पास-थ्रू प्रमाणपत्र

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
यह लेख आज का आलेख के लिए निर्वाचित हुआ है। अधिक जानकारी हेतु क्लिक करें।
पास थ्रु सर्टिफ़िकेट का सीधा अर्थ है, कि जारीकर्ता कंपनी ने मूल-स्वामी से रकम प्राप्त कर निवेशक को पहुंचा दी है।

पास थ्रू प्रमाणपत्र (लघुरूप:पी.टी.सी) वे प्रमाणपत्र होते है, जो गिरवी रखी गई संपत्ति के एवज में निवेशक को जारी किये जाते हैं।[1] पीटीसी प्रमाणपत्र बैंक या अन्य वित्तीय संस्थानों द्वारा निवेशकों को जारी किए जाने वाले बॉन्ड या डिबेंचर के समान होते हैं। मात्र पीटीसी को अंडरलाइंग सिक्योरिटीज के एवज में जारी किया जाता है।[2] सिक्योरिटीज पर मिलने वाला ब्याज निवेशक को निश्चित आय के रूप में होता है। प्रायः पीटीसी में वित्तीय संस्थाएं जैसे-बैंक, म्यूचुअल फंड और बीमा कंपनियां निवेश करती हैं।[3] पास थ्रु सर्टिफ़िकेट का सीधा और सरल अर्थ है, कि जारीकर्ता कंपनी ने मूल-स्वामी से रकम प्राप्त कर निवेशक को पहुंचा दी है। इसके बारे में विस्तृत ब्यौरे हेतु आवश्यक है कि सिक्योराइटेजेशन का भी ज्ञान हो।

सिक्योराइटेजेशन

बैंक और अन्य वित्तीय संस्थाएं ग्राहकों को जो ऋण या सेवाएं उपलब्ध कराती हैं, उन पर उन्हें ब्याज मिलता है या मूलधन वापस मिलता है। सिक्योराइटेजेशन के तहत मिलने वाली रकम या आय को ऋण योजनाओं (डेट इंस्ट्रुमेंट) में परिवर्तित कर निवेशकों को फिर बेचा जाता है। इसके लिए मूल कंपनी या बैंक एक विशिष्ट उद्देश्य वाहन (स्पेशल पर्पस व्हीकल या एस.पी.यू) का प्रावधान करता है, जो ऋण योजनाएं जारी करने का काम करती है।[1] बाजार में इस बनायी हुई ऋण योजना (डेट इंस्ट्रुमेंट) की बिक्री से मूल कंपनी को रकम वापस प्राप्त होती है। वह कंपनी इस रकम या फंड का प्रयोग अपने कारोबार के लिए कर सकती है।[2]

जब कोई निवेशक डेट इंस्ट्रुमेंट खरीदता है तो उसे पीटीसी जारी किया जाता है। इसका अर्थ यह नहीं है कि पीटीसी के अंडरलाइंग एसेट पर निवेशक का पूर्ण-अधिकार होता है। जब मूल कंपनी को दिए गए ऋण की रकम या ऋण पर ब्याज मिलता है तो वह उसे एसपीवी को स्थानांतरित कर देती है। एसपीवी इस रकम को तय आय (फिक्स्ड इनकम) के रूप में निवेशकों को दे देती हैं।

ये प्रमाणपत्र दो प्रकार के होते हैं- पास थ्रू सर्टिफिकेट और पे थ्रू सर्टिफिकेट। पास थ्रू सर्टिफिकेट में कंपनी को ऋण पर मिलने वाला ब्याज या मूलधन सीधे निवेशक को दिया जाता है। पे-थ्रू सर्टिफिकेट में ब्याज या मूलधन की रकम निवेशक को नहीं दी जाती बल्कि इसके बदले निवेशकों को एसपीवी द्वारा नई सिक्योरिटीज जारी की जाती हैं।[2]

संदर्भ

  1. पास थ्रू सर्टिफिकेट (पीटीसी) क्या है?।इकोनॉमिक टाइम्स।१२ अप्रैल, २०१०। लीजा मैरी थॉमसन
  2. पीटीसी।हिन्दुस्तान लाइव।१९ मार्च, २०१०
  3. What is a PTC? ।डे शेअर ट्रेडिंग

बाहरी सूत्र