प्रत्यय-पत्र

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
Wiktionary-logo-en.png
credential को विक्षनरी में देखें।

प्रत्यय-पत्र (क्रेडेंशियल) , अर्हता, योग्यता, या तीसरे पक्ष द्वारा किसी व्यक्ति को आवश्यक क़ानूनी या वास्तविक अधिकार अथवा ऐसा करने के कल्पित अधिकार के साथ जारी प्राधिकार का एक अनुप्रमाणन होता है.

प्रत्यय-प्रत्रों के उदाहरण में शैक्षणिक डिप्लोमा, शैक्षणिक डिग्री, प्रमाणन, सुरक्षा निकासी-पत्र, पहचान प्रलेख, बिल्ला, पासवर्ड, प्रयोक्ता का नाम (यूज़र नेम), कुंजियां (की), अधिकार पत्र (पॉवर ऑफ ऐटॉर्नी) इत्यादि शामिल होते हैं. कभी-कभी प्रकाशन, जैसे वैज्ञानिक पत्रों या पुस्तकों को कुछ लोग प्रत्यय-पत्र के समान मानते हैं, विशेषकर यदि प्रकाशन का पूर्व में पुनरीक्षण हुआ हो अथवा वह सुप्रसिद्ध जर्नल या प्रतिष्ठित प्रकाशन में आया हो.

प्रत्यय-पत्र के प्रकार तथा प्रलेखन[संपादित करें]

जिस व्यक्ति के पास कोई प्रत्यय-पत्र होता है, उसे प्रत्यय-पत्र के साक्ष्य के रूप में प्रायः प्रलेखन या गुप्त सूचनाएं (अर्थात् , कोई पासवर्ड या कुंजी (की)) दी जाती है. कभी-कभी यह साक्ष्य (या इसकी एक प्रति) किसी तीसरे भरोसेमंद पक्ष द्वारा रख लिया जाता है. जबकि कुछ स्थितियों में प्रत्यय-पत्र किसी कागजी सदस्यता कार्ड जैसे सरल रूप में हो सकता है, वहीं अन्य स्थितियों, जैसे राजनय में, सीधे प्रत्यय-पत्र के जारीकर्ता द्वारा दिए पत्रों की प्रस्तुति हो सकती है, जिसमें किसी समझौता वार्ता या बैठक में उनका प्रतिनिधित्व करने वाले व्यक्ति के प्रति विश्वास जाहिर करने वाले विवरण होते हैं.

प्रत्यय-पत्र चाहे किसी प्रकार का हो, प्रत्यय-पत्र की जालसाजी एक स्थाई और गंभीर समस्या है. जालसाजी को कम करने या रोकने के तरीके ढूंढने में बहुत प्रयास किया गया है. आमतौर पर, प्रत्यय-पत्र का ज्ञात मूल्य जितना अधिक होता है जालसाजी की स्थिति में उतनी ही बड़ी समस्या उत्पन्न होती है और जालसाजी रोकने के लिए प्रत्यय-पत्र के जारीकर्ता को उतना ही अधिक परिश्रम करना पड़ता है.

नीचे प्रत्यय-पत्रों एवं उनसे संबंधित प्रलेखन के कुछ उदाहरण दिए गए हैं; यह सूची सरल और रोचक है.

राजनय[संपादित करें]

राजनय में प्रत्यय-पत्र ऐसे दस्तावेज होते हैं जो राजदूतों, राजनयिक मंत्रियों, पूर्णाधिकारी एवं प्रभारी द्वारा सामान्य तौर पर राजदूतोंके राजनयिक ओहदे की जानकारी देने के लिए उस सरकार को उपलब्ध कराया जाता है जिसके साथ उन्हें काम करना होता है. इसमें इस आशय का अनुरोध भी होता है कि उनके आधिकारिक बयान को पूर्ण विश्वसनीय माना जाए. जबतक अधिकारी के द्वारा सौंपे गए प्रत्यय-पत्र को सही न पाया जाए किसी दूत को आधिकारिक मान्यता नहीं मिलती. राजदूत अथवा मंत्री पूर्णाधिकारी के प्रत्यय-पत्रों पर उनके देश के राष्ट्राध्यक्ष का हस्ताक्षर होता है जबकि प्रभारी राजदूतों के प्रत्यय-पत्र पर संबद्ध विदेश मंत्री का हस्ताक्षर रहता है. राजनयिक प्रत्यय-पत्र जारीकर्ता प्राधिकार की मर्जी से, व्यापक मानदंडों के आधार पर, प्रदान किए अथवा वापस लिए जाते हैं.

