पानी पूरी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
पानी पूरी चटनी के साथ

पानी पूरी जिसे उत्तर भारत में गोलगप्पे, पूर्वी उत्तर प्रदेश में फुलकी, बंगाल में फुचका, मध्य प्रदेश एवं छत्तीसगढ़ में गुपचुप के नाम से संबोधित किया जाता है एक लोकप्रिय भारतीय नाश्ता हैं। पानी पूरी का सेवन जलजीरे के पानी के साथ किया जाता है। इसके अलावा भरवां गोलगप्पे भी काफी लोगों की पसन्द हैं जिसमें उबला हुआ आलू,बारीक कटा हुआ प्याज़, सौंठ की चटनी और दही के साथ भर के बनाया जाता है।[1]

बनाने की विधि[संपादित करें]

सामग्री[संपादित करें]

  • पूरी के लिए: पूरी के लिए सूजी 1 कटोरी, मैदा 2 कटोरी व तेल तलने के लिए।
  • विधि : सूजी व मैदा को मिलाकर एकदम सख्त (गाढ़ा) आटा गूँथें। एक घंटे गीले रुमाल से ढँककर रखें। तेल गरम करें व छोटे लोए करके पतली रोटी बेलें। छोटी कटोरी से गोले काटकर तलें।
  • पानी के लिए : कैरी या इमली 500 ग्राम, जलजीरा 4 चम्मच, काला नमक 2 चाय के चम्मच, लालमिर्च पावडर 1 चम्मच, शक्कर 4-5 चम्मच।
  • विधि : कैरी या इमली के छोटे-छोटे टुकड़े करके कुकर में 4 कप पानी डालकर 2 से 3 सीटी आने तक उबालें। ठंडा होने पर मिक्सी में पीसें। अब इसे छान लें बाकी की सभी सामग्री मिलाकर 3 कप पानी और मिलाएँ और ठंडा कर लें।
  • भरने के लिए : उबले आलू 4 बारीक कटे हुए, चटनी 3 चम्मच, बूँदी 1/4 कप भीगी हुई, काला नमक 1/2 चम्मच, लाल मिर्च पावडर 1/4 चम्मच, जीरा (पीसा हुआ) 1/4 चम्मच नमक स्वादानुसार। सभी सामग्री मिलाकर रखें।
  • मीठी चटनी के लिए : 2 चम्मच पिसे अमचूर को 1 कप पानी में भिगोकर उबाल लें। अब इसमें 1/2 चम्मच काला नमक, 1 चम्मच जीरा पीसा हुआ, गरम मसाला 1/4 चम्मच, लालमिर्च 1/4 चम्मच, शक्कर 1/2 कप मिलाएँ और ठंडा करें। डुबोकर खाएँ।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. गोल गप्पे बनाने के नुस्ख़े