प्रजा राज्यम पार्टी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
Praja Rajyam Party
मुख्यालय Hyderabad
भारत की राजनीति
राजनैतिक दल
चुनाव


'प्रजा राज्यम |' (तेलुगू: ఫ్రజా రాజ్యం अनुवाद: प्रजा का राज्य[1]) तेलुगू[[]] सिनेमा अभिनेता चिरंजीवी द्वारा अगस्त 26, 2008 को भारत के आंध्र प्रदेश राज्य में स्थापित क्षेत्रीय राजनैतिक पार्टी है.[2] '









इतिहास[संपादित करें]

मीडिया और राजनैतिक हलकों में चिरंजीवी के राजनीति में उतरने की अत्यंत प्रत्याशा थी.[3][4]

    2007 के उत्तरार्ध के दौरान यह सूचना दी गई थी कि वह लोगों की राय मांग रहे थे, मीडिया ने सुझाव भी दिया कि वह जनवरी 2008 में निर्णय की घोषणा करेंगे.[3] सत्तारूढ़ भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस और तेलुगू देशम पार्टी के

विकल्प के रूप में उन्होंने अपने मूल राज्य आंध्र प्रदेश में अपनी राजनैतिक पार्टी शुरू की.[5]

वर्तमान[संपादित करें]

चिरंजीवी ने अपनी पहली सार्वजनिक बैठक[2] अगस्त 26, 2008 को120 एकड़ (0.49 किमी2) तिरुपति के पास एविलेला टैंक पर आयोजित की. उन्होंने दस लाख लोगों की सभा को संबोधित किया और पार्टी का नाम और अपना कार्यवृत घोषित किया. पार्टी ध्वज, जो ऊपर से ऊंचाई में 3/4 सफ़ेद रंग का है और नीचे 1/4 हरे रंग का है, बैठक में अनावृत किया गया. ध्वज के बीच में एक लाल रंग के रवि का प्रतीक पीले रंग की रेखा के साथ घिरा हुआ है. पीले रंग के चक्र के आसपास और परे 24 लाल रंग की किरणें हैं.


हरा रंग "किसानों को सलामी" है, लाल प्रतीक है "परिवर्तन और क्रांति का", सूर्य के चारों ओर पीली किनारी "हर घर में खुशी" का प्रतीक है, सफ़ेद "स्वच्छ प्रशासन और पारदर्शिता" का प्रतीक है, मध्य में सूर्य परिवर्तन और क्रांति की जरूरत पर ज़ोर देता है.

जिस दिन पार्टी के नाम की घोषणा की गई उसी दिन चिरंजीवी के प्रतिनिधियों ने पार्टी पंजीकरण के लिए भारत के चुनाव आयोग को आवेदन प्रस्तुत कर दिया.[6]

विलय[संपादित करें]

नव तेलंगाना पार्टी(NTP), एक पूर्व मंत्री और पूर्व तेदेपा के नेता देवेन्द्र गौड़ के नेतृत्व वाली पार्टी का प्रजाराज्यम के साथ विलय हुआ है. एनटीपी एक राजनीतिक इकाई है जो तेलंगाना राज्य के गठन के लिए के अभियान कर रही है और आंध्र प्रदेश के तेलंगाना क्षेत्र में इसका मजबूत आधार है. विलय के बाद, श्री गौड़ को प्रजाराज्यम पार्टी का उपाध्यक्ष बनाया गया.

चिरंजीवी ने भी राष्ट्रीय स्तर पर एक "चौथा मोर्चा" बनाने के प्रयासों के लिए अपना समर्थन व्यक्त किया है.

2009 के चुनाव[संपादित करें]

विधानसभा की 294 सीटों में से इसने 18 सीटें जीतीं. पार्टी के नेता चिरंजीवी ने दो विधानसभा सीटों तिरुपति और पैलाकोल से चुनाव लड़ा और वह तिरूपति में जीते. इसे 17% वोट मिले, 18 विधानसभा सीटें जीती, लोकसभा सीटों की स्थिति शून्य.[7]

पीआरपी घोषणापत्र[संपादित करें]

पीआरपी के चुनावी घोषणा पत्र के अनुसार पार्टी सिंचाई परियोजनाओं के निर्माण में कांग्रेस सरकार द्वारा भ्रष्टाचार की उच्च न्यायालय के वर्तमान न्यायाधीश द्वारा जांच कराएगी.


