सेट को तय करता है, जिसके मुताबिक ही या लोक नृत्य के रूप में एक विशिष्ट विषय के अनुसार ही सभी नतर्कों को प्रदर्शन करना होता है। प्रतियोगियों को अपने संगीत और नृत्य के चयन अनुमति दी गई। कार्यक्रम की लंबाई मुक्त नृत्य की तुलना में कम होती थी और स्केटरों को और अधिक नियमों का पालन करना होता था। नृत्य की रचना इस तरह से की जाती थी कि कदम रिंक की मध्य रेखा को पार न करें और इस नियम के साथ कुछ अपवाद भी थे, जो विकर्ण कदमताल अनुक्रम जैसे आवश्यक कदमताल क्रमों के संदर्भ में ध्यान में रखे जाते थे। जोड़ी की घनिष्ठ स्थितयां और घनिष्ठ स्केटिंग भी मूल नृत्य के लिए महत्वपूर्ण थे।

मूल नृत्य 2010 में बंद कर दिया गया था।

लघु नृत्य[संपादित करें]

2009-10 सीजन के बाद ISU कांग्रेस ने बर्फ नृत्य की प्रतियोगिताओं का स्वरूप बदलने और उन्हें और ज्यादा जोड़े और एकल स्केटिंग जैसा बनाने के लिए मतदान किया। इस प्रकार 2010-11 के सीजन के शुरू में नया लघु नृत्य पेश किया गया। प्रतिस्पर्धा के इस खंड में बंद किये गये अनिवार्य नृत्य और मूल नृत्य की विशेषताओं को मिलाया गया; प्रत्येक टीम नृत्य के आधे हिस्से तक अनिवार्य नृत्यों में से एक अपेक्षित नमूने के मुताबिक प्रदर्शित करती है और उसके बाद ISU द्वारा निर्दिष्ट विषय या लय के अनुसार कुछ आवश्यक तत्वों के साथ अपनी नृत्य रचना के हिसाब से प्रदर्शन करती है। स्केटर्स अपने खुद के संगीत के चयन के लिए स्वतंत्र होते हैं, जब तक गति उपयुक्त हैं।

मुक्त नृत्य[संपादित करें]

मुक्त नृत्य बर्फ नृत्य प्रतियोगिता का एक हिस्सा है। यह अनिवार्य नृत्य और मूल नृत्य के बाद आमतौर पर आयोजित होने वाली प्रतियोगिता के तीसरे और अंतिम हिस्से के रूप में होता है।

मुक्त नृत्य में टीमें अपनी लय, कार्यक्रम के विषय और इसलिए संगीत चुनने के लिए स्वतंत्र होती हैं। रचनात्मकता को भी काफी प्रोत्साहित किया जाता है। 1998 के बाद से नर्तकों को कदमों के क्रम, लिफ्ट, नृत्य के घुमाव और ट्विजल्स कहे जाने वाले कई तरह के घुमावों सहित ​​रोटेशन सहित उनके मुक्त नृत्य के कुछ तत्वों को शामिल करना होता है। वरिष्ठ स्तर के मुक्त नृत्य चार मिनट (प्लस या माइनस 10 सेकंड) लंबे होते हैं और उनमें आमतौर पर कई संगीतात्मक विभाजन व गतियां होती हैं जो रुटीन में विविधता लाने में मदद करती हैं। इसमें हाथ को पकड़ने और स्थितियां अनिवार्य और मूल नृत्य श्रेणियों की तुलना में अधिक खुले और स्वतंत्र होते हैं। कठिनाई अंक हासिल करने के लिए अक्सर टीमों को मुश्किल या असामान्य स्थितियों में स्केट करने का प्रयास करना होता है। मुक्त नृत्य में मूल नृत्य से अधिक लिफ्ट होते हैं।

प्रतियोगिता के तत्व[संपादित करें]

लिफ्ट[संपादित करें]

बर्फ नृत्य के लिफ्ट युगल स्केटिंग से अलग होते है, जिसमें व्यक्ति अपने जोड़े के सिर के ऊपर से हाथ ले जाने की मनाही होती है, पर हाथ से पकड़ने की व्यापक विविधताओं की अनुमति होती है। दिशा में जितना ज्यादा बदलाव, लचीलापन और लिफ्ट में परिवर्तन होगा, अंक पैमाने की संहिता के तहत जजों की ओर से टीम उतने ही ज्यादा अंक हासिल कर सकती है।

कूद और घुमाव[संपादित करें]

बहुत सारे चक्कर वाली कूद की अनुमति नहीं है। "आधा" कूद को अब अनुमति मिली है। दोनों स्केटरों को अवश्य ही एक ही धुरी के चारों ओर चक्कर काटकर घुमाव पैदा करना होता है, उसी तरह जैसे युगल घुमाव पैदा करते हैं।

बर्फ नृत्य का इतिहास[संपादित करें]

