फिर सुबह होगी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
फिर सुबह होगी
शैली नाटक
सर्जक सौरभ श्रीवास्तव
लेखक सौरभ श्रीवास्तव
निर्देशक वसीम सबीर
सितारे गुलकी जोशी और नन्दीश साधू
निर्माण का देश Flag of भारत भारत
भाषा(एं) हिन्दी
सत्र संख्या
शृंखलाओं की संख्या ६९ जुलाई २७, २०१२ से
निर्माण
निर्माता राजेश चढा और सौरभ श्रीवास्तव
स्थल बुंदेलखंड
कैमरा सेटअप मल्टी कैमरा
निर्माण कंपनी पंग्लोसेँ एन्तेर्तैन्मेंट
प्रसारण
मूल चैनल ज़ी टीवी
छवि प्रारूप 576i (SDTV)
1080i (HDTV)
अप्रैल १७, २०१२ - अब
बाह्य सूत्र
आधिकारिक जालस्थल

फिर सुबह होगी एक भारतीय नाटक ऑपेरा श्रृंखला है कि वर्तमान में बुंदेलखंड क्षेत्र की बेदिया समुदाय, मध्य प्रदेश के बारे में ज़ी टीवी पर ऐर जाता है[1] पर प्रीमियर हुआ ૧૭ अप्रैल, ૨૦૧૨। यह हर सोम - शुक्र ૦૯:૩૦ ऐर। यह महाबलेश्वर के पास वाई गांव[2] में गोली मार दी जा रही है।

कहानी[संपादित करें]

यह कहानी सुगनी नामक एक लड़की की है। जिसका कोई लक्ष्य नहीं था और कोई आशा भी नहीं था। वह केवल अपने माँ के जैसे वही कार्य को कर रही थी। लेकिन उसे जब बाहरी दुनिया के बारे में पता चलता है तो उसे भी इच्छा होती है की वह भी उसी प्रकार जीवन बिताए जैसे अन्य लोग। इसी पर यह कहानी आधारित है।

कलाकार[संपादित करें]

पुरस्कार[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]