चिकित्साशास्त्र[संपादित करें]

चिकित्साशास्त्र के क्षेत्र में प्रत्ययन की प्रक्रिया किसी चिकित्सक को, अतीत में वह जिस किसी भी संस्थान में कार्यरत रहा हो, वहां उसे प्राप्त अनुमति का एक विशद् पुनरावलोकन है जिसका उद्देश्य नए संस्थान में उसकी विश्वसनीयता बनाने के लिए जोखिम की रूपरेखा निर्धरित करना है. अधिकतर चिकित्सकों के पास, जहां वे कार्यरत हैं वहां की सरकार द्वार जारी की गई अनुज्ञप्ति के रूप में भी प्रत्यय-पत्र होना चाहिए जिसे वे उपयुक्त शिक्षा, प्रशिक्षण तथा/या व्यावहारिक अनुभव प्राप्त करने के बाद हासिल करते हैं. ज्यादातर चिकित्सकीय प्रत्यय-पत्र जीवनभर के लिए दिए जाते हैं किंतु धारक द्वारा किसी प्रकार की जालसाजी अथवा कदाचार करने पर इसे वापस लिया जा सकता है.

सूचना तकनीक[संपादित करें]

सूचना तकनीक के क्षेत्र में प्रत्यय-पत्रों का प्रयोग व्यापक रूप से सूचनाओं अथवा अन्य संसाधनों तक पहुंच को विनियमित करने हेतु किया जाता है. प्रयोक्ता की अकाउंट संख्या अथवा नाम एवं एक गोपनीय पासवर्ड का उत्कृष्ट मेल आईटी प्रत्यय-पत्रों का व्यापक रूप से प्रयुक्त होने वाला उदाहरण है. सूचना तंत्रों के विस्तृत हो रहे क्षेत्र में प्रत्यय-पत्रों के अन्य प्रलेखन रूपों का उपयोग किया जाता है जैसे उंगलियों के निशान, ध्वनि पहचान, रेटिना चित्रण, X.509 पब्लिक की सर्टिफिकेट इत्यादि.

परिचालक के लिए अनुज्ञप्ति प्रदायन[संपादित करें]

अनेक प्राधिकार क्षेत्रों में, मोटरगाड़ियों, नावों एवं हवाई जहाजों जैसे वाहनों के परिचालकों के पास सरकार द्वारा जारी की गई अनुज्ञप्ति के रूप में प्रत्यय-पत्रों का होना आवश्यक है. अक्सर अनुज्ञप्ति के प्रलेखन में परिचालकों को साधारण कार्ड अथवा प्रमाणपत्र दिया जाता है जिसे परिचालक वाहन के परिचालन के दौरान अपने साथ रखता है, बकि अनुज्ञप्ति का एक पुरालेखीय दस्तावेज किसी केन्द्रीय स्थल पर सुरक्षित रहता है. सफल प्रशिक्षण की अवधि एवं/अथवा परिक्षण के बाद परिचालक को अनुज्ञप्ति प्रदान की जाती है.

इस प्रकार के प्रत्यय पत्र के साथ प्राय: अच्छे स्वास्थ्य का प्रमाणपत्र एवं मनोवैज्ञानिक मूल्यांकन तथा मादक द्रव्यों के अतिसेवन के जांच के प्रमाणपत्र का होना भी आवश्यक हो सकता है.

परिचालक अनुज्ञप्ति प्राय: एक निश्चित समय पर समाप्त हो जाती है और इसलिए समय-समय पर इसका नवीकरण कराते रहना चाहिए. नवीकरण केवल एक औपचारिकता हो सकती है अथवा इसके लिए पुन: नए सिरे से जांच एवं प्रशिक्षण की आवश्यकता हो सकती है.

