प्रवर्धन (भौतिकी)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

इलेक्ट्रॉनिक्स में किसी निर्बल संकेत के आयाम (या शक्ति) को बढ़ाना प्रवर्धन (Amplification) कहलाता है। वह परिपथ जो किसी संकेत का आवर्धन करता है, प्रवर्धक कहलाता है। प्रवर्धन की क्षमता को "प्रवर्धन गुणांक" (Amplification factor) अथवा "लब्धि" (Gain) के रूप में मापा जाता है। इसे आमतौर पर किसी प्रणाली के संकेत आउटपुट और संकेत इनपुट के माध्य अनुपात के रूप में परिभाषित किया जा सकता है। इसे उसी अनुपात के दशमलव लघुगणक के रूप में भी परिभाषित किया जा सकता है।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]