फेराइट

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
फेराइत के बने स्थायी चुम्बक

फेराइट (ferrite) सिरामिक चुम्बकीय पदार्थ हैं। इनकी वैद्युत प्रतिरोधकता (लगभग 10E6 Ohm-m) बहुत अधिक होती है। इस कारण अधिक आवृत्ति पर काम करने वाले ट्रान्सफार्मर एवं प्रेरकत्व (चोक) के निर्माण में इनका उपयोग किया जाता है क्योंकि अधिक प्रतिरोधकता के कारण इनमें भंवर-धारा-हानियाँ बहुत कम होतीं हैं। इनके स्थायी चुम्बक भी बनाये जाते हैं।

प्रमुख विशेषताएँ[संपादित करें]

फेराइट का क्रिस्टल जिसमें भूरे रंग वाले लोहे के परमाणु है तथा नीले रंग वाले कार्बन के परमाणु
  • फेराइट एक प्रकार का 'ठोस विलयन' है और लोहा इसका प्रमुख अवयव (constituent) है।
  • फेराइट की क्रिस्टल संरचना 'बॉडी सेन्टर्ड क्यूबिक' (Body Centered Cubic) होती है।
  • सामर्थ्य (strength) = 280 N/mm2
  • कठोरता ७० से ९० ब्रिनेल
  • लम्बाई में प्रतिशत वृद्धि (% elongation) = लगभग ४०%
  • माइल्ड स्टील (लगभग 0.2 wt% कार्बन से युक्त कार्बन स्टील) में मुख्यतः फेराइट ही होता है।

अल्फा फेराइट तथा डेल्टा फेराइट[संपादित करें]

लोहा-कार्बन का फेज-आरेख

उपयोग[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]