बीज-लेखन[संपादित करें]

बीज-लेखन में प्रत्यय-पत्र द्वारा संचार हेतु व्यक्ति की पहचान स्थापित की जाती है. आमतौर पर वे मशीन द्वारा पढ़े जाने योग्य बीज-लेखन कुंजियों तथा/अथवा पासवर्डों के रूप में होते हैं. बीज-लेखन युक्त प्रत्यय-पत्र स्वयं द्वारा जारी किया हुआ अथवा किसी विश्वसनीय तीसरे पक्ष द्वारा जारी किया हुआ हो सकता है. कई स्थितियों में इसके जारी करने का एक मात्र मानदंड यह होता है कि प्रत्यय-पत्र असंदिग्ध रूप से किसी विशिष्ट, वास्तविक व्यक्ति या अन्य तत्व से संबद्ध हो. बीज-लेखन प्रत्यय-पत्र को इस तरह बनाया जाता है कि एक निश्चित अवधि के बाद वह समाप्त हो जाए, हालांकि यह अनिवार्य नहीं होता. x.509 प्रमाणपत्र बीज-लेखन प्रत्यय-पत्र का एक उदाहरण है.

पहचान[संपादित करें]

साधारणतया किसी व्यक्ति की पहचान स्थापित करने वाले प्रत्यय-पत्र व्यापक रूप से प्रयुक्त होते हैं. प्रलेखन में प्राय: एक पहचानपत्र (कभी-कभी एक ऐसा प्रत्यय-पत्र जो वाहन चालक अनुज्ञप्ति जैसे अन्य उद्देश्यों के लिए भी प्रयुक्त होता है), एक बिल्ला (प्राय: मशीन द्वारा पढ़े जाने योग्य) इत्यादि होते हैं, जिन्हें कुछ पहचान सत्यापनों के बाद किसी विश्वसनीय तृतीय पक्ष द्वारा किया जाता है. अनेक पहचान प्रलेखनों में वैध धारक का प्रत्यय पत्र से संबंध सुनिश्चित करने में मदद के लिए फोटो का प्रयोग किया जाता है. कुछ प्रत्यय-पत्रों में बायोमेट्रिक सूचनाएं, पासवर्ड, पिन (PINs) इत्यादि होते हैं जिनसे आगे किसी प्रकार की जालसाजी होने की संभावना को कम किया जा सके. पहचान प्रत्यय-पत्रों में जालसाजी सबसे अधिक होती है.

प्रायः पहचान प्रलेख जीवन भर के लिए जारी किए जाते हैं किंतु कुछ ऐसे भी होते हैं जिन्हें एक निश्चित समय पर नवीकृत कराना पड़ता है, खासकर यदि वे पहचान के अलावा किसी अन्य उद्देश्य के लिए भी प्रयुक्त किए जाते हों. उदाहरण के लिए कुछ वर्षों के बाद पासपोर्ट की वैधता समाप्त हो जाती है जबकि समापन के बाद भी पहचान हेतु उन्हें प्रयुक्त किया जा सकता है, किंतु यात्रा प्रलेख जैसे किसी अन्य रूप में उनका प्रयोग नहीं किया जा सकता.

सुरक्षा निकासी-पत्र[संपादित करें]

सैन्य एवं सरकारी संगठनों में, साथ ही कुछ निजी संगठनों में भी, सूचनाओं के विभाजन की एक प्रणाली होती है जिससे संवेदनशील अथवा गोपनीय मानी जाने वाली सूचनाओं के अनियंत्रित रूप से प्रसारित होने को रोका जाता है. जिन व्यक्तियों को ऐसी सूचनाएं हासिल करने की वैध आवश्यकता होती है उनके लिए सुरक्षा निकासी-पत्र जारी किया जाता है जिसे, यह सुनिश्चित करने के लिए कि किसी भी आधिकृत व्यक्ति की पहुंच संरक्षित सूचनाओं तक न हो, ट्रैक एवं सत्यापित किया जा सकता है.