ब्रिटेन में बर्फ नृत्य की मजबूत परंपरा है। कई अनिवार्य नृत्य, जिनकी प्रतियोगिता आज भी होती है, 1930 के दशक में कई ब्रिटिश नर्तकों द्वारा विकसित किए गए और बर्फ नृत्य में पहली 16 विश्व चैंपियनशिप में से 12 में ब्रिटिश जोड़ों ने जीत हासिल की. जेनी टोरविल और क्रिस्टोफर डीन की ब्रिटिश टीम ने 1984 में साराजेवों में ओलंपिक स्वर्ण पदक जीतकर प्रसिद्धि हासिल की और इसके साथ रावेल बोलेरो में नाटकीय मुक्त स्केट कर प्रस्तुति के लिए सर्वसम्मति से 6.0 अंक अर्जित किये.

बर्फ नृत्य की ब्रिटिश शैली में मूल रूप से सीधा उठाव और घुटने को काफी मोड़कर किनारों पर पहुंचने पर बल दिया जाता था। 1960 के दशक की शुरुआत में, पूर्वी यूरोपीय स्केटरों ने ज्यादा खुली स्थितियों में नृत्य की प्रवृत्ति शुरू की, जिसमें बर्फ पर ज्यादा गति पैदा करना, शरीर के और अधिक ऊपरी हिस्सों की भागीदारी और दर्शकों के प्रति और अधिक प्रक्षेपण (प्रोजेक्शन) संभव हुआ।[2] 1970 के दशक में शीर्ष सोवियत नर्तकों ने बैले और अक्सर कथोपकथन कार्यक्रम वाले विषयों पर आधारित तत्वों को शामिल कर बर्फ नृत्य की अधिक एक नाटकीय शैली का विकास शुरू किया।[3] नृत्य की रूसी शैली में विस्तारित रेखा और गति पर ज्यादा जोर दिया गया, न कि कठिन तालबद्ध फुटवर्क पर.[4] कुछ मामलों में शरीर के ऊपरी हिस्से की विस्तृत नृत्यकला का उपयोग स्केटिंग तकनीक की मौलिक कमियों को छद्म आवरण प्रदान करने के लिए इस्तेमाल होता था।[5] हालांकि, 1990 के दशक की शुरुआत में सभी शीर्ष नृत्य दलों की प्रदर्शन दिनचर्या बॉलरूम शैली से ज्यादा नाट्य शैली वाली थी।[6][7]

इस दौरान इंटरनेशनल स्केटिंग यूनियन ने पहले संगीत और नृत्य पकड़ पर और ज्यादा पाबंदी लगाकर बर्फ नृत्य में ज्यादा नाटकीयता को नियंत्रित कर इसके बॉलरूम जड़ों की ओर लौटने का प्रयास शुरू किया। बाद में, जब यह शिकायत मिली कि बर्फ नृत्य काफी उबाऊ हो गया है तो इन प्रतिबंधों को हटा दिया गया और उसकी जगह पर वैसी आवश्यकताओं को शामिल किया गया कि नर्तक मूल नृत्य और मुक्त नृत्य में कुछ निर्दिष्ट तकनीकी तत्वों को शामिल कर सकें. इसका असर यह हुआ कि अब निर्णय करने में नाटकीयता पर कम तकनीक और मल्लवृत्ति पर अधिक जोर दिया जाता है। नर्तकों के एक निश्चित धुन के साथ संगीत पर स्केट करने की जरूरत अब भी बरकरार होने पर भी बर्फ नृत्य वर्तमान में फिगर स्केटिंग एकमात्र विधा है जो प्रतियोगिता की में गीत के साथ वाद्य संगीत की अनुमति देता है।

ऐतिहासिक परिणाम[संपादित करें]

देखें:

  • ओलंपिक में फिगर स्केटिंग
  • विश्व फिगर स्केटिंग चैंपियनशिप
  • यूरोपीय फिगर स्केटिंग चैंपियनशिप
  • चार महाद्वीपों की चैंपियनशिप
  • संयुक्त राज्य अमेरिका फिगर स्केटिंग चैंपियनशिप

संदर्भ[संपादित करें]

  1. आईएसयू (ISU) कांग्रेस समाचार
  2. बेवेरली स्मिथ, फिगर स्केटिंग: अ सेलिब्रेशन, पृष्ठ 185-186
  3. एलिन केस्टनबौम, बर्फ पर संस्कृति, पृष्ठ 228
  4. एलिन केस्टनबौम, बर्फ पर संस्कृति, पृष्ठ 246
  5. बेवेरली स्मिथ, फिगर स्केटिंग: अ सेलिब्रेशन, पृष्ठ 192-196
  6. एलिन केस्टनबौम, बर्फ पर संस्कृति, अध्याय 11
  7. बेवेरली स्मिथ, फिगर स्केटिंग: अ सेलिब्रेशन, पृष्ठ 197

बाहरी लिंक्स[संपादित करें]

साँचा:Figure skating