घोषणापत्र प्रत्येक गरीब परिवार को प्रति माह रसोई गैस सिलेंडर और 200 रुपए की किराने की वस्तुओं, गरीबों में भूमि वितरण और चरणों में सम्पूर्ण नशाबंदी का वादा करता है.

घोषणा पत्र में, चिरंजीवी ने कहा कि सत्ता में आने पर उनकी पार्टी द्वारा हस्ताक्षरित पहली फ़ाइल हर गरीब परिवार के लिए प्रति माह 100 रुपये की किराने की वस्तुओं और 100 रुपए के लिए रसोई गैस सिलेंडर की आपूर्ति संबंधी होगी.


घोषणापत्र में तेलुगू देशम पार्टी की गरीबों को मुफ़्त रंगीन टेलीविज़न और नकद हस्तांतरण योजना तथा कांग्रेस द्वारा लागू की जा रही 2 रुपए किलो के चावल जैसी योजनाओं के विरोध में कई लोकलुभावन योजनाओं का वादा किया गया है.

  किराने की योजना का उद्देश्य गरीबों को खाद्य सुरक्षा उपलब्ध कराना था.

पीआरपी ने भूमि सुधार लागू करने और भूमिहीन गरीब को दो से5 एकड़ (20,000 मी2)भूमि आबंटित करने का वादा किया.

पार्टी ने ग्रामीण स्तर निकायों को अधिकार और वित्त स्थानांतरण द्वारा 'ग्राम स्वराज' लाने की कसम भी खाई.


किसानों को मुफ़्त बिजली की मौजूदा योजना जारी रखने का वादा करते हुए घोषणा पत्र में कहा गया कि अवधि मौजूदा सात घंटे से बढ़ाकर 10 घंटे कर दी जाएगी. इसके अनुसार किसानों के लिए पेंशन योजना शुरू करके उन्हें सामाजिक सुरक्षा प्रदान की जाएगी.

घोषणा पत्र में किए गए वादे के अनुसार, एक और लोकलुभावन योजना के तहत सरकार हर नवजात कन्या के नाम पर 100, 000 रूपए जमा करेगी. जब वह 18 वर्ष की होगी तब उसे राशि का भुगतान किया जाएगा.

सभी महिलाओं को किंडरगार्टन (केजी) से स्नातकोत्तर (पी.जी.) स्तर तक नि:शुल्क शिक्षा प्राप्त होगी. महिला स्वयं-सहायता DWACRA समूहों के सदस्यों को ब्याज मुक्त ऋण उपलब्ध कराया जाएगा. शिक्षकों की नियुक्ति में भी महिलाओं को 50 प्रतिशत आरक्षण प्रदान किया जाएगा.

पीआरपी ने 1,000 दिनों में पांच लाख नौकरियों के सृजन का वादा किया. यह भी कहा कि हर बेरोजगार युवा को 1,000 रुपए महीने का बेरोजगारी भत्ता देगी और आश्वासन दिया कि विकलांग को 1,500 रुपए मासिक पेंशन मिलेगी.

पार्टी ने कहा कि यह चरणों में सम्पूर्ण नशाबंदी लागू करने और सभी 'बेल्ट दुकानें' (लाइसेंस प्राप्त शराब की दुकानों के अवैध काउंटर) बंद करने की कोशिश करेगी.

तेलंगाना राज्य के मुद्दे पर पीआरपी/ चिरंजीवी[संपादित करें]

अलग तेलंगाना के वादे के साथ प्रजा राज्यम पार्टी ने 2009 के आम चुनावों में प्रवेश किया. पीआरपी प्रमुख चिरंजीवी ने तेलंगाना क्षेत्र में सक्रिय रूप से प्रचार किया. अलग राज्य के मुद्दे पर उन्होंने तेलंगाना में बहुत भावुक भाषण दिए. हालांकि, इस रणनीति से 2009 के आम चुनावों में मदद नहीं मिली क्योंकि

सभी प्रमुख राजनीतिक दलों (यानि कांग्रेस, तेलुगू देशम पार्टी, तेलंगाना राष्ट्र समिति, भाकपा, भाजपा) ने अलग तेलंगाना के गठन का समर्थन किया. इससे पीआरपी को तेलंगाना क्षेत्र में केवल दो विधानसभा सीटों (119 विधानसभा क्षेत्रों में से) की बढ़त मिली और कोई संसदीय सीट नहीं मिली.

7 दिसंबर 2009 को पार्टी की सर्वदलीय र्बठक के दौरान, पीआरपी प्रमुख और पीआरपी विधायकों ने पृथक तेलंगाना राज्य के गठन का समर्थन किया.

9 दिसम्बर 2009 को भारत सरकार ने एक अलग तेलंगाना राज्य की मांग को सहमति दे दी जिसके लिए प्रक्रिया शुरू की जाएगी और आंध्र प्रदेश विधानसभा में एक उपयुक्त संकल्प पेश किया जाएगा.

 गृह मंत्री के बयान के बाद, पीआरपी विधायकों ने संयुक्त राज्य के समर्थन के लिए इस्तीफ़ा दे दिया. उन्होंने तेलंगाना के लिए भी समर्थन दिया था.[8] 

पीआरपी प्रमुख ने भी इस डर से राज्य विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफ़ा दे दिया कि कहीं वह तटीय आंध्र और रायलसीमा क्षेत्र के लोगों का विश्वास न खो बैठें.

 अलग तेलंगाना के मुद्दे लेकर वह चुनाव में खड़े हुए थे और अब खुद ही संयुक्त आंध्र की खातिर इस्तीफ़ा दे दिया.



बाह्य लिंक[संपादित करें]

संदर्भ[संपादित करें]

  1. "Chiranjeevi names his political party 'Praja Rajyam'". Indo-Asian News Services (Hindustan Times). 2008-08-26. http://www.hindustantimes.com/StoryPage/StoryPage.aspx?sectionName=Cricket&id=853b4990-b9d1-44e5-a6ec-d92e91d464b5&MatchID1=4731&TeamID1=2&TeamID2=3&MatchType1=2&SeriesID1=1193&PrimaryID=4731&Headline=Chiranjeevi+launches+%27Praja+Rajyam%27&strParent=strParentID. अभिगमन तिथि: 2008-08-26. 
  2. "Chiranjeevi launches 'Praja Rajyam'". Press Trust of India (The Hindu). 2008-08-26. http://www.hindu.com/thehindu/holnus/000200808262032.htm. अभिगमन तिथि: 2008-08-26. 
  3. "Andhra Pradesh: Chiranjeevi entering politics?". Press Trust of India (Rediff.com). 2007-12-07. http://www.rediff.com/news/2007/dec/05ap.htm. अभिगमन तिथि: 2008-08-26. 
  4. "So what's cooking Chiru?". Times News Network (Indiatimes.com). 2007-09-05. http://timesofindia.indiatimes.com/India_Buzz/So_whats_cooking_Chiru/articleshow/2337261.cms. अभिगमन तिथि: 2008-08-26. 
  5. IANS (2008-08-17). "Telugu superstar Chiranjeevi enters politics". Agencies (ThaIndian). http://www.thaindian.com/newsportal/politics/telugu-superstar-chiranjeevi-enters-politics_10085162.html. 
  6. "Chiranjeevi moves EC for registration of his party". Press Trust of India (The Hindu). 2008-08-26. http://www.hinduonnet.com/thehindu/holnus/001200808262033.htm. अभिगमन तिथि: 2008-08-26. 
  7. "Chiranjeevi leader of PRP legislature party in Andhra". Thaindian News. 18 May 2009. http://www.thaindian.com/newsportal/politics/chiranjeevi-leader-of-prp-legislature-party-in-andhra_100194193.html. 
  8. "Centre agrees to form Telangana state". http://www.business-standard.com/india/news/centre-agrees-to-form-telangana-state/379142/. 

साँचा:Indian political parties