सुरक्षा निकासी-पत्र अत्यंत सावधानी से सुरक्षित किए गए प्रत्यय-पत्रों में से एक है. प्राय: किसी व्यक्ति को ऐसे प्रत्यय-पत्र लंबी जांच-पड़ताल के बाद ही दिए जाते है और वह भी केवल तब जब कि जारीकर्ता अधिकारी को पर्याप्त रूप से उचित लगे कि संरक्षित सूचना तक उस व्यक्ति की पहुंच नितांत आवश्यक है. सबसे अधिक व्यापक एवं सावधानीपूर्वक तरीके से निर्मित सुरक्षा निकास प्रणाली दुनियाभर के सैन्य संगठनों में पाई जाती है. इस प्रकार के कुछ प्रत्यय-पत्रों को इतना संवेदनशील माना जाता है उनके धारकों को इस बात की भी अनुमति नहीं होती कि वे (केवल प्राधिकृत व्यक्तियों को छोड़कर) किसी अन्य व्यक्ति पर यह जाहिर करे कि उनके पास ऐसा प्रत्यय-पत्र है.

सुरक्षा निकासी-पत्र के जरिए सुरक्षा में सेंध लगाने वालों को विशिष्ट सांविदिक कानून द्वारा दंडित किया जाता है, खासकर यदि सुनियोजित जासूसी हेतु ऐसा किया गया हो; जबकि ज्यादातर अन्य जालसाजियों एवं प्रत्यय-पत्रों के दुरुपयोग के मामले में कानून द्वारा तभी सजा दी जाती है जब उनका प्रयोग खास संदर्भों में जान-बूझकर जालसाजी के लिए किया गया हो.

सुरक्षा निकासी के प्रलेखन में आमतौर पर सुरक्षा एजेंसी के पास व्यक्ति के बारे में सारे रिकॉर्ड्स होते हैं और प्राधिकृत पक्ष द्वारा मांग किए जाने पर उनका सत्यापन किया जाता है.

सुरक्षा निकास-पत्रों को ऐसी स्थितियों में नियमित रूप से वापस ले लिया जाता है जब उनके जारी रहने को जरूरी नहीं समझा जाता अथवा जब उनके धारक व्यक्तियों को सुरक्षा की दृष्टि से खतरनाक समझा जाता है.

पत्रकारिता[संपादित करें]

अनेक लोकतांत्रिक देशों में किसी भी प्रकार के प्रकाशन के लिए राष्ट्रीय अथवा संघीय स्तर पर प्रेस प्रत्यय-पत्र की आवश्यकता नहीं होती. हालांकि, किसी निगम एवं कुछ सरकारी अथवा सैन्य संगठनों के लिए प्रेस के सदस्यों को तस्वीरें लेने अथवा वीडियो बनाने, प्रेस कॉन्फ्रेंस अथवा साक्षात्कार की अनुमति देने हेतु औपचारिक आमंत्रण के रूप में प्रेस-पास जैसे प्रेस प्रत्यय-पत्र की आवश्यकता हो सकती है, जो उन्हें तस्वीरें लेने अथवा वीडियो बनाने, प्रेस कॉन्फ्रेंस अथवा साक्षात्कार की अनुमति प्रदान करता है. प्रेस प्रत्यय-पत्र यह दर्शाता है कि व्यक्ति किसी ज्ञात प्रकाशन के लिए कार्य करने हेतु सत्यापित है और साथ ही एक प्रेस पास धारक व्यक्ति को विशेष सम्मान अथवा विशेष स्थानों तक पहुंच की अनुमति प्रदान करता है.

कुछ सरकारों द्वारा यह नियमन किया जाता है कि कौन सा व्यक्ति पत्रकार के रूप में कार्य कर सकता है, जिसके लिए प्रेस हेतु कार्यरत व्यक्ति को सरकार द्वारा जारी प्रत्यय-पत्र साथ रखना पड़ता है. प्रेस प्रत्यय-पत्रों पर पाबंदी लगाना समस्याओं का कारण बन सकता है क्योंकि ऐसा करना प्रेस की आजादी पर पाबंदी लगाना है, खासकर यदि सरकार की नीतियों के आलोचना करने से रोकने हेतु सरकारी नेताओं द्वारा प्रत्यय-पत्र चयनित रूप से प्रदान किए जाएं, रोक रखे जाएं अथवा रद्द कर दिए जाएं. इस प्रकार से पत्रकारिता को नियंत्रित करने वाले सरकार के अधीन प्रकाशित किसी भी प्रेस कवरेज को लोगों द्वारा शक की निगाह से देखा जाता है और सत्य अथवा सूचनाप्रद माने जाने के बजाए उन्हें केवल झूठे सरकारी प्रचार के रूप में माना जाता है.

वाणिज्य प्रत्यय-पत्र[संपादित करें]

कुछ अधिकार क्षेत्रों के कुछ वाणिज्यों तथा व्यवसायों में किसी व्यक्ति को व्यापार या व्यवसाय करने हेतु विशेष प्रत्यय-पत्र की आवश्यकता होती है. ये प्रत्यय-पत्र विशिष्ट योग्यता या दक्षता से जुड़ें हो सकते हैं या नहीं भी हो सकते हैं. वेतनों तथा मजदूरियों को नियंत्रित करने के लिए कुछ स्थितियों में वे कुछ सीमित संख्या में ऐसे लोगों के पास होते हैं, जिन्हें वाणिज्य या व्यवसाय करने की अनुमति मिली हो.

व्यापारी, स्वतंत्र कर्मियों (फ्रीलांसर) इत्यादि के रूप में कार्य करने वाले व्यक्तियों को भी कुछ अधिकारक्षेत्रों में विशेष प्रत्यय-पत्रों की आवश्यकता हो सकती है. यहां भी इसका उद्देश्य मुख्य रूप से इस तरीके से कार्य करने वाले लोगों की संख्या पर नियंत्रण लगाना है तथा कभी-कभी वे टैक्स-सूचना प्राप्त करने या लोक मूल्यांकन हेतु अन्य उद्देश्यों के लिए भी होते हैं.

शैक्षिक प्रत्यय-पत्र[संपादित करें]

शैक्षिक दुनिया में प्रत्यय-पत्रों, जैसे विशिष्ट प्रशिक्षण या छात्रों द्वारा शैक्षणिक कार्यक्रमों को पूरा करने तथा उनकी जांच तथा परीक्षाओं की सफलतापूर्वक समाप्ति के सत्यापन में डिप्लोमा, प्रमाणपत्र तथा डिग्रियों का काफ़ी गहन रूप से उपयोग किया जाता है.

शैक्षिक प्रत्यय-पत्रों के प्रलेखन में प्रायः एक छपा हुआ, औपचारिक दस्तावेज होता है, जो विकृत हुए बिना पूरी ज़िदगी साथ रहने के लिए तैयार किया गया होता है. साथ ही जारी करने वाला संस्थान प्रायः प्रत्यय-पत्रों के ब्योरे रखता है. शैक्षिक प्रत्यय-पत्र सामान्यतः जारी किए जाने वाले व्यक्ति के जीवन काल तक वैध रहते हैं.

उपाधियां[संपादित करें]

उपाधियां ऐसे प्रत्ययपत्र होते हैं जो किसी व्यक्ति के एक विशिष्ट समूह से जुड़े होने की पहचान करवाता है, जैसे उत्कृष्टता या अभिजात्य वर्ग अथवा सेना में विशिष्ट कमांड श्रेणी या अन्य में व्यापक रूप से सांकेतित तरीके से. वे विशिष्ट प्राधिकार से जुड़े हो सकते हैं या नहीं भी हो सकते तथा उनके साथ प्रायः कोई विशिष्ट योग्यता या क्षमता (यद्यपि वे उन प्रत्यय-पत्रों से जुड़े हो सकते हैं, जो ऐसा करते हों) नहीं जुड़ी होती. ऐसी उपाधियों की एक आंशिक सूची में निम्नलिखित शामिल हैं:

  • व्यक्तिगत उपाधियां, जैसे लॉर्ड (Lord) , नाइट (Knight) , राइट ऑनरेबल (Right Honourable) , जो एक औपचारिक शक्ति संरचना के भीतर एक अर्जित या वंशानुगत श्रेणी या स्थिति का संकेत देती हैं;
  • कमांड श्रेणी, जैसे कैप्टेन (Captain) , सार्जेंट (Sergeant) , इत्यादि, जो उसी प्रकार किसी कमांड पदानुक्रम में अत्यंत विशिष्ट स्थिति, अर्थात् पुलिस श्रेणी या सेना की श्रेणी;
  • एक शैक्षिक डिग्री या व्यावसायिक पद जैसे पीएचडी (PhD), पी.इंज (P.Eng) या एम. डी. (M.D.), चाहे यह शुद्ध रूप से मानद् या सांकेतित हो सकता है या विशिष्ट योग्यता, शिक्षा या दक्षता वाले प्रत्यय-पत्रों के साथ जुड़ा हो सकता है;
  • मजदूर यूनियन तथा क्लब की सदस्यता;
  • विशेष कार्यक्रमों, जैसे संगीत समारोहों तथा प्रदर्शन कार्यक्रमों के दौरान विशिष्ट क्षेत्रों तक जाने के लिए अनुमति वाले व्यक्ति;
  • पासपोर्ट तथा जन्म प्रमाणपत्रों के रूप में नागरिकता.

इंटरनेट आइडी[संपादित करें]

‘पीपल’ सर्च इंजन ("people" search engines) तथा सोशल नेटवर्किंग साइट (social networking sites), जो वेबसाइटों को खोजने की बजाए लोगों की खोज करता है, के चालू होने के बाद से स्पैमिंग तथा पहचान की चोरी के कारण ऑनलाइन प्रत्यय पत्रों को पुनः सत्यापित करने की आवश्यकता उत्पन्न हो गई है.

कई कंपनियां अब अपने भविष्य के कर्मचारियों के बारे में संकेत के लिए वेब पर खोज करते हैं.[1] कई कंपनियों के मानव संसाधन प्रबंधन (एचआरएम) (HRM) ने वेबसाइटों, ब्लॉगों तथा संभावित उम्मीदवारों के ब्योरों में रुचि ली है.

अमेरिका में कई कंपनियां हैं जो लोगों द्वारा की गई या उनके बारे में नकारात्मक टिप्पणियों के रूप में “पूर्व त्रुटियों” को सुधारने की पेशकश कर रही हैं.

इन्हें भी देंखे[संपादित करें]

  • शैक्षणिक डिग्री
  • प्रवेश बिल्ला
  • प्रवेश नियंत्रण
  • सामान्य प्रवेश कार्ड
  • डिप्लोमा
  • आइडी (ID) कार्ड
  • की कार्ड
  • मैग्नेटिक स्ट्राइप कार्ड
  • शारीरिक सुरक्षा
  • सामीप्य कार्ड
  • सुरक्षा निकासी पत्र
  • स्मार्ट कार्ड
  • स्वाइप कार्ड
  • डिजिटल प्रत्यय-पत्र
  • डीफ़हुड

बाहरी लिंक[संपादित करें]

  • USPRESSASSOCIATION.ORG - USPRESSASSOCIATION.ORG, फ्रीलांस प्रेस पास – ‘अमेरिकी प्रेस असोसिएशन’, स्वीकृत उम्मीदवारों के लिए शुल्क आधारित प्रत्यय-पत्र की पेशकश करता है. वे मीडिया के उत्थान में मदद करते हैं तथा स्वतंत्र पत्रकारों को नवीन मीडिया प्रवेश उपलब्ध कराते हैं. यह संगठन एक संपिंडित रूप से संचालित इस उद्योग में स्वतंत्र पत्रकारों को स्थापित होने में मदद करता है.

संदर्भ[संपादित करें]

  1. सीबीएस (CBC) समाचार, "इम्प्लोयर्स लूक एट फेसबूक, टू", 20 जून